Follow Us On Goggle News

Bihar Government: नीतीश – तेजस्वी का बड़ा तौफा, बिहार में होगी बम्पर बहाली.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Bihar Government: संयुक्त राष्ट्र की ओर से घोषित सतत विकास लक्ष्य को हासिल करने के लिए राज्य सरकार अगले वित्तीय वर्ष में विशेष प्रयास करेगी। वित्तीय वर्ष 2023-24 के बजट की तैयारी के लिए जारी गाइडलाइन में इसे सर्वोच्च प्राथमिकता दी गई है। इसके अलावा सभी विभागों को रिक्तियों का ब्यौरा भी बजट प्रस्ताव में देना है। विभाग के अपर मुख्य सचिव डा. एस सिद्धार्थ के हवाले से जारी गाइड लाइन में कहा गया है- सतत विकास के लक्ष्य को हासिल करने के लिए योजनाएं बनें। उनके लिए धन का प्रबंध हो। कुल 34 मुद्दों पर जारी गाइड लाइन की प्रति सोमवार को सभी विभागों को दी गई है।

Bihar Government नई परियोजना को शाम‍िल करने में सतर्कता :

विभागों को सलाह दी गई है कि वार्षिक योजना के लिए बजट बनाते समय यह देख लें कि किसी योजना के लिए जरूरी धन का उपबंध किया गया है या नहीं। केंद्रीय योजनाओं के निर्धारण के समय यह देख लें कि उस मद में पिछले तीन वित्तीय वर्षों में कितनी राशि आवंटित होती रही है। सक्षम प्राधिकार की पूर्व स्वीकृति के बिना किसी नई परियोजना को शामिल न करने का भी निर्देश दिया गया है। अपर मुख्य सचिव के पत्र में कहा गया है कि कार्य विभागों के बजट को इतनी सावधानी से बनाएं कि अग्रिम निकासी की नौबत न आए।

यह भी पढ़ें :  FSSAI Admit Card 2022 : जूनियर फूड एनालिस्ट, 7th फूड एनालिस्ट परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी, ऐसे करें डाउनलोड.

Bihar Government नए कर की संभावना नहीं :

गाइड लाइन से यह भी पता चलता है कि राज्य सरकार अगले वित्तीय वर्ष में भी नए कर लगाने के बारे में नहीं सोच रही है। कहा गया है कि राजस्व वाले विभागों की पिछले तीन वर्षों की उपलब्धियों और कमियों की गणना करें। प्राप्तियों का औसत निकाल कर ही नया लक्ष्य निर्धारित करें। विभाग अपने प्रस्ताव में यह भी उल्लेख करेंगे कि अतिरिक्त संसाधन जुटाने के लिए चालू वित्त वर्ष में किए गए प्रयासों का क्या परिणाम निकला। आर्थिक सर्वेक्षण में भी इस जानकारी का उपयोग होगा।

Bihar Government आपदा प्रबंधन में खर्च :

अगले वित्तीय वर्ष में आपदा प्रबंधन विभाग की आमद का ब्यौरा दिया गया है। इस मद में केंद्र से 1561 करोड़ और राज्य से 520 करोड़ रुपया मिलेगा। विभाग का कुल बजट 2081 करोड़ रुपये का होगा। महालेखाकार की सलाह और गैर-जरूरी होने के नाम पर बजट के कुछ उप शीर्ष समाप्त करने के लिए भी कहा गया है।

यह भी पढ़ें :  Bihar Political Crisis: बिहार में बनेगी नई सरकार! 11 अगस्त से पहले नीतीश तेजस्वी के साथ बनाएंगे सरकार ?

Bihar Government परिणाम बजट पर रहेगा फोकस :

बजट प्रस्ताव में विभागों को यह भी बताना है कि परिणाम बजट, जेंडर बजट, बाल कल्याण बजट एवं हरित बजट की वास्तविक उपलब्धियां क्या रही। व्यय के बावजूद भौतिक लक्ष्य हासिल किया गया है या नहीं।

Bihar Government रिक्तियों की जानकारी देनी होगी :

विभागों को प्रस्ताव में यह भी बताना है कि उनके यहां कितने स्वीकृत पद हैं। रिक्त पदों की जानकारी भी मांगी गई है। हालांकि रिक्त पदों के विरुद्ध वेतन का प्रविधान न करने की हिदायत भी दी गई है।


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page