Follow Us On Goggle News

SBI Loan Hike : SBI ने आज से महंगा किया कर्ज, जानिए कितनी बढ़ जाएगी आपके लोन की ईएमआई.

इस पोस्ट को शेयर करें :

SBI Loan Hike : छह महीने का एमसीएलआर 7.45 परसेंट से 7.65 परसेंट, एक साल का एमसीएलआर 7.5 से 7.7 परसेंट, दो साल का एमसीएलआर 7.7 परसेंट से 7.9 परसेंट और तीन साल का एमसीएलआर 7.8 परसेंट से 8 परसेंट कर दिया गया है.

 

SBI Loan Hike : देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने कर्ज का लेंडिंग रेट बढ़ा दिया है. इसकी नई दरें 15 अगस्त से लागू हो गई हैं. रिजर्व बैंक के रेपो रेट बढ़ाने के बाद स्टेट बैंक ने लेंडिंग रेट में बढ़ोतरी का ऐलान किया है. लेंडिंग रेट बढ़ने से कर्ज महंगा हो जाएगा और लोन की ईएमआई पहले से अधिक भरनी होगी. यहां लेंडिंग रेट का अर्थ एमसीएलआर यानी कि मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लेंडिंग रेट से है. जिन लोगों ने एमसीएलआर के आधार पर लोन लिया है, उन्हें अधिक ब्याज देना होगा, उनकी ईएमआई पहले से अधिक आएगी. रिटेल लोन में एक साल का एमसीएलआर सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. इस तरह के लोन में होम लोन आता है.

यह भी पढ़ें :  RBI की बड़ी कार्रवाई ! 5 नॉन बैंकिंग का लाइसेंस किया रद्द, क्‍या आपने भी ले रखा है यहां से लोन?

 

ओवरनाइट से तीन महीने तक का एसबीआई एमसीएलआर 7.15 परसेंट से बढ़ाकर 7.35 परसेंट कर दिया गया है. इसी तरह छह महीने का एमसीएलआर 7.45 परसेंट से 7.65 परसेंट, एक साल का एमसीएलआर 7.5 से 7.7 परसेंट, दो साल का एमसीएलआर 7.7 परसेंट से 7.9 परसेंट और तीन साल का एमसीएलआर 7.8 परसेंट से 8 परसेंट कर दिया गया है. पिछले महीने भी एसबीआई ने एमसीएलआर में 10 बेसिस पॉइंट की बढ़ोतरी की थी. यह बढ़ोतरी अलग-अलग अवधि के लोन पर की गई थी.

 

एसबीआई के लेटेस्ट एमसीएलआर रेट :

  1. ओवरनाइट- 7.35 परसेंट
  2. एक महीना- 7.35 परसेंट
  3. तीन महीना- 7.35 परसेंट
  4. छह महीना- 7.65 परसेंट
  5. एक साल- 7.7 परसेंट
  6. दो साल- 7.9 परसेंट
  7. तीन साल- 8 परसेंट

 

कितनी बढ़ेगी ईएमआई :

मान लें आपने 20 साल के लिए 30 लाख रुपये का लोन लिया है. अगर लोन के रेट में बढ़ोतरी के बाद ब्याज दर 7.55 परसेंट हो तो ईएमआई कुछ इस प्रकार होगी. 20 साल के लिए 30 लाख के लोन की ईएमआई 24260 रुपये देनी होगी. इस तरह ग्राहक को ब्याज के रूप में कुल 28,22,304 रुपये चुकाने होंगे. अब मान लें 7.55 परसेंट के रेट में भी बढ़ोतरी हो जाए, तो ईएमआई कुछ प्रकार होगी. अगर ब्याज दर 7.55 परसेंट से बढ़कर 8.055 परसेंट हो जाए तो ईएमआई 25187 रुपये होगी और आपको ब्याज के रूप में कुल 3,044,793 रुपये देने होंगे. इस तरह 20 साल के लिए 30 लाख के होम लोन पर हर महीने 927 रुपये ईएमआई में बढ़ोतरी देख जाएगी.

यह भी पढ़ें :  Petrol Diesel Price Today : पेट्रोल-डीजल के दामों में आयी मामूली गिरावट, जानिए आज क्या है आपके शहर में पेट्रोल-डीजल का रेट.

 

क्यों बढ़ा एमसीएलआर :

स्टेट बैंक ने एमसीएलआर में बढ़ोतरी इसलिए की है क्योंकि रिजर्व बैंक ने रेपो रेट बढ़ा दिया है. पिछले महीने रिजर्व बैंक ने एकमुश्त 50 बेसिस पॉइंट की बढ़ोतरी की. इसके चलते कई बैंकों ने अपने लेंडिंग रेट बढ़ा दिए हैं. हालांकि एफडी और सेविंग अकाउंट की दरों में फायदा देखा जा रहा है. पिछले हफ्ते एसबीआई ने रिटेल फिक्स्ड डिपॉजिट की ब्याज दर बढ़ाई थी. अलग-अलग अवधि की एफडी दरें बढ़ाई गई हैं. एसबीआई वर्तमान में 7 दिनों से लेकर 10 वर्ष तक की मैच्योरिटी वाली एफडी स्कीम चला रहा है, जिसमें ब्याज दर आम जनता के लिए 2.90% से 5.65% और वरिष्ठ नागरिकों के लिए 3.40% से 6.45% है.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page