Follow Us On Goggle News

Multibagger Stock : गौतम अडानी की इस कंपनी ने दिया बंपर रिटर्न, सिर्फ 3 साल में एक लाख बन गए 70 लाख.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Multibagger Stock : अडानी ग्रीन की इस रिमार्केबल जर्नी के हिसाब से देखें तो अगर किसी इन्वेस्टर ने 3 साल पहले इसके शेयरों में 1 लाख रुपये लगाया होगा, तो आज उसके पोर्टफोलियो की वैल्यू बढ़कर 70.69 लाख रुपये पर पहुंच गई होगी. आज तो इस स्टॉक ने बीएसई पर 2,128.90 रुपये का ऑल टाइम हाई भी छू लिया.

 

Multibagger Stock  : घरेलू शेयर बाजार ने भले ही पिछले कुछ दिनों में तेजी खो दी हो, लेकिन क्वालिटी स्टॉक अब भी बढ़िया परफॉर्म कर रहे हैं. ऐसे स्टॉक में पैसे लगाने वाले इन्वेस्टर बंपर रिटर्न पा रहे हैं और मालामाल हो रहे हैं. अडानी समूह (Adani Group) की कंपनी अडानी ग्रीन (Adani Green) भी इनमें से एक है. बीते 3 साल में इस स्टॉक ने करीब 7000 फीसदी का भारी-भरकम रिटर्न दिया है.

चंद रोज पहले 3 लाख करोड़ के पार निकला एमकैप :

शुक्रवार को यह स्टॉक बीएसई पर 2,128.90 रुपये पर बंद हुआ. ठीक 3 साल पहले यानी 18 फरवरी 2019 को इसकी वैल्यू महज 30.10 रुपये थी. इसका मतलब हुआ कि इस स्टॉक ने बीते 3 साल में 6,969 फीसदी रिटर्न दिया है. 3 साल पहले जिस स्टॉक की वैल्यू मामूली थी, आज वह 2,100 रुपये को पार कर चुका है. चंद रोज पहले अडानी ग्रीन का मार्केट कैप 3 लाख करोड़ रुपये के पार निकला है. इसके साथ ही अडानी ग्रीन अब आईटीसी (ITC) और टाइटन (Titan) से भी बड़ी कंपनी बन गई है.

यह भी पढ़ें :  Free Business Ideas : नौकरी की छोड़िए ! शुरू कीजिए यह सुपरहिट बिजनेस, 6 महीने में 10 लाख रुपये की होगी कमाई.

 

1 लाख का इन्वेस्टमेंट बन गया इतने लाख :

अडानी ग्रीन की इस रिमार्केबल जर्नी के हिसाब से देखें तो अगर किसी इन्वेस्टर ने 3 साल पहले इसके शेयरों में 1 लाख रुपये लगाया होगा, तो आज उसके पोर्टफोलियो की वैल्यू बढ़कर 70.69 लाख रुपये पर पहुंच गई होगी. आज तो इस स्टॉक ने बीएसई पर 2,128.90 रुपये का ऑल टाइम हाई भी छू लिया, जबकि सेंसेक्स और निफ्टी जैसे मेजर इंडेक्स लगातार तीसरे दिन गिरावट में रहे हैं. इसके उलट अडानी ग्रीन का स्टॉक पिछले 4 दिन में 11 फीसदी चढ़ा है.

ऐसा रहा है अडानी ग्रीन का सफर :

अडानी ग्रीन का शेयर (Adani Green Share) बाजार का सफर रोचक रहा है. करीब चार साल पहले इस सफर की शुरुआत 30 रुपये से भी नीचे से हुई थी. 22 जून 2018 को अडानी ग्रीन का शेयर महज 29.45 रुपये पर था. इसे 100 रुपये तक पहुंचने में करीब डेढ़ साल लगे. कोरोना काल में इसे पंख लग गए और इसने देखते-देखते 500 रुपये, 1000 रुपये और 1,500 रुपये का स्तर हासिल किया. इस तरह अडानी ग्रीन का शेयर अभी तक करीब 7000 फीसदी चढ़ चुका है.

यह भी पढ़ें :  Sovereign Gold Bond : सस्ता सोना खरीदने का शानदार मौका ! सोमवार से शुरू हो रही है सरकार की गोल्ड बांड योजना, जानिए क्या है प्रक्रिया.

 

अभी और चढ़ने की गुंजाइश बाकी :

अभी इस कंपनी का आकार बजाज फिनसर्व (Bajaj Finserv), एवेन्यू सुपरमार्ट (Avenue Supermart), लार्सन एंड टुब्रो (L&T), आईटीसी (ITC), मारुति सुजुकी (Maruti Suzuki) और टाइटन (Titan) से भी ज्यादा हो चुका है. इसे हाल ही में एक ब्रोकरेज फर्म से अच्छी रेटिंग मिली है. वेंचुरा सिक्योरिटीज ने अडानी ग्रीन को BUY रेटिंग में रखा. इसके साथ ही फर्म ने अगले दो साल के लिए अडानी ग्रीन का टारगेट प्राइस 2,810 रुपये तय किया.

रिन्यूएबल एनर्जी सेगमेंट की सबसे बड़ी कंपनी :

अडानी समूह की यह कंपनी अभी देश की सबसे बड़ी रिन्यूएबल एनर्जी (Renewable Energy) कंपनी है. अभी अडानी ग्रीन के पास 13,990 मेगावॉट की क्षमता है. दिसंबर तिमाही में कंपनी की बिक्री 97 फीसदी बढ़कर 2.50 अरब यूनिट पर पहुंच गई. साल भर पहले यह बिक्री 1.27 अरब यूनिट रही थी. दिसंबर तिमाही में कंपनी की क्षमता 84 फीसदी बढ़कर 5410 मेगावॉट हो गई.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page