Follow Us On Goggle News

UP Nursing Admission 2022 : सीएम योगी आदित्यनाथ का बड़ा ऐलान ! जीएनएम, बीएससी नर्सिंग में एडमिशन के लिए देनी होगी नीट की परीक्षा.

इस पोस्ट को शेयर करें :

UP GNM BSc Nursing Admission : जीएनएम बीएससी नर्सिंग, में एडमिशन के लिए अब से नीट परीक्षा देनी होगी.यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस बात की घोषणा की है. साथ ही अन्य कई घोषणाएं की गई है.

UP GNM BSc Nursing Admission 2022: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा यानी नीट परीक्षा के जरिए जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी (जीएनएम) और बीएससी नर्सिंग कोर्स में एडमिशन लेने की घोषणा की है. साथ ही उन्होंने पैरामेडिकल स्कूलों की स्थापना, आयुष कॉलेजों की संबद्धता जैसी शिक्षा को लेकर कई अन्य बड़ी घोषणाएं की हैं. सीएम ने कहा कि जीएनएम और बीएससी नर्सिंग में एडमिशन लेने वाले उम्मीदवारों को पहले नीट परीक्षा (NEET Exam 2022) पास करनी होगी. मुख्यमंत्री कार्यालय के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट में उन्होंने घोषणा की कि योग्यता और कौशल विकास में सुधार के लिए हर राज्य के मेडिकल कॉलेज में कौशल प्रयोगशाला स्थापित की जानी चाहिए.

 

 

यह भी पढ़ें :  JE Recruitment 2022: जूनियर इंजीनियर के 1000 से ज्यादा पदों पर निकली वैकेंसी, यहां देखें पूरी डिटेल्स.

 

छह महीने में पांच नए नर्सिंग स्कूल स्थापित किए जाएंगे :

सीएम ने कहा, ‘पैरामेडिकल के कौशल विकास के लिए 5 नए कोर्स ओटी टेक्निशियन, रेडियोथेरेपी टेक्निशियन, एनेस्थीसिया टेक्निशियन, डायलिसिस टेक्नीशियन और एमआरआई टेक्नीशियन को जोड़ने के लिए एक्शन प्लान बनाया जाए. उत्तर प्रदेश में नर्सिंग और पैरामेडिकल शिक्षा (UP paramedical education) की संख्या और गुणवत्ता में सुधार पर भी जोर दिया जाए. इस दिशा में उन्होंने अगले छह महीने के भीतर पांच नए नर्सिंग स्कूल, तीन नए पैरामेडिकल स्कूल और 24 स्किल लैब स्थापित करने की घोषणा की है. उन्होंने यह भी कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा यूपी में अगले छह महीने में करीब 10,000 पैरामेडिकल स्टाफ की भर्ती की जाए. इसके लिए उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड (UPSSSC) को नियुक्ति प्रक्रिया को पूरा करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

 

कॉलेजों में योग और प्राकृतिक चिकित्सा का सिलेबस विश्वविद्यालय द्वारा तैयार किया जाए :

आयुष कॉलेजों के संबंध में आदित्यनाथ ने कहा कि सरकारी और प्राइवेट (Sarkari and Private) दोनों आयुष महाविद्यालयों को महायोगी गुरु गोरखनाथ आयुष विश्वविद्यालय से संबद्ध किया जाना चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि इन कॉलेजों में योग और प्राकृतिक चिकित्सा का पाठ्यक्रम विश्वविद्यालय द्वारा तैयार किया जाना चाहिए. उत्तर प्रदेश सरकार प्रत्येक आंगनवाड़ी के लिए एक बिल्डिंग बनाने के लिए और बुनियादी ढांचे में सुधार, ऑडियो-विजुअल ऐड्स करने और स्वच्छ ऊर्जा स्थापित करके उन्हें कुशलता से विकसित करने की पहल करेगी.

यह भी पढ़ें :  RPSC Head Master Answer Key : राजस्थान हेड मास्टर भर्ती परीक्षा की आंसर-की जारी, यहां करें चेक.

 

 

 

योगी कैबिनेट में 14 प्रस्तावों पर लगी मुहर :

उत्तर प्रदेश में आज योगी सरकार की अहम कैबिनेट मीटिंग हुई. इसमें 14 प्रस्तावों को मंजूरी मिल गई है. लैब असिस्टेंट भर्ती से जुड़ा अहम फैसला भी लिया गया है. अब लैब असिस्टेंट के लिए 25% प्रमोशन से, बाकी सीधी भर्ती से लिए जाएंगे.

– यूपी में पर्यटन के लिए 4 प्वाइंट स्वीकृत हुए.
– भागीरथी में विकास कार्य, आगरा मथुरा प्रयागराज में हेलीपॉड, लखनऊ में रमाबाई स्थल में हेलीपॉड बनेगा. इससे प्राइवेट प्लेनों की लैंडिंग हो सकेगी.
– लोक निर्माण विभाग पुखराया बिंदकी राजमार्ग का चौड़ीकरण होगा. 42 किमी मार्ग 1136.45 करोड़ की लागत से पीपीपी मॉडल पर बनेगा.
– लखनऊ के सरोजिनी नगर में एनसीडीसी नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल का केंद्र बनेगा. इसके लिए 30 वर्ष के लिए 2.5 एकड़ जमीन दी गई.
– लैब असिस्टेंट के लिए 25% प्रमोशन से बाकी सीधी भर्ती से भरे जाएंगे.

यह भी पढ़ें :  BBOSE Amaant Course : इंटर पास कर चुके छात्रों के लिए अच्छी खबर, अब यहां से कर सकते हैं अमानत का कोर्स.

 

इन फैसलों की थी चर्चा :

माना जा रहा था कि यूपी कैबिनेट मीटिंग में किसानों को सिंचाई के लिए फ्री बिजली देने का ऐलान हो सकता है. इसके साथ-साथ 60 साल से ऊपर की महिला को बस में फ्री यात्रा के पास का ऐलान हो सकता है. इसके अलावा पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर लगने वाले टोल टैक्स के रेट को कम किया जा सकता है. लेकिन ऐसा फिलहाल नहीं किया गया है


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page