Follow Us On Goggle News

FD Rules Changed: रिजर्व बैंक ने बदल दिए फिक्स्ड डिपॉजिट से जुड़े कई नियम, एफडी कराने से पहले जरूर पढ़ ले.

इस पोस्ट को शेयर करें :

FD Rules Changed: भारतीय रिजर्व बैंक में एफडी से जुड़े हुए एक बड़े नियम में बदलाव कर दिया है. रिजर्व बैंक ने की रेपो रेट और ब्याज दरें बढ़ाना शुरू कर दिया है. इसलिए एफडी से कराने एफडी कराने से पहले आपको यह नियम जान लेना चाहिए, नहीं तो आपको एक बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है.

FD Rules Changed: FD की मैच्योरिटी पर बदले नियम :

दरअसल, RBI ने फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) के नियम में बड़ा बदलाव ये किया है कि अब मैच्योरिटी पूरी होने के बाद अगर आप राशि को क्लेम नहीं करते हैं तो आपको इस पर कम ​ब्याज मिलेगा. ये ब्याज सेविंग अकाउंट पर मिलने वाले ब्याज के बराबर होगा. अभी आमतौर पर बैंक्स 5 से 10 साल की लंबी अवधि वाले FD पर 5 परसेंट से ज्यादा ब्याज देते हैं. जबकि सेविंग अकाउंट पर ब्याज दरें 3 परसेंट से 4 परसेंट के आस-पास होती हैं.

यह भी पढ़ें :  Farming Business Ideas: 1 कट्ठे में शुरू करें इस पौधे की खेती, हर महीने होगी लाखों की कमाई.

FD Rules Changed: RBI ने जारी किया ये आदेश :

RBI की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार, अगर फिक्स्ड डिपॉजिट मैच्योर होता है और राशि का भुगतान नहीं हो पाता है या इस पर दावा नहीं किया जाता है तो उस पर ब्याज दर सेविंग्‍स अकाउंट के हिसाब से या मैच्‍योर्ड FD पर निर्धारित ब्‍याज दर, जो भी कम हो वो दी जाएगी. ये नया नियम सभी कमर्शियल बैंकों, स्मॉल फाइनेंस बैंक, सहकारी बैंक, स्थानीय क्षेत्रीय बैंकों में जमा पर लागू होंगे.

FD Rules Changed: जानें क्या कहते हैं नियम :

इसको ऐसे समझें कि, मान लीजिए आपने 5 साल की मैच्योरिटी वाला FD करवाया है, जो आज मैच्योर हुआ है, लेकिन आप ये पैसा नहीं निकाल रहे हैं तो इस पर दो परिस्थितियां होंगी. अगर FD पर मिल रहा ब्याज उस बैंक के सेविंग अकाउंट पर मिल रहे ब्याज से कम है, तो आपको FD वाला ब्याज ही मिलता रहेगा. अगर FD पर मिल रहा ब्याज सेविंग अकाउंट पर मिल रहे ब्याज से ज्यादा है, तो आपको सेविंग अकाउंट पर मिल रहा ब्याज मैच्योपरिटी के बाद मिलेगा.

यह भी पढ़ें :  RBI Mastercard Onboarding : RBI ने Mastercard पर लगी रोक को हटाया, अब कंपनी कर पाएगी यह जरूरी काम.

FD Rules Changed: क्या था पुराना नियम?

पहले जब आपकी FD मैच्योर हो जाती थी और अगर आप इसका पैसा नहीं निकालते हैं या इस पर दावा नहीं करते हैं तो बैंक आपकी FD को उसी अवधि के लिए आगे बढ़ा देता था जिसके लिए आपने पहले FD की थी. लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. लेकिन अब मैच्योरिटी पर पैसा नहीं निकालने पर उस पर FD का ब्याज नहीं मिलेगा. इसलिए बेहतर होगा कि आप मैच्योरिटी के बाद तुरंत ही पैसा निकाल लें.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page