Follow Us On Goggle News

LIC के पॉलिसीधारकों के लिए अलर्ट! अपडेट करा लें अपने बैंक अकाउंट की डिटेल्स, क्लेम की प्रक्रिया में होगी आसानी.

इस पोस्ट को शेयर करें :

LIC Update : अगर भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) के पॉलिसीधारक हैं, तो आपको पता होना चाहिए कि आपकी पॉलिसी के तहत क्लेम सेटलमेंट का भुगतान सीधे आपके बैंक अकाउंट में डाला जाएगा. तो, पॉलिसीधारकों को यह सुनिश्चित करना होगा कि LIC के साथ उनकी सही बैंक की डिटेल मौजूद हैं.

LIC Update : अगर भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) के पॉलिसीधारक हैं, तो आपको पता होना चाहिए कि आपकी पॉलिसी के तहत क्लेम सेटलमेंट (Claim Settlement) का भुगतान सीधे आपके बैंक अकाउंट में डाला जाएगा. तो, पॉलिसीधारकों (Policyholders) को यह सुनिश्चित करना होगा कि LIC के साथ उनकी सही बैंक की डिटेल मौजूद हैं.

ऐसा इसलिए क्योंकि एलआईसी को NEFT (नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर) के जरिए पॉलिसी का भुगतान करने के लिए आपके बैंक अकाउंट की जानकारी की जरूरत होगी. इस बात का ध्यान रखें कि LIC पॉलिसी पेमेंट के लिए किसी दूसरे भुगतान के माध्यम को मंजूर नहीं करेगा, जैसे चेक. एलआईसी की वेबसाइट पर यह जानकारी दी गई है.

यह भी पढ़ें :  Best Interest Rates on Savings Account : इन बैंकों में सेविंग्स अकाउंट में मिल रहा है 7% तक का ब्याज, जानें पूरी डिटेल.

भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा जारी लेटेस्ट विज्ञापन के तहत, बीमा कंपनी अपने पॉलिसीधारकों से क्लेम की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए बैंक की डिटेल्स को अपडेट करने के लिए कह रही है.

 

पॉलिसीधारक इन बातों का रखें ध्यान :

 

विज्ञापन में ये बातें कही गई हैं:

  1. विज्ञापन में कहा गया है कि कृप्या मैच्योरिटी की तारीख या सर्वाइवल बेनेफिट की तारीख के लिए अपने पॉलिसी डॉक्यूमेंट को चेक करें.
  2. डिटेल्स के साथ किसी भी ब्रांच को संपर्क करें.
  3. बैंक अकाउंट की डिटेल्स उपलब्ध कराएं. NEFT मैंडेट फॉर्म सभी दफ्तरों में उपलब्ध है या इसे एलआईसी की वेबसाइट से डाउनलोड फॉर्म्स के तहत डाउनलोड किया जा सकता है.
  4. NEFT की डिटेल्स को ऑनलाइन डाउनलोड किया जा सकता है.
  5. क्लेम डिस्चार्ज फॉर्म्स और पॉलिसी डॉक्यूमेंट को सब्मिट कर दें.
  6. केवाईसी को सब्मिट कर दें और अपने घर के पते, फोन या मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि को अपडेट कर दें.
यह भी पढ़ें :  Business Ideas : आज ही शुरू करें यह बिजनेस! महीने में होगी 10 लाख रुपये की कमाई, आसान है प्रोसेस.

LIC की वेबसाइट के मुताबिक, NEFT के फायदे ये हैं:

  1. आपका बैंक किसी भी जगह पर स्थित है, पॉलिसीधारक को अपने अकाउंट में भुगतान की तारीख को राशि मिल जाएगी.
  2. इसके साथ NEFT भुगतान का एक ज्यादा तेज और ज्यादा सुरक्षित तरीका है.
  3. पॉलिसीधारकों के लिए कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं रखा गया है.
  4. जहां कहीं भी पॉलिसीधारक को NEFT के जरिए पॉलिसी पेमेंट का भुगतान किया जाता है, एसएमएस और ईमेल का अलर्ट भेजा जाएगा.
  5. हर LIC NEFT पेमेंट में एक यूनिक UTR (यूनिक ट्रांजैक्शन रेफरेंस) नंबर जनरेट होगा. अगर अकाउंट में क्रेडिट के साथ कुछ मुश्किल आती है, तो पॉलिसीधारक अपने बैंक से संपर्क कर सकता है और इस UTR नंबर का इस्तेमाल करके कन्फर्मेशन के लिए कह सकता है.
  6. दूसरे शब्दों में, इस नंबर के साथ NEFT ट्रांजैक्शन को फॉलो करना बेहद आसान हो जाता है.

इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page