Follow Us On Goggle News

BPSC 67th Exam के पेपर लीक मामले में EOU ने की कार्रवाई, हिरासत में मजिस्ट्रेट के तौर पर तैनात बड़हरा बीडीओ जयवर्धन गुप्ता.

इस पोस्ट को शेयर करें :

BPSC 67th Exam के पेपर लीक कांड में EOU की टीम ने कार्रवाई की है. EOU की टीम ने मजिस्ट्रेट के तौर पर तैनात बड़हरा प्रखंड के बीडीओ जयवर्धन गुप्ता को हिरासत में लिया है और पूछताछ के लिए पटना लाई है.

BPSC 67th Exam के पेपर लीक (Paper leak) मामले में EOU की जांच जारी है. EOU की टीम ने मामले की छानबीन करते हुए वीर कुंवर सिंह कॉलेज स्थित परीक्षा केन्द्र पर मजिस्ट्रेट के तौर पर तैनात बड़हरा प्रखंड के बीडीओ जयवर्धन गुप्ता को हिरासत में लिया है. टीम ने मंगलवार सुबह ही इनको पकड़ा है. वहीं आरा से हिरासत में लिए गए BDO को पटना लाया गया है. जहां टीम उनसे कड़ी पूछताछ करेगी. वीर कुंवर सिंह कॉलेज के प्रिंसिपल के साथ चार अधिकारी को पूछताछ के लिए तलब किया गया है.

 

पूरे मामले की जांच के लिए इनकी तरफ से एक टीम का गठन किया गया है जिसका नेतृत्व ADG EOU नैय्यर हसनैन ख़ान करे रहे हैं. इसके साथ ही टीम एक दर्जन लोगों से पूछताछ कर रही है दरअसल BPSC 67 वीं पेपर लीक होने के बाद सरकार की खूब आलोचना हो रही है. जिसके बाद सरकार ने इसपर सख्त एक्शन लेने के आदेश दिए हैं.

यह भी पढ़ें :  Big Crime News : लड़कों को जिस्म के जाल में फंसाकर मॉडल करवाती थी अवैध धंधे.

 

bpsc 3 BPSC 67th Exam के पेपर लीक मामले में EOU ने की कार्रवाई, हिरासत में मजिस्ट्रेट के तौर पर तैनात बड़हरा बीडीओ जयवर्धन गुप्ता.

 

सीएम ने दिए हैं सख्त निर्देश :

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि बीपीएससी प्रश्नपत्र लीक मामले में गड़बड़ करने वालों पर जल्द कार्रवाई होगी. उन्होंने कहा कि पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि जल्द-से-जल्द इसकी जांच कीजिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोई भी कैसे प्रश्नपत्र लीक कर सकता है जब इसे सीधे जिले को जो भेजा जाता है, तो कहां से किस तरह से लीक हुआ है इसकी पूरी जांच की जा रही है.

 

विपक्ष ने बताया भ्रष्टाचार की पराकाष्ठा :

इससे पहले बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सरकार पर हमला बोला है और कहा है कि बिहार के करोड़ों युवाओं और अभ्यर्थियों का जीवन बर्बाद करने वाले बिहार लोक सेवा आयोग का नाम बदलकर अब बिहार लोक पेपर लीक आयोग कर देना चाहिए. तो वहीं तेजस्वी यादव की पार्टी RJD ने कहा कि परीक्षा रद्द करके सरकार खानापूर्ति कर रही है. सरकार को परीक्षा होने के पहले सतर्कता बरतनी चाहिए और पूरी इमानदारी से परीक्षा करानी चाहिए.

यह भी पढ़ें :  Breaking News : भागलपुर में नाथनगर रेलवे स्टेशन के पास ब्लास्ट, एक शख्स गंभीर रूप से घायल

तो वहीं मुकेश सहनी ने कहा है कि एक तो बिहार में बेरोजगारों को रोजगार के लिए अन्य प्रदेशों में पलायन करना पड़ रहा है. दूसरी ओर ऐसी महत्वपूर्ण परीक्षा का पेपर लीक हो जाना भ्रष्टाचार की पराकाष्ठा है


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page