Follow Us On Goggle News

Direct Recruitment of Professors: डिग्री नहीं अब अनुभव के आधार पर भी होगी विश्वविद्यालयों में प्रोफेसरों की सीधी भर्ती.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Direct Recruitment of Professors: यदि आप किसी भी क्षेत्र में लंबा अनुभव रखते हैं तो आने वाले दिनों में विश्वविद्यालयों सहित दूसरे उच्च शिक्षण संस्थानों में आपको प्रोफेसर बनने का मौका मिल सकता है। पढ़ाई के साथ-साथ छात्रों को किसी न किसी हुनर (स्किल) से जोड़ने की मुहिम में जुटा शिक्षा मंत्रलय जल्द ही इसे लेकर एक नई स्कीम शुरू करने में जुटा है।

 

इसमें उद्योगों और रोजगारपरक क्षेत्रों से जुड़े ऐसे विशेषज्ञों को मौका दिया जाएगा जो लंबे अनुभव के साथ ही पढ़ाने में भी रुचि रखते हैं। उन्हें सीधे प्रोफेसर के पद पर नियुक्ति दी जाएगी। उच्च शिक्षण संस्थानों के लिए सृजित किए जा रहे इस पद को ‘प्रोफेसर आफ प्रैक्टिस’ नाम दिया गया है।

 

पहले से स्वीकृत पदों के अतिरिक्त होंगे ये पद : Direct Recruitment of Professors

प्रत्येक उच्च शिक्षण संस्थान में ‘प्रोफेसर आफ प्रैक्टिस’ के पद पर कितने विशेषज्ञों की नियुक्ति होगी, फिलहाल यह साफ नहीं है, लेकिन ऐसे क्षेत्रों को तलाशा जा रहा है, जिसमें ऐसे विशेषज्ञों को नियुक्ति दी जा सकती है। उच्च शिक्षण संस्थानों में सृजित होने वाले ये पद पहले से स्वीकृत पदों के अतिरिक्त होंगे। साथ ही इनमें किसी तरह का कोई आरक्षण भी नहीं होगा।

यह भी पढ़ें :  सरकारी नौकरी पाने का सुनहरा मौका ! ढाई लाख से ज्यादा लोगों को मिलेगा रोजगार, यहां जानें सारी डिटेल | JPSC Recruitment 2021

इसके लिए सिर्फ अनुभव ही एकमात्र मानक होगा। शिक्षा मंत्रलय से जुड़े अधिकारियों की मानें तो इनमें उन क्षेत्रों पर ज्यादा फोकस किया जा रहा है, जिनमें किसी डिग्री या डिप्लोमा से ज्यादा अनुभव महत्व रखता है।


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page