Follow Us On Goggle News

GST Council Meeting: बिना ब्रांड वाले डिब्बाबंद खाने पीने की वस्तुओं पर लगेगा टैक्स, दही-पनीर हुआ महंगा

इस पोस्ट को शेयर करें :

GST Council Meeting: मांस, मछली, दही, पनीर और शहद जैसे पहले से पैक और लेबल वाले खाद्य पदार्थों पर अब 5 फीसदी जीएसटी लगेगा, बैंक चेक जारी करने के लिए वसूलते हैं, उस पर टैक्स लगाया जाएगा. इससे पहले, बिना ब्रांड वाले फूड प्रोडक्ट्स को जीएसटी से छूट दी गई थी.

 

GST Council Meeting: जीएसटी काउंसिल (GST Council) ने मंगलवार को कुछ अनब्रांडेड पैकेज्ड फूड आइटम्स सहित कई वस्तुओं और सेवाओं पर छूट को खत्म करने के लिए मंत्रियों के एक पैनल की सिफारिशों को स्वीकार कर लिया है. इसके जरिए ड्यूटी की चोरी हुई थी. GST काउंसिल ने कई सेवाओं पर छूट वापस लेने का फैसला लिया है. जिसमें होटल के सस्ते कमरे शामिल हैं. वहीं कुछ सेवाओं पर कर लगाने की मंजूरी दी है. बता दें कि वित्त मंत्री (Finance Minister) निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में जीएसटी काउंसिल की बैठक मंगलवार को शुरू हुई है. राज्यों को जून 2022 के बाद राजस्व क्षतिपूर्ति की व्यवस्था जारी रखने और कैसिनो, ऑनलाइन गेम और घुड़दौड़ पर 28 फीसदी जीएसटी लगाने जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा आज होगी.

यह भी पढ़ें :  Gold Silver Price Today : सोने के भाव में आई भारी गिरावट, जानिए आज क्या है सोना चंडी का रेट.

 

मांस, मछली, दही, पनीर और शहद जैसे पहले से पैक और लेबल वाले खाद्य पदार्थों पर अब 5 फीसदी जीएसटी लगेगा, बैंक चेक जारी करने के लिए वसूलते हैं, उस पर टैक्स लगाया जाएगा. इससे पहले, बिना ब्रांड वाले फूड प्रोडक्ट्स को जीएसटी से छूट दी गई थी.

महंगे हुए ये सामान

दो दिवसीय बैठक के पहले दिन जीएसटी से छूट की समीक्षा के लिए जीओएम की सिफारिश को स्वीकार कर लिया, जो वर्तमान में मिलने वाले पैक और लेबल वाले खाद्य पदार्थों को मिलती है. पहले से पैक और लेबल वाला मांस (जमे हुए को छोड़कर), मछली, दही, पनीर, शहद, सूखे फलियां, सूखे मखाना, गेहूं और अन्य अनाज, गेहूं या मेसलिन का आटा, गुड़, मुरमुरा, सभी सामान और जैविक खाद और क्वॉयर पीठ खाद को जीएसटी से छूट नहीं दी जाएगी और अब इस पर 5% टैक्स लगेगा.

इसी तरह, चेक जारी करने के लिए बैंकों द्वारा लिए गए शुल्क पर 18% जीएसटी लगाया जाएगा. एटलस सहित मानचित्र और चार्ट पर 12% का शुल्क लगेगा. अनपैक्ड, अनलेबल और अनब्रांडेड सामान जीएसटी से मुक्त रहेगा.

यह भी पढ़ें :  Axis Bank Rules : एक्सिस बैंक ने किए कई बदलाव ! खाते में न्यूनतम बैलेंस की सीमा बढ़ाई, फ्री कैश ट्रांजैक्शन लिमिट हुआ कम.

1,000 रुपए प्रतिदिन से कम के होटल कमरों पर 12 प्रतिशत की दर से टैक्स लगेगा. अभी इस पर कोई कर नहीं लगता. साथ ही अस्पताल में भर्ती मरीजों के लिये 5,000 रुपए से अधिक किराये वाले कमरे (ICU को छोड़कर) पर 5 परसेंट जीएसटी लगेगा.

पोस्टकार्ड और लिफाफे पर लग सकता है टैक्स

जीओएम ने पोस्टकार्ड और अंतर्देशीय पत्र, बुक पोस्ट और 10 ग्राम से कम वजन के लिफाफे को छोड़कर अन्य डाकघर सेवाओं पर कर लगाने का सुझाव दिया है. मंत्री समूह ने चेक पर 18 प्रतिशत की दर से कर लगाने की सिफारिश की है.

जीओएम ने कंपनियों द्वारा आवासीय उपयोग के लिये किराये पर दिए जाने वाली आवासीय इकाइयों पर भी कर छूट वापस लेने की सिफारिश की है. पूर्वोत्तर राज्यों और पश्चिम बंगाल में बागडोगरा के लिये आने-जाने की हवाई यात्रा में बिजनेस श्रेणी पर मिल रही जीएसटी छूट को भी वापस लेने का सुझाव दिया गया है.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page