Follow Us On Goggle News

75th Independence Day: तिरंगे को सलामी देते वक्त कांग्रेस नेता की गई जान, जमीन पर गिरते ही मची अफरातफरी.

इस पोस्ट को शेयर करें :

प्रदेश कांग्रेस को-ऑर्डिनेशन कमेटी के चेयरमैन अजय कुमार दुबे ने भी अनवर हुसैन की मौत पर परिजनों से मुलाकात की और उन्हें हर संभव पार्टी स्तर से मदद का आश्वासन दिया. कहा कि यह मौत नहीं बल्कि शहादत है.

कहते हैं मौत कब किसे और कहां आ जाए यह कोई नहीं जानता. ऐसी ही एक घटना झारखंड के धनबाद में देखने को मिला. जिले के चिरकुंडा शहीद चौक पर रविवार को 75वें स्वतंत्रता दिवस समारोह के मौके पर ध्वाजारोहण कर तिरंगे को सलामी दे रहे कांग्रेस नेता अनवर हुसैन की मौत हो गई. सलामी देते वक्त उन्हें हार्ट अटैक आया और वह धड़ाम से जमीन पर गिर पड़े. उनके जमीन पर गिरते ही मौके पर अफरातफरी मच गई. आनन-फानन में उन्हें अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उनकी मौत हो चुकी थी.

अनवर हुसैन कांग्रेस पार्टी के पुराने और समर्पित कार्यकर्ता होने के साथ-साथ चिरकुंडा नगर के मंडल अध्यक्ष भी थे. अनवर हुसैन हर वर्ष चिरकुंडा शहीद चौक पर गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगा फहराते रहे हैं. उन्हें भी नहीं पता था कि 75वां स्वतंत्रता दिवस समारोह उनके जीवन का आखिरी समारोह होगा.

यह भी पढ़ें :  Bihar Politics : कांग्रेस का दावा बिहार में जल्द होंगे मध्यावधि चुनाव, क्या BJP-JDU में सब ठीक नहीं?

मौत के बाद प्रदेश कांग्रेस और जिला संगठन ने जताया दुःख : अनवर हुसैन की मौत कि खबर के बाद धनबाद जिला से लेकर प्रदेश स्तर के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता चिरकुंडा पहुंचे और शोकाकुल परिवार को सांत्वना दिया. कांग्रेस के जिला संगठन सचिव बबलू दास ने बताया कि अनवर हुसैन कांग्रेस पार्टी के पुराने और समर्पित कार्यकर्ता थे. आज ध्वजारोहण के दौरान हुई इनकी मौत नहीं बल्कि शहादत है.

इधर, झारखंड प्रदेश कांग्रेस को-ऑर्डिनेशन कमेटी के चेयरमैन अजय कुमार दुबे ने भी अनवर हुसैन की मौत पर परिजनों से मुलाकात की और उन्हें हर संभव पार्टी स्तर से मदद का आश्वासन दिया. अजय कुमार दुबे ने एबीपी न्यूज को बताया कि अनवर हुसैन चिरकुंडा मंडल अध्यक्ष के साथ साथ एक सामाजिक कार्यकर्ता रहे हैं जिन्हें हर आम या खास कभी भुला नहीं सकता.


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page