Follow Us On Goggle News

Corona Big Alert: तेजी से पैर पसार रहा है कोरोना का नया वेरियंट, जल्‍द ले सकता है बड़ा फैसला.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Corona Big Alert: दिल्ली में कोरोना (Covid-19) के लगातार बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) ने 20 अप्रैल को एक अहम बैठक बुलाई है. दिल्ली के एलजी अनिल बैजल (LG Anil Baijal) की अध्यक्षता में होने वाली इस अहम बैठक में सीएम अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal), स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Health Minister Satyendar Jain) के अलावा दिल्ली सरकार के कई आला अधिकारी मौजूद रहेंगे.

बता दें कि दिल्ली में कोरोना के लगातार बढ़ते मामले ने चिंता बढ़ा दी है. डीडीएमए की इस बैठक में कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के उपायों पर विचार किया जाएगा. डीडीएमए सूत्रों की मानें तो अगर इसी तरह कोरोना के मामले बढ़ते रहे तो दिल्ली में एक बार फिर से कई तरह के प्रतिबंध लगाने की पूरी संभावना है.

 

गौरतलब है कि कोरोना वायरस का ओमीक्रोन वैरियंट BA2 चीन में कहर बरपा रहा है. भारत में भी इसी वैरियंट से मिलता-जुलता XE के कुछ केस गुजरात और महाराष्ट्र में मिले हैं. इसके बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिल्ली सहित देश के कई राज्य सरकारों को एडवायजरी जारी करते हुए पूरी सतर्कता बरतने के साथ टेस्टिंग बढ़ाने को कहा है.

यह भी पढ़ें :  Corona is Back : क्या फिर लौट रहा है कोरोना? चीन के तीन शहरों में लगा लॉकडाउन, 3 करोड़ लोग हुए घरों में बंद.

 

दिल्ली में कोरोना की रफ्तार पर अहम बैठक: Corona Big Alert

राजधानी दिल्ली से सटे गाजियाबाद, गुरुग्राम और नोएडा में पिछले एक सप्ताह से बड़ी तेजी से कोरोना वायरस के मरीज सामने आ रहे हैं. हालात यह है कि दिल्ली-एनसीआर के कई स्कूलों को कोरोना को लेकर विशेष नियम बनाने पड़े हैं. दिल्ली में पिछले कुछ दिनों में संक्रमण दर में अचानक से उछाल आ गया है.

 

क्यों हालात पर है नजर? Corona Big Alert

बता दें कि पिछले साल इस दौरान कोरोना का नया वैरियंट डेल्टा ने काफी कहर बरपाया था. दिल्ली-एनसीआर सहित देश के कई हिस्सों में हालात इस हद तक खराब हो गए थे कि लोगों को ऑक्सीजन और वेंटिलेटर के लिए इधर-उधर भटकना पड़ रहा था. केंद्र सरकार ने ऑक्सीजन ट्रेन चला कर किसी हद तक स्थिति पर काबू पाया.

 

हर दिन कोरोना के केस क्यों बढ़ रहे हैं? Corona Big Alert

दिल्ली में रविवार को कोरोना के 517 मामले सामने आए थे. वहीं शनिवार को 461 मामले सामने आए. इससे अंदाजा लगा सकते हैं कि कोरोना कैसे धीरे-धीरे रफ्तार पकड़ रही है. दिल्ली में कोरोना का संक्रमण दर 4.21 % पहुंच गई है, जो शनिवार के मुकाबले कुछ कम है. शनिवार को संक्रमण दर 5.33 % देखी गई.

यह भी पढ़ें :  Corona Vaccine Big Alert : 9 महीने पहले दूसरी डोज लगवा चुके लोगों को लगेगी बूस्‍टर डोज - रिपोर्ट

 

ग्रेप लागू करने को लेकर डीडीएमए कर सकती है विचार: Corona Big Alert

दिल्ली सरकार लगातार कह रही है कि कोरोना के बढ़ते मामलों पर नजर है. खुद सीएम केजरीवाल ने भी पिछले सप्ताह मीडिया के सामने आकर स्थिति पर नजर रखने की बात की थी. ऐसे में डीडीएमए की 20 अप्रैल को होने वाली बैठक पर सभी की नजरें हैं. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पहले ही दिल्ली के स्कूलों में कोविड-19 के मामलों में तेजी आने पर दिशानिर्देश जारी कर चुके हैं. इसमें कोरोना के मामले सामने आने की स्थिति में क्लास रूम बंद कर और छुट्टी करने के साथ स्कूल तक बंद करने की बात कही गई है.

क्या होता है ग्रेप लागू होने पर?

इसके साथ ही डीडीएमए कोरोना संक्रमण दर ग्रेडेड रिस्पान्स एक्शन प्लान (ग्रेप) के लिए निर्धारित मानक के करीब पहुंचने पर कई तरह के प्रतिबंध लगा सकती है. हालात अगर इसी तरह बिगड़ती रही तो दिल्ली में अगले कुछ दिनों में ग्रेप सिस्टम लागू करने पर भी दिल्ली सरकार विचार कर सकती है. ग्रेप के लिए चार रंग के स्तर निर्धारित किए गए हैं. इसके पहले स्तर या लेवल-1 के लिए (येलो), लेवल-2 के लिए (अंबर), लेवल-3 के लिए (आरेंज) और लेवल-4 के लिए (रेड) होता है.

यह भी पढ़ें :  Breaking News : बिहार में कोविड प्रतिबंधों को हटाने का ऐलान, 14 फरवरी से खुल सकेंगे सभी सिनेमा हॉल, मॉल और जिम .

गौरतलब है कि अलर्ट के सभी चारों लेवल में आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई के लिए दुकानें और प्रतिष्ठान खुले रखने का प्रावधान है. साथ ही यातायात और सहित कई आवश्यक सेवाएं पूर्व की तरह ही चालू रहती हैं, लेकिन इसमें चौथे स्तर के लागू होने पर दिल्ली में पूर्ण रूप से लाकडाउन लग सकता है. कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए भी डीडीएमए ने जुलाई 2021 में ग्रेप को लागू करने की मंजूरी दी थी.

 

Input: News18.com


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page