Follow Us On Goggle News

Small Business Ideas : गांव में ही रहकर शुरू करे यह बिज़नेस ! पहले ही दिन से होने लगेगी कमाई, जानिए कैसे.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Small Business Ideas : दिव्या बताती हैं कि, यह दीया भी इको फ्रेंडली (Eco-Friendly) है जो गाय के दूध, घी, गोबर, दही और गौमूत्र से तैयार किया जाता है और साथ ही इसमें तुलसी और नीम के पत्तों का भी उपयोग किया गया है. इस दीये को पसंद इसलिए भी किया जा रहा है क्योंकि जलने के बाद यह महक के साथ ऑक्सीजन निर्गमन (Oxygen Release) करता है.

 

Small Business Ideas : जो इंसान अपने क़दमों की काबिलियत पर विश्वास करते हैं, उन्हें मंजिल मिल ही जाती है.आज हम आपको ऐसे ही व्यवसायी के बारे में बताने जा रहे जो अपने घर से बिना किसी लागत के बिज़नेस शुरू कर आज लाखों रुपए महीने कमाई कर रही हैं. दरअसल डिजिटल मार्केटिंग की एक कंपनी में काम करने वाली और भोपाल (Bhopal) की साधवानी ईदगाह हिल्स में रहने वाली दिव्या (Divya) की कुछ अलग करने की चाह ने इनकों यहां तक पहुंचा दिया है.

यह भी पढ़ें :  NSE Scam Case : NSE घोटाले मामले में गुमनाम 'योगी' गिरफ्तार, चित्रा रामकृष्ण लेती थी उनसे सलाह.

 

लॉकडाउन में शुरू किया दिये का कारोबार :

लॉकडाउन (Lockdown) में इन्होंने दिये के कारोबार पर विचार-विमर्श किया था और उसके बाद अपने भाई के साथ मिलकर इन्होंने दिये का कारोबार शुरू किया जो गाय के गोबर, गौमूत्र आदि से बनाया जाता है. बता दें कि आज इन्होंने छोटी से कंपनी भी शुरू कर ली है और साथ ही साथ लोगों को रोजगार देकर उनकी मदद भी कर रही हैं.

 

सेल्फ हेल्प ग्रुप ने बनाया था इको फ्रेंडली ( Eco-friendly Diyas) दिया :

इससे पहले अक्टूबर 2021 में दिवाली के आसपास मध्य प्रदेश के ही सेल्फ हेल्प ग्रुप (Selg Help Group) ने ऐसे ही इको फ्रेंडली दिये उत्पादन का निर्माण शुरू किया था. भोपाल के 10 गांवों में गाय के गोबर से 15 लाख सुगंधित ईको फ्रेंडली दीये (Eco-Friendly Diyas) बनाए गए थे और इन दीयों को अयोध्या और मथुरा भेजा जाएगा.

वहीं, भोपाल के 10 गांवों में 15 लाख इको फ्रेंडली दीये बनाने के काम में एक हजार महिलाएं तेजी से काम में लगी हुई हैं. खुशबू के लिए इसमें पाउडर भी मिलाया जाता है. बता दें कि अयोध्या के मंदिरों में 11 लाख और मथुरा को 3 लाख दिये भेजे गए थे.

यह भी पढ़ें :  धनतेरस पर कर लें ये एक उपाय, साल भर बरसेगा पैसा और पूरी होगी मनोकामना | Dhanteras 2021

 

कैसे बनते हैं ऑक्सीजन (oxygen Diyas) देने वाले दिये :

दिव्या बताती हैं कि, यह दीया भी इको फ्रेंडली (Eco-Friendly) है जो गाय के दूध, घी, गोबर, दही और गौमूत्र से तैयार किया जाता है और साथ ही इसमें तुलसी और नीम के पत्तों का भी उपयोग किया गया है. इस दीये को पसंद इसलिए भी किया जा रहा है क्योंकि जलने के बाद यह महक के साथ ऑक्सीजन निर्गमन (Oxygen Release) करता है.

ज़्यादातर इस दिये को हवन में इस्तेमाल किया जा रहा है. दिव्या के इस बिज़नेस में उनके घरवाले भी भरपूर सहयोग कर रहें है. खास बात तो यह है की इससे वो ग्रामीणों को रोजगार (Employment) भी दे रही हैं और साथ ही गायों को कतलखाने में जाने से रोक रही हैं यानि गौरक्षा कर रही हैं.

 

शुरू किया ऑनलाइन बिज़नेस (Started Online Business) :

इन्होंने इस कारोबार की शुरुआत 2021 में शुरू की थी और जुलाई के बाद से बीते अक्टूबर में इन्होंने 90 हज़ार रुपयों का मुनाफा कमाया. बता दें कि यह बिज़नेस उन्होंने ऑनलाइन (Online Business) भी शुरू किया हुआ है ताकि लोग ऑनलाइन प्लेटफार्म पर जाकर उन्हें आर्डर कर अपने घर मंगवा सकें.

यह भी पढ़ें :  Small Business Ideas: 50 हजार रुपये में शुरू करें ये बिजनेस, हर महीने होगी 1 लाख की कमाई.

 

कारोबार को मिल रही ऊंचाई (Businesses getting height) :

दिव्या आगे बताती हैं की, यह बिज़नेस भोपाल के साथ-साथ अहमदाबाद (Ahmedabad) में भी शुरू किया जा चुका है और वहां पर अभी 15 लोग इस कारोबार को संभाल रही हैं. आगे वो इसको और भी बढ़ाना चाहती हैं और ऐसे ही अपने साथ लोगों को भी तरक्की की राह पर ले जाना चाहती हैं.


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page