Follow Us On Goggle News

Ranveer Singh Photoshoot: न्यूड होकर बुरे फंसे रणवीर सिंह! जेल में काटने पड़ सकते हैं इतने साल, जानिए किन धाराओं में दर्ज हुआ FIR

इस पोस्ट को शेयर करें :

Ranveer Singh Photoshoot: बॉलीवुड एक्टर रणवीर सिंह ने हाल ही में सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें पोस्ट की थीं. इसके बाद एफआईआर दर्ज की गई है और चार धाराओं में मामला दर्ज किया गया है.

 

Ranveer Singh Photoshoot: बॉलीवुड एक्टर रणवीर सिंह ने हाल ही में सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें पोस्ट की थीं. ये तस्वीरें काफी चर्चा में रहीं. रणवीर सिंह की इन ‘न्यूड’ तस्वीरों को काफी लोगों ने काफी पसंद भी किया, लेकिन कई लोगों ने एक्टर की इन तस्वीरों को गलत माना. यहां तक कि अब एक्टर के खिलाफ ठाणे के चेम्बूर थाने में एफआईआर भी दर्ज हो गई है. एक्टर के खिलाफ चार धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है, जिनमें एक आईटी एक्ट की धारा भी शामिल है. अगर इन धाराओं में रणवीर सिंह दोषी पाए जाते हैं तो कानून के अनुसार सजा का प्रावधान भी है.

यह भी पढ़ें :  सनम बेवफा : प्यार में अंधी पत्नी शादी के 14 साल बाद 39 लाख कैश लेकर बॉयफ्रेंड के साथ भागी.

 

ऐसे में जानते हैं कि आखिर वो कौन-कौन सी धाराएं जिनके तहत रणवीर सिंह पर मामला दर्ज किया गया है. साथ ही जानते हैं कि अगर इन धाराओं में रणवीर सिंह दोषी पाए जाते हैं तो उन्हें कितनी सजा हो सकती है. साथ ही जानते हैं कि इन धाराओं में कितने जुर्माने का प्रावधान है और धाराएं किस अपराध से संबंधित है…

 

किन धाराओं पर दर्ज हुआ है केस?

बता दें कि रणवीर सिंह के खिलाफ आईपीसी की धारा 292, 293, 509 और आईटी सेक्शन 67(A) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

 

किस धारा में कितनी सजा?

आईपीसी की धारा 292- ये सेक्शन अश्लीलता, एडल्ट कंटेंट आदि से जुड़ा है. अगर इस सेक्शन में पहली बार दोषी पाए जाते हैं तो 2 साल की सजा और 2 हजार तक का जुर्माना हो सकता है. वहीं, अगर दूसरी बार इस सेक्शन में दोषी पाए जाते हैं तो 5 साल की सजा और 5 हजार का जुर्माना हो सकता है.

यह भी पढ़ें :  बिहार में बीच रोड पर भिड़े महिला और पुरुष सिपाही, एक दूसरे को लात-घूसों से पीटा.

आईपीसी की धारा 293- ये सेक्शन भी 292 से जुड़ा है, लेकिन ये धारा माइनर से जुड़ी है. हालांकि, इस धारा में सजा अलग है. इसमें पहली बार दोषी पाए जाने पर 3 साल की सजा और 2 हजार तक का जुर्माना हो सकता है. वहीं, अगर दोबारा दोषी पाया जाता है तो 7 साल की सजा और 5 हजार का जुर्माना हो सकता है.

आईपीसी की धारा 509- यह धारा महिला की गरिमा का अपमान करने से जुड़ा है. ऐसे में महिला की गरीमा के अपमान को लेकर कोई भी कृत्य किया जाता है तो दोषी पाए जाने पर 3 साल की सजा और जुर्माना हो सकता है.

आईटी सेक्शन 67 (A)- ये अश्लीलता वाले कंटेट को इलेक्ट्रॉनिक फोर्म में पब्लिश या ट्रांसमिट करने से संबंधित है. इस धारा में पहली बार दोषी पाए जाने पर 5 साल की सजा और 10 लाख का जुर्माना हो सकता है. वहीं, दूसरी बार दोषी पाए जाने पर सात साल की सजा और 10 लाख का जुर्माना हो सकता है. बता दें कि इस धारा की भावना को लेकर अलग से एक्ट भी बना दिया गया है.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page