Follow Us On Goggle News

KVS Admission 2022 : केंद्रीय विद्यालयों में एडमिशन के नियमों में बड़ा बदलाव, इन बच्चों का होगा डायरेक्ट एडमिशन.

इस पोस्ट को शेयर करें :

KVS Admission 2022 : प्रधानमंत्री की पहल पर केंद्र सरकार ने लिया प्रवेश से जुड़ा बड़ा फैसला, हर साल विशेष कोटे से करीब 40 हजार छात्रों का होता था दाखिला, लगभग सभी कोटा खत्म।

 

KVS Admission 2022 : केंद्रीय विद्यालयों में प्रवेश प्रक्रिया को पारदर्शी बनाने के लिए केंद्र सरकार ने इनमें लागू कोटा प्रथा को लगभग समाप्त कर दिया है। इस फैसले के तहत जो कोटे खत्म किए गए हैं, उनमें सांसदों, शिक्षा मंत्रलय के कर्मचारियों, केंद्रीय विद्यालयों के सेवानिवृत्त कर्मचारियों और स्कूल प्रबंधन समिति के अध्यक्ष सहित प्रवेश से जुड़े करीब दर्जन भर कोटे शामिल हैं।

 

इसके साथ ही केंद्रीय विद्यालयों में इस कोटे से हर साल भरी जाने वाली करीब 40 हजार सीटें भी मुक्त हो गई हैं। इनमें अकेले करीब आठ हजार सीटें सांसदों की सिफारिश से भरी जाती थीं। प्रत्येक सांसद को 10 सीटों का कोटा दिया गया था।

विशेष कोटे से भरी जाने वाली ये सीटें स्कूलों में निर्धारित क्षमता के अतिरिक्त होती थीं। ऐसे में इस प्रवेश से केंद्रीय विद्यालयों की गुणवत्ता सहित छात्र-शिक्षक अनुपात और कई अन्य मानक प्रभावित हो रहे थे। इसके बावजूद मामला सांसदों सहित मंत्रलय आदि से जुड़ा होने के चलते कोई भी इसमें हाथ डालने से बच रहा था।

आखिरकार प्रधानमंत्री ने इसमें हस्तक्षेप किया और कोटे की इस प्रथा को खत्म करने के लिए कहा। इसके बाद सबसे पहले शिक्षा मंत्री ने खुद अपना कोटा खत्म किया। साथ ही केंद्रीय विद्यालय संगठन (केवीएस) को प्रवेश से जुड़े विशेष कोटे की नए सिरे से समीक्षा करने के निर्देश दिए। सांसद अब अपने बच्चों और नाती-पोतों को भी प्रवेश नहीं दिला सकेंगे।

यह भी पढ़ें :  Bihar Board Inter Admission 2022: बिहार बोर्ड ने इंटर एडमिशन अच्छी खबर, बोर्ड ने इंटर में बढ़ाई सीटें.

 

कोविड में अनाथ हुए बच्चों का एडमिशन : Kendriya Vidyalaya Admission 2022

 ● कोविड में जो बच्चे अनाथ हो गए हैं. यानी कि जिनके माता-पिता दोनों कोरोना की वजह से मर गए हैं. उन बच्चों का केंद्रीय विद्यालय में एडमिशन जिलाधिकारी की सिफारिश पर हो सकेगा और इन बच्चों से कोई एडमिशन फीस नहीं ली जाएगी. हालांकि एक जिलाधिकारी हर साल किसी केंद्रीय विद्यालय में ऐसे केवल अधिकतम 10 बच्चों के एडमिशन के लिए सिफारिश कर सकेगा. इसके साथ ही एक क्लास में अधिकतम 2 बच्चों की सिफारिश हो सकेगी.

 ● भारतीय थलसेना, वायुसेना, नौसेना और कोस्ट गार्ड के प्रत्येक शिक्षा निदेशक, डिफेंस सेक्टर में बने केंद्रीय विद्यालय में हर साल 6-6 बच्चों के नाम की सिफारिश कर सकेंगे.

 ● अब सांसदों की सिफारिश पर इन स्कूलों में दाखिले नहीं दिए जाएंगे. इन स्कूलों में सांसद कोटा पूरी तरह खत्म कर दिया गया है.

 

कर्मचारियों के बच्चों का भी सीधा दाखिला : Kendriya Vidyalaya Admission 2022

 ● केंद्रीय विद्यालय में काम करने वाले कर्मचारियों के बच्चों का भी इन स्कूलों में बिना एंट्रेंस के एडमिशन हो सकेगा. हालांकि अगर बच्चे का एडमिशन 9वीं में होना है तो एडमिशन टेस्ट देना होगा. जिसमें पास होने के बाद ही उसका दाखिला किया जाएगा. 

 ●  केंद्रीय विद्यालय संगठन के मुताबिक जिन केंद्रीय कर्मचारियों की नौकरी के दौरान ही मौत हो गई थी, उनके बच्चों का भी केन्द्रीय विद्यालय में सीधा एडमिशन हो पाएगा. 

यह भी पढ़ें :  CBSE Term 1 Result 2022 : सीबीएसई ने 10वीं टर्म 1 रिजल्ट के बाद दिए सभी सवालों के जवाब, ऑनलाइन शिकायत भी व्यवस्था.

 

वीरता पुरस्कार धारकों के बच्चों का भी एडमिशन : Kendriya Vidyalaya Admission 2022

 ● ऐसे भारतीय सैनिक जिन्हें परमवीर चक्र, महावीर चक्र, वीर चक्र, अशोक चक्र, कीर्ति चक्र, शौर्य चक्र, सेना मेडल, नौसेना मेडल या वायुसेना मेडल में से कोई एक पुरस्कार मिला हो उनके बच्चों का केंद्रीय विद्यालय में सीधा एडमिशन  होगा. 

 ● जिन पुलिसकर्मियों को राष्ट्रपति पुलिस मेडल या पुलिस मेडल मिला होगा, उनके बच्चों को भी केंद्रीय विद्यालय में सीधा दाखिला दिया जा सकेगा. 

 ● खेल मंत्रालय के स्कूल गेम्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (SGFI) की ओर से आयोजित खेलों में या फिर CBSE या राष्ट्रीय खेल या फिर राज्य लेवल के खेलों में जो बच्चे पहला, दूसरा या फिर तीसरा स्थान पाएंगे, उन्हें केंद्रीय विद्यालय में सीधा एडमिशन मिलेगा. 

 

स्काउट-गाइड के पुरस्कार से मिलेगा प्रवेश : Kendriya Vidyalaya Admission 2022

 ● स्काउट एंड गाइड्स श्रेणी में जिन बच्चों को राष्ट्रपति पुरस्कार मिला होगा, उन्हें भी केंद्रीय विद्यालय में सीधा एडमिशन मिलेगा. 

 ●  जिन बच्चों को राष्ट्रीय साहस पुरस्कार या फिर बालश्री पुरस्कार मिला हुआ होगा, उन्हें भी केंद्रीय विद्यालय में सीधा दाखिला दिया जा सकेगा. 

 ●  जिन बच्चों की आर्ट के क्षेत्र में विशेष प्रतिभा को राष्ट्रीय या राज्य के लेवल पर मान्यता मिली हुई होगी, उन्हें भी इन स्कूलों में बिना एंट्रेंस के दाखिला लेने का मौका मिलेगा. 

 

विदेश मंत्रालय और खुफिया एजेंसियों का भी नाम : Kendriya Vidyalaya Admission 2022

● विदेश मंत्रालय में काम करने वाले व्यक्तियों का केंद्रीय विद्यालय में सालाना एडमिशन कोटा 60 रखा गया है और होस्टल में 15. यह कोटा उन बच्चों पर लागू होगा, जिनके दोनों अभिभावको में से कोई एक अभिभावक भारतीय विदेश मंत्रालय में नौकरी करता हो और उसकी पोस्टिंग विदेश में रही हो. साथ ही वो इसी साल या 1 साल पहले देश वापस लौटा हो.

यह भी पढ़ें :  KVS Recruitment 2022 : केंद्रीय विद्यालय में बिना परीक्षा नौकरी पाने का शानदार मौका, जल्द करें आवेदन, मिलेगी अच्छी सैलरी.

● केद्रीय विद्यालय में खुफिया एजेंसी रॉ (RAW) में काम करने वालों का एडमिशन कोटा 15 रखा गया है. यानी रॉ में काम करने वाले कुल कर्मियों के 15 बच्चों को ही हर साल केंद्रीय विद्यालय में सीधा एडमिशन मिल पाएगा. इनमें दिल्ली स्थित केंद्रीय विद्यालयों में रॉ का कुल कोटा 5 सीट का रहेगा. जबकि बाकी की 10 सीटें दिल्ली के बाहर किसी भी केंद्रीय विद्यालय की हो सकती हैं. 

 

कश्मीरी पंडितों को खास छूट : Kendriya Vidyalaya Admission 2022

● निर्वासित कश्मीरी पंडितो के बच्चों को केंद्रीय विद्यालय संगठन ने अतिरिक्त सुविधा दी है. इन बच्चों के लिए एडमिशन की तारीख 30 दिन बढ़ाई जा सकती है और इन्हें ENTRANCE EXAM में SC/ST वर्ग को मिलने वाली छूट प्राप्त होगी.

● वहीं केंद्रीय पुलिस बल यानी CRPF, BSF, ITBP, SSB, CISF, NDRF और असम राइफल्स में बी या सी ग्रुप में काम करने वाले कर्मियों के बच्चों के लिए सालाना कोटा 50 रखा गया है.


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page