Follow Us On Goggle News

Rape in Bihar : बिहार में 10 साल की बच्ची से दुष्कर्म, अपराधियों ने गर्म सरिये से दागकर की हत्या.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Rape in Bihar : घटना कैमूर जिले के अधौरा थाना क्षेत्र के एक गांव की है. एक 10 वर्षीय बालिका बुधवार देर शाम अपनी चार्जेबल लाइट लेने के लिए पास के निर्माणाधीन आवासीय विद्यालीय गई थी.

Rape in Bihar : बिहार के कैमूर जिले के अधौरा इलाके से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. यहां एक 10 वर्षीय बालिका के साथ जघन्यतम तरीके से दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया गया है. पीड़िता मां के मुताबिक बच्ची के कान से गर्म सरिया आर-पार कर दिया गया और पूरे शरीर पर गहरे जख्म दिए गए हैं. दुष्कर्म के बाद ऐसी क्रूरता बच्ची सह नहीं पाई और एक निर्माणाधीन विद्यालय से उसका शव बरामद किया गया है. मामले में पुलिस जांच कर रही है.

निर्माणाधीन आवासीय विद्यालय गई थी बच्ची : जानकारी के मुताबिक, घटना जिले के अधौरा थाना क्षेत्र के एक गांव की है. एक 10 वर्षीय बालिका बुधवार देर शाम अपनी चार्जेबल लाइट लेने के लिए पास के निर्माणाधीन आवासीय विद्यालीय गई थी. दरअसल गांव में लाइट नहीं आती है तो लोग इसी तरह चार्जेबल लाइटों से काम चलाते हैं. यहां पास में ही एक आवासीय विद्यालय बन रहा है, जिसमें बिजली आती है. इसी विद्यालय से आस-पास के लोग जरूरत पड़ने पर अपनी लाइट चार्ज कर लेते हैं.

यह भी पढ़ें :  Bihar Unlock - 5 : बिहार में स्कूल, कोचिंग से लेकर खुलेंगे सिनेमा हॉल और मॉल, जानिए और क्या मिली है छूट.

बच्ची के शरीर पर चोटों के गहरे निशान : परिवार का कहना है कि जब बच्ची बहुत देर तक लौट कर नहीं आई तो वे लोग उसे खोजने लगे. रात भर बच्ची को खोजते रहे, लेकिन कहीं कुछ पता नहीं चला. अगली सुबह विद्यालय बनाने में लगे मजदूरों ने छत पर एक बच्ची का शव मिलने की बात ग्रामीणों को बताई. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बच्ची के गाल सरिया आरपार किया गया था, तो वहीं कान में भी दोनों तरफ से सरिया डालने के निशान हैं. बच्चे के पैरों पर जलने के निशान हैं और गर्दन पर भारी चीज से चोट के निशान भी हैं. परिजन रेप के बाद हत्या की आशंका जता रहे हैं.

मामले में FIR दर्ज : इस मामले में पीड़ित परिवार वालों ने कहा कि उनकी बेटी आवासीय विद्यालय में गई लाइट चार्ज करने गई थी. उसके बाद वापस आई और गांव के पास ही पकौड़ी की दुकान के पास कुछ देर तक थी. इसके बाद ही वह लापता हो गई. पीड़ित परिवार ने आवासीय विद्यालय बनाने में जुटे मजदूरों पर भी आरोप लगाया है. उन्होंने आरोपियों के लिए फांसी की मांग की है. कैमूर एसपी ने बताया 10 वर्षीय बच्ची की डेड बॉडी मिली है. पोस्टमार्टम सदर अस्पताल भभुआ में हुआ है. मामले में FIR दर्ज कर के दो लोगों को जेल भेजा गया है. पुलिस जांच कर रही है.


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page