Follow Us On Goggle News

बैंगलोर विश्वविद्यालय में शुरू हुए 4 साल के BA BSc कोर्स, कभी भी पढ़ाई छोड़कर पा सकते हैं ‘डिग्री’ | Four year UG Courses in India

इस पोस्ट को शेयर करें :

Four year UG Courses in India : बैंगलोर यूनिवर्सिटी  (Bangalore University) एनईपी के तहत चार साल के यूजी कोर्सेस लॉन्च कर रही है. इसमें हर साल के अंत में कोर्स छोड़ने का विकल्प मिलेगा.

Four year UG Courses in India : बैंगलोर यूनिवर्सिटी (Bangalore University) चार साल के बैचलर डिग्री कोर्सेज़ की शुरुआत कर रही है. ये कोर्स राष्ट्रीय शिक्षा नीति (National Education Policy) के तहत शुरू किये जा रहे हैं. एनईपी 2020 गाइडलाइंस (NEP 2020 guidelines) के अनुसार आपको इन कोर्सेज़ में हर साल के अंत में एग्जिट लेने का भी विकल्प मिलेगा. इसके अलावा पढ़ाई जारी रखने, यानी दोबारा एंट्री लेने का भी विकल्प रहेगा. क्लास 12 के बाद अगर आप कॉलेज एडमिशन लेने जा रहे हैं, तो इन कोर्सेज़ के बारे में जरूर जान लें.

बैंगलोर यूनिवर्सिटी ये कोर्सेज़ बैचलर औफ आर्ट्स (BA) और बैचलर ऑफ साइंस (BSc) के लिए शुरू कर रही है. इसी शैक्षणिक सत्र यानी 2021-22 से इनमें एडमिशन ( BA-BSc admission 2021 ) लिये जाएंगे. ये ऑनर्स डिग्री कोर्स हैं.

यह भी पढ़ें :  JEE Main 2021 Result में हुई देरी, अब जेईई एडवांस्ड के लिए 13 सितंबर से शुरू होंगे रजिस्ट्रेशन.

बैंगलोर यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रोफेसर वेणुगोपाल ने बताया कि ये सभी कोर्स स्किल आधारित हैं. इन सभी कोर्सेज़ को ( Four year UG Courses in India ) च्वाइस बेस्ड, क्रॉस डिसिप्लिनरी, ट्रांस डिसिप्लिनरी और मल्टी डिसिप्लिनरी बनाया गया है. यानी आप किसी भी कोर्स में एडमिशन लें, आपके पास आगे दूसरे विषय चुनने का विकल्प रहेगा.

प्रोफेसर वेणुगोपाल (Prof Venugopal Bangalore University) ने बताया कि इन सभी चार साल के यूजी कोर्सेज़ में स्टूडेंट्स को मल्टीपल एग्जिट और एंट्री की सुविधा मिलेगी. स्टूडेंट को हर साल के अंत में कोर्स छोड़ने का विकल्प मिलेगा.

ऐसे समझें मल्टीपल एंट्री और एग्जिट :

अगर कोई स्टूडेंट एक साल की पढ़ाई करके कोर्स छोड़ता है, तो उसे सर्टिफिकेट दिया जाएगा. दो साल के बाद कोर्स छोड़ने पर डिप्लोमा दिया जाएगा. तीन साल पूरे करने पर डिग्री मिलेगी. जबकि चार साल का कोर्स पूरा कर लेने पर बीए या बीएससी ऑनर्स (Four year UG Courses in India ) दिया जाएगा.

यह भी पढ़ें :  FCI Recruitment 2021 : बिहार-झारखंड के छात्रों के लिए FCI में नौकरी करने का मौका, निकली बंपर वैकेंसी, जानें पूरी डिटेल | Job in Food Corporation of India.

कोर्स छोड़ने के बाद स्टूडेंट बाद में फिर से उस कोर्स को ज्वाइन कर सकते हैं और अपनी पढ़ाई जारी रख सकते हैं. आप जितने साल का कोर्स पूरा कर लेंगे, उस अनुसार आपको डिप्लोमा, डिग्री या ऑनर्स मिलेगा.

 

आर्ट्स में साइंस और साइंस में आर्ट्स का ऑप्शन :

वीसी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार बीए ऑनर्स कोर्स में ( Four year UG Courses in India ) मेजर सब्जेक्ट्स हिस्ट्री, इकोनॉमिक्स, पॉलिटिकल साइंस, सोशियोलॉजी, मास कम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म के अलावा माइनर सब्जेक्ट्स साइकोलॉजी, परफॉर्मिंग आर्ट्स, विजुअल आर्ट्स, वीमेन स्टडीज होंगे. जबकि इलेक्टिव में साइंस, इंजीनियरिंग, कॉमर्स और मैनेजमेंट का ऑप्शन होगा.

वहीं बीएससी ऑनर्स में स्टूडेंट्स के पास मेजर सब्जेक्ट्स फीजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स, स्टैटिस्टिक्स और कंप्यूटर साइंस के अलावा इलेक्टिव में आर्ट्स, कॉमर्स, मैनेजमेंट डिसिप्लीन्स के (Four year UG Courses in India ) कॉम्बिनेशन का ऑप्शन रहेगा.

दोनों बीए और बीएससी कोर्सेज़ में 30-30 सीटें हैं. साइंस में एडमिशन के लिए जरूरी है कि स्टूडेंट ने 12वीं में मैथ्स की पढ़ाई की.

यह भी पढ़ें :  UGC Scholarship 2021: कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए यूजीसी की 4 स्कॉलरशिप स्कीम, मिलेगा 36,200 रुपए तक का स्टाइपेंड.

 

PG और PhD का भी प्रावधान :

बैंगलोर यूनिवर्सिटी वीसी प्रो वेणुगोपाल (Bangalore University VC) ने बताया कि स्टूडेंट्स के लिए पोस्ट ग्रेजुएशन (पीजी) और पीएचडी जारी रखने का भी प्रावधान रखा गया है. अगर कोई स्टूडेंट चाहे तो तीन साल बैचलर डिग्री की पढ़ाई पूरी करने के बाद ( Four year UG Courses in India ) अगले एक साल स्पेशलाइजेशन या रिसर्च भी चुन सकता है.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page