Follow Us On Goggle News

SBI ने महंगा किया कार – होम लोन, लेटेस्ट रेट के साथ जानिए कब से लागू होंगी नई दरें.

इस पोस्ट को शेयर करें :

SBI Loan Interest Rate Hike : स्टेट बैंक ने अपना एमसीएलआर या लेंडिंग रेट 10 बेसिस पॉइंट तक बढ़ा दिया है. पहले की तुलना में एसबीआई का लोन महंगा हो गया है. अब लोन की ईएमआई भी अधिक चुकानी होगी. नई दरें 15 जुलाई से लागू हो रही हैं.

SBI Loan Hikes : देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने अपने कर्ज को महंगा कर दिया है. एसबीआई ने गुरुवार को मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट (MCLR) में बढ़ोतरी का ऐलान किया. स्टेट बैंक के मुताबिक, एमसीएलआर में 10 बेसिस पॉइंट की वृद्धि की गई है. बैंक ने कहा है कि नई दरें 15 जुलाई से लागू होंगी. यहां 10 बेसिस पॉइंट का अर्थ हुआ 0.10 परसेंट. यानी कि एसबीआई का लोन पहले की तुलना में 0.10 परसेंट अधिक हो गया है. एक्सटर्नल बेंचमार्क से जुड़े लोन की दरों में कोई बदलाव नहीं किया गया है.

यह भी पढ़ें :  IndiGo Airlines : सस्ती हुई हवाई यात्रा ! Indigo ने शुरू की 100 फ्लाइट्स, देखिए रूट लिस्ट और किराया.

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, एक साल के एमसीएलआर की दर 7.40 फीसद से बढ़ाकर 7.50 फीसद कर दी गई है. ओवरनाइट, एक महीने और तीन महीने का रेट अब 7.05 फीसद से बढ़कर 7.15 फीसद हो गया है. लोन की दरें बढ़ने से लोन महंगा हो जाएगा और ईएमआई पहले से अधिक चुकानी होगी. इसका असर नए और पुराने दोनों तरह के ग्राहकों पर देखा जाएगा.

 

कितना हो गया लेंडिंग रेट :

छह महीने के लिए एमसीएलआर की दर को 7.35 फीसद से बढ़ाकर 7.45 परसेंट कर दिया गया है. दो साल और तीन साल के एससीएलआर की दर बढ़कर क्रमशः 7.7 परसेंट और 7.8 परसेंट कर दी गई है.

रेपो रेट में बढ़ोतरी के बाद लेंडिंग रेट में वृद्धि देखी जा रही है. लगभग सभी बैंक एमसीएलआर में वृद्धि कर रहे हैं. लेंडिंग रेट बढ़ने से ग्राहकों को दिया जाने वाला कर्ज महंगा हो जाता है. इसका असर ईएमआई और यहां तक कि प्रोसेसिंग फी पर भी देखी जाता है.

यह भी पढ़ें :  SBI Alert : एसबीआई ने 44 करोड़ ग्राहकों के लिए जारी किया अलर्ट! जानिए बैंक के नाम से आने वाले फर्जी मैसेज को कैसे पहचानें?

 

अप्रैल से बढ़ रही हैं दरें :

स्टेट बैंक इस साल अप्रैल से कुछ दिनों के अंतराल पर लेंडिंग रेट बढ़ाए जा रहा है. यह दौर तब से शुरू हुआ जब रिजर्व बैंक ने अपना रेपो रेट बढ़ाया. शुरू में एसबीआई ने अपने एमसीएलआर में 0.20 परसेंट की वृद्धि की और इसकी नई दरें 15 जून, 2022 को लागू हो गईं.

कम से कम कितना लगेगा ब्याज :

पिछली बार जून में एसबीआई ने एक्सटर्नल बेंचमार्क से जुड़े लोन इंटरेस्ट को बढ़ाया था और ये नई दरें 15 जून को लागू कर दी गईं. फिलहाल बैंक का ईबीएलआर 7.55 परसेंट प्लस सीआरपी है जबकि आरएलएलआर की दर 7.15 परसेंट प्लस सीआरपी है. इसके अलावा ग्राहक के क्रेडिट स्कोर को देखते हुए रिस्क प्रीमियम भी चार्ज किया जाता है. इसका अर्थ हुआ कि जिस ग्राहक का क्रेडिट स्कोर 800 से अधिक होगा, उसे रेगुलर होम लोन के लिए कम से कम 7.55 फीसद ब्याज देना होगा. इससे होम लोन की दरें पहले से बढ़ गई हैं और इसी हिसाब से अधिक ईएमआई भी वसूली जाएगी.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page