Follow Us On Goggle News

Attention : ऑनलाइन साइट बनी चोरी के सामान बेचने का अड्डा, जरा सी ऐसी गलती और जेल जाएंगे आप.

इस पोस्ट को शेयर करें :

एडीसीपी वरुणा जोन प्रबल कुमार सिंह ने बताया कि सिर्फ वाराणसी पुलिस ही नहीं बल्कि दूसरे राज्यों की पुलिस भी ऐसे कई गैंग को पकड़ चुकी है, जो OLX पर मोबाइल,वाहन व अन्य सामानों का एड देकर ठगी का शिकार बनाते हैं.

सावधान! अगर आप कुछ भी OLX जैसी ऑनलाइन कॉमर्स साइट के जरिए खरीदते हैं तो थोड़ा संभल जाएं. आप जो भी सामान OLX के जरिए खरीद रहे हैं वह चोरी या लूट की हो सकती है. यह जानकारी शनिवार को एडीसीपी वरुणा जोन प्रबल कुमार सिंह ने मडुवाडीह थाने में आयोजित लूट के खुलासे को लेकर आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान दी.

एडीसीपी वरुणा जोन प्रबल कुमार सिंह के मुताबिक, सिर्फ मडुवाडीह पुलिस ही नहीं बल्कि दूसरे राज्यों की पुलिस भी ऐसे कई गैंग को पकड़ चुकी है, जो OLX पर मोबाइल,वाहन व अन्य सामानों का एड देकर ठगी का शिकार बनाते हैं. उन्होंने आगे कहा कि आम लोगों को भी सावधान रहने की जरूरत है, ऐसे साइट्स पर सामान खरीदने के साथ सतर्क रहने की जरूरत है. मंडुवाडीह पुलिस ने शनिवार को सर्विलांस की मदद से मारूफपुर थाना बलुआ जिला चंदौली निवासी 22 वर्षीय फरार शातिर लुटेरे नादिर अली को शुक्रवार की देर रात भिखारीपुर तिराहे के समीप से लूट के एक एंड्राइड मोबाइल फोन, एक तमंचा व 12 बोर के एक जिंदा कारतूस व घटना में प्रयुक्त पल्सर बाइक के साथ गिरफ्तार किया.

यह भी पढ़ें :  Bihar Police : थानों में रिपोर्ट लिखवाने के लिए अब नहीं काटने होंगे चक्कर, जानिए कैसे कर सकते हैं घर बैठे पुलिस से शिकायत?

मिली जानकारी के मुताबिक, अन्य आरोपी साथी भुल्लनपुर निवासी अविनाश कुमार अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में कामयाब रहा. आरोपी लुटेरे नादिर अली ने पूछताछ करने पर पुलिस को बताया कि उसकी अविनाश व चरण चौधरी की दोस्ती 1 साल पहले हुई थी. कोविड-19 के कारण हम लोग बेरोजगार हो गए थे. महंगे शौक पूरा करने के लिए पैसे की आवश्यकता हमेशा बनी रहती थी इसलिए हम तीनों ने लूट का काम शुरू कर दिया. आरोपी ने आगे बताया कि उसका एक साथी चरण चौधरी मोबाइल लूट में मंडुवाडीह थाने से जेल जा चुका है और अन्य क्षेत्रों में भी मोबाइल लूट की घटनाएं करते थे.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page