Follow Us On Goggle News

National Exit Test: मेडिकल के छात्रों को नीट के बाद अब देना होगा एक और परीक्षा.

इस पोस्ट को शेयर करें :

National Exit Test: देश में मेडिकल परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं लाखों छात्राओं के लिए बड़ी खबर है. सरकार ने मेडिकल कॉलेज में एडमिशन को लेकर होने वाली नीट परीक्षा के बाद अब मेडिकल कॉलेज के अंतिम वर्ष में अब नेशनल एग्जिट टेस्ट का आयोजन करेगी. यानी कि अब छात्रों को एडमिशन लेने के के लिए एवं कोर्स पूरा होने के बाद भी कॉम्पिटिटिव एग्जाम देना होगा.

 

National Exit Test: मेडिकल कॉलेज में एडमिशन की तैयारी कर रहे हैं अथवा मेडिकल कॉलेज में पढ़ रहे छात्रों को आप एमबीबीएस की अंतिम वर्ष में नेशनल एग्जिट टेस्ट देना होगा. यह एमबीबीएस के अंतिम वर्ष में होने वाली केवल सामान्य योग्यता परीक्षा नहीं बल्कि एक लाइसेंस दिए जाने के समान है. इसे देने वालों के लिए देश में मेडिकल प्रैक्टिस शुरू करने से पहले से पास करना अनिवार्य होगा. स्नातकोत्तर (पीजी) सीटों के योग्यता-आधारित आवंटन और देश में मेडिकल प्रैक्टिस करने की इच्छा रखने वाले फॉरेन मेडिकल ग्रेजुएट्स (Foreign Medical Graduates) के लिए एक ब्रिजिंग परीक्षा का मानदंड भी होगा.

यह भी पढ़ें :  Bihar Police SI Prelims 2021: क्या वाकई में लीक हुई दरोगा परीक्षा के प्रश्न ?

 

नीट पीजी परीक्षा हो जाएगी खत्म: National Exit Test

एग्जिट परीक्षा 2023 में स्नातक होने वाले छात्रों के बैच से शुरू होने की संभावना है. परीक्षा कैसे होगी इस नियमों पर फिलहाल काम किया जा रहा है. यदि एनईएक्सटी को शिक्षा प्रणाली में पेश किया जाता है, तो यह नीट पीजी (NEET-PG) आयोजित करने की आवश्यकता को समाप्त कर देगा. यह कई उद्देश्यों के लिए एक सामान्य परीक्षा होगी, जिसे पूरे बोर्ड में लागू किया जाना है. मेडिकल साइंस में नेशनल एग्जाम बोर्ड द्वारा परीक्षा आयोजित करने की संभावना है, लेकिन प्रक्रिया को किसी तीसरे पक्ष को आउटसोर्स करने की भी संभावना हो सकती है.

 

एग्जिट एग्जाम से पहले मॉक टेस्ट का होगा आयोजन: National Exit Test

मेडिकल छात्रों को इस परीक्षा को लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि एग्जिट एग्जाम से पहले एक मॉक टेस्ट की भी योजना है. मॉक टेस्ट में एग्जाम से संबंधित सभी सवालों का जवाब दिया जाएगा. एनईएक्सटी राष्ट्रीय महत्व के संस्थानों जैसे अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान पर भी लागू होगा, ताकि देश में चिकित्सा शिक्षा क्षेत्र का एक सामान्य मानक हो.

यह भी पढ़ें :  Indian Railway Job 2021 : RRC अप्रेंटिस के 3366 पदों पर कल से शुरू होगी आवेदन प्रक्रिया, जानें कैसे करें अप्लाई.

 

2019 में ही एग्जिट परीक्षा का प्रस्ताव संसद में रखा गया था: National Exit Test

सभी मेडिकल ग्रेजुएट्स के लिए एक सामान्य एग्जिट परीक्षा का प्रस्ताव संसद में राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (NMC) द्वारा लाया गया था. नेशनल मेडिकल कमिशन एक्ट, 2019 के माध्यम से अस्तित्व में आया था, और जो कार्यान्वयन प्रक्रिया का नेतृत्व कर रहा है.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page