Follow Us On Goggle News

RBI Bank Rules : अब हर जगह नहीं होगा डेबिट और क्रेडिट कार्ड से पेमेंट, RBI के इन नियमों को ध्यान से पढ़ लीजिए

इस पोस्ट को शेयर करें :

RBI Bank Rules : फेमा (FEMA) करंट अकाउंट रूल्स के शेड्यूल 1 में उन ट्रांजैक्शन के बारे में बताया गया है जिस पर रोक है. इसमें पूरी लिस्ट दी गई है जिस पर रोक लगी है. ये ऐसे ट्रांजैक्शन हैं जिन्हें क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड से नहीं कर सकते.

 

RBI Bank Rules : अगर आप क्रेडिट या डेबिट कार्ड (Debit Card) होल्डर हैं तो आपको जानना चाहिए कि किन परिस्थितियों में डेबिट और क्रेडिट कार्ड (Credit Card) का इस्तेमाल नहीं कर सकते. यह नियम इंटरनेशनल ट्रांजैक्शन या पेमेंट को लेकर है. भारतीय कानून के अनुसार इंटरनेशनल इनेबल डेबिट या क्रेडिट कार्ड को कुछ खास तरह के इंटरनेशनल ट्रांजैक्शन से रोका गया है. रिजर्व बैंक का नियम कहता है कि यह रोक फॉरेन एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट, 1999 (FEMA) के तहत चस्पा किया गया है. इसी में फॉरेन एक्सचेंज मैनेजमेंट (करंट अकाउंट ट्रांजैक्शन) रूल्स, 2000 का भी नियम है जिसे फेमा करंट अकाउंट रूल्स कहा जाता है.

यह भी पढ़ें :  Free Business Ideas : अब नौकरी की टेंशन खत्म ! शुरू करें आसान कारोबार, हर महीना करें मोटी कमाई, जानें तरीका.

 

डीएसके लीगल के पार्टनर अविनाश कुमार खर्द ‘ इकोनॉमिक टाइम्स ‘ से कहते हैं, फेमा करंट अकाउंट रूल्स के शेड्यूल 1 में उन ट्रांजैक्शन के बारे में बताया गया है जिस पर रोक है. इसमें पूरी लिस्ट दी गई है जिस पर रोक लगी है. ये ऐसे ट्रांजैक्शन हैं जिन्हें क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड से नहीं कर सकते. वे कहते हैं, विदेशों में जिन सामानों पर रोक है, यानी जो भी प्रोहिबिटेड आइटम हैं, उन्हें डेबिट या क्रेडिट कार्ड से नहीं खरीद सकते. इन आइटम में लॉटरी टिकट, प्रतिबंधित मैगजीन, स्वीपस्टेक्स में भागीदारी, सभी तरह के कॉल बैक सर्विसेज की खरीदारी पर रोक है. इस तरह के आइटम या एक्टिविटिज जो फॉरेन एक्सचेंज में आते हैं, उसका ट्रांजैक्शन डेबिट या क्रेडिट कार्ड से नहीं कर सकते.

 

जुर्माने का प्रावधान :

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने ग्राहकों के नाम एक मैसेज भेजा है जिसमें लिखा गया है कि फोरेक्स ट्रेडिंग, गैंबलिंग जैसे काम क्रेडिट कार्ड पर प्रतिबंधित हैं. साथ ही उपर जो भी गतिविधियां बताई गई हैं, उन सबका ट्रांजैक्शन विदेशों में डेबिट या क्रेडिट कार्ड से नहीं किया जा सकता.

यह भी पढ़ें :  EPFO Big Update : सरकारी कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर ! पेंशन का बदला नियम, अब महीने के इस दिन मिलेगी.

अगर कोई व्यक्ति इस नियम को तोड़ता है तो उसके खिलाफ जुर्माना लगाने का भी प्रावधान है. जिन गतिविधियों पर या जिन ट्रांजैक्शन पर रोक है, अगर वह ट्रांजैक्शन किया जाता है और डेबिट या क्रेडिट कार्ड से कोई लेनदेन होता है तो रिजर्व बैंक के रेगुलेशन के मुताबिक कार्डहोल्डर के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी. कार्डहोल्डर को किसी भी कार्ड को रखने से रोक दिया जाएगा. स्टेट बैंक ने अपने मैसेज में यह बात कही है.

 

इन विज्ञापनों से सावधान :

नियम के मुताबिक, अगर कोई व्यक्ति इस तरह का ट्रांजैक्शन करता है तो उसके खिलाफ फेमा करंट अकाउंट रूल्स के तहत कार्रवाई होगी. फेमा के तहत उसके खिलाफ जुर्माना लगेगा. जुर्माने की राशि ट्रांजैक्शन की गई राशि से तीन गुना अधिक तक हो सकती है. इसलिए विदेश जब भी जाएं तो ऐसे इश्तेहारों के झांसे में न आएं जिसमें सस्ते ऑफर में या डिस्काउंट में केसिनो, होटल आदि का ऑफर दिया जाता है और क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करने की बात कही जाती है. ऐसे विज्ञापन आपको गंभीर मुसीबत में डाल सकते हैं.


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page