Follow Us On Goggle News

NEET UG Counseling 2021 : नीट यूजी एडमिशन के लिए माइग्रेशन सर्टिफिकेट जरूरी नहीं, MCC ने दी जानकारी.

इस पोस्ट को शेयर करें :

NEET UG Counseling 2021: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की मेडिकल काउंसलिंग कमेटी (MCC) की ओर से जारी नोटिस के अनुसार मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में यूजी पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए माइग्रेशन सर्टिफिकेट जरूरी नहीं है.

NEET UG Counseling 2021: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की मेडिकल काउंसलिंग कमेटी (MCC) की ओर से वर्तमान में चल रहे नीट यूजी काउंसलिंग 2021 को लेकर महत्वपूर्ण स्पष्टीकरण जारी किया गया है. नीट यूजी काउंसलिंग 2021-2022 (NEET Counseling) में सम्मिलित हो रहे देश भर के उम्मीदवारों के लिए बड़ी खबर है.

 

मेडिकल काउंसलिंग कमेटी द्वारा हाल ही में 5 मार्च 2022 को जारी नोटिस के अनुसार मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में यूजी पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए माइग्रेशन सर्टिफिकेट (NEET Admission migration certificate) जरूरी नहीं है. एमसीसी की ओर से जारी नोटिस के मुताबिक मेडिकल अंडर ग्रेजुएशन कोर्स में दाखिले के लिए अब उम्मीदवारों का माइग्रेशन सर्टिफिकेट जमा करना अनिवार्य नहीं होगा.

यह भी पढ़ें :  Ministry of Defence Recruitment 2022: डिफेंस मिनिस्ट्री में 10वीं, 12वीं पास के लिए वैकेंसी जल्दी करें आवेदन.

मेडिकल काउंसलिंग कमेटी (Medical Counselling Certificate, MCC) की ओर से जारी नोटिस से उम्मीदवारों को काफी राहत पहुंचने वाली है. देश से कई उम्मीदवार माइग्रेशन सर्टिफिकेट की कॉलेजों में की मांग के कारण उन्हें दाखिले में कठिनाई आ रही है, जिसमें छूट की मांग वे विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से कर रहे थे.

MCC का स्पष्टीकरण :

एमसीसी नीट यूजी काउंसलिंग 2021 नोटिस स्पष्ट करता है कि माइग्रेशन सर्टिफिकेट अब रिपोर्टिंग के लिए एक ‘अनिवार्य’ दस्तावेज नहीं है. यह केवल एक वांछनीय दस्तावेज है और यदि कोई किन्हीं कारणों से इसे प्रस्तुत नहीं कर सकता है, तो उन्हें संस्थान द्वारा प्रवेश से वंचित नहीं किया जाएगा.

प्रोविजनल एडमिशन प्रक्रिया :

मेडिकल काउंसलिंग कमेटी ने उम्मीदवारों को माइग्रेशन सर्टिफिकेट को लेकर निर्धारित नियमों में अस्थायी राहत दी है. एमसीसी ने अपने नोटिस के माध्यम से देश भर के कॉलेजों से कहा है कि वे उम्मीदवारों के बिना माइग्रेशन सर्टिफिकेट के दाखिले से वंचित न करें और उन्हें प्रोविजिनल ऐडमिशन देते हुए उन्हें माइग्रेशन सर्टिफिकेट जमा करने का अधिकतम 7 दिनों का समय दें. ऐसे में उम्मीदवारों को ध्यान देना चाहिए कि बिना माइग्रेशन सर्टिफिकेट के भी वे नीट यूजी काउंसलिंग 2021 के अंतर्गत आवंटित कॉलेज में रिपोर्ट कर सकते हैं और प्रोविजिनल ऐडमिशन ले सकते हैं.

यह भी पढ़ें :  Sarkari Naukri 2021: 8वीं 10वीं पास से लेकर पोस्ट ग्रेजुएट उम्मीदवारों के लिए सरकारी नौकरी का मौका.

मॉप-अप राउंड :

एमसीसी एनईईटी यूजी काउंसलिंग 2021 शेड्यूल के अनुसार, मॉप-अप राउंड के लिए रजिस्ट्रेशन 10 मार्च, 2022 से शुरू होंगे. इस राउंड के लिए सीट आवंटन परिणाम 19 मार्च, 2022 को घोषित किया जाएगा और जो सीट पाने में सक्षम नहीं होंगे. इसमें ऑनलाइन स्ट्रे वेकेंसी राउंड में एक और मौका मिलेगा. उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वे अधिक अपडेट के लिए यहां और आधिकारिक वेबसाइट पर नजर बनाए रखें.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page