Follow Us On Goggle News

Edible Oil Prices: 15 रुपये सस्ता हुआ इस ब्रांड का सरसों तेल, मदर डेयरी ने किया ऐलान

इस पोस्ट को शेयर करें :

Edible Oil Prices: दिल्ली-एनसीआर के प्रमुख दूध सप्लायर्स में से एक मदर डेयरी (Mother Dairy) ने अपने खाद्य तेल की कीमतों में 15 रुपये प्रति लीटर तक की कटौती की है. मदर डेयरी ने कहा है कि वैश्विक बाजारों में खाद्य तेलों के दाम (Edible Oil Prices) नीचे आए हैं.

 

दिल्ली-एनसीआर के प्रमुख दूध सप्लायर्स में से एक मदर डेयरी (Mother Dairy) ने अपने खाद्य तेल की कीमतों में 15 रुपये प्रति लीटर तक की कटौती की है. मदर डेयरी ने कहा है कि वैश्विक बाजारों में खाद्य तेलों के दाम (Edible Oil Prices) नीचे आए हैं. जिसे देखते हुए कंपनी ने खाने के तेल के दामों में कटौती करने का फैसला किया है. बताते चलें कि मदर डेयरी अपने खाद्य तेलों को धारा (Dhara Edible Oils) ब्रांड के तहत बेचती है. मदर डेयरी ने एक लीटर वाले धारा सरसों तेल (पॉली पैक) की कीमत 208 रुपये से घटाकर 193 रुपये प्रति लीटर कर दी गई है.

यह भी पढ़ें :  Stock Market Crash : शेयर बाजार में मचा हाहाकार ! सेंसेक्‍स 1400 अंक टूटा, न‍िफ्टी भी हुआ धड़ाम.

 

एक लीटर वाला सूरजमुखी का तेल 235 रुपये से कम होकर 220 रुपये हुआ

सरसों के तेल के अलावा एक लीटर वाला धारा रिफाइंड सूरजमुखी तेल (पॉली पैक) अब 220 रुपये में बेचा जाएगा, पहले इसकी कीमत 235 रुपये प्रति लीटर थी. वहीं, एक लीटर वाले धारा रिफाइंड सोयाबीन तेल (पॉली पैक) की कीमत अब 194 रुपये कर दी गई है, पहले इसकी कीमत 209 रुपये थी.

नये प्राइस के साथ अगले सप्ताह तक बाजारों में पहुंच जाएगा मदर डेयरी का धारा तेल

मदर डेयरी ने एक बयान में कहा, धारा खाद्य तेलों की अधिकतम खुदरा कीमतों (MRP) में 15 रुपये प्रति लीटर तक की कटौती की जा रही है. कीमतों में यह कमी हाल की सरकार की पहल, अंतरराष्ट्रीय बाजारों का प्रभाव कम होने और सूरजमुखी तेल की उपलब्धता बढ़ने की वजह से हुई है. नई MRP के साथ धारा खाद्य तेल अगले सप्ताह तक बाजारों में पहुंच जाएगा.

यह भी पढ़ें :  Petrol-Diesel Price Today: कच्चे तेल के दाम आयी उछाल, फिर भी देश भर में क्यों स्थिर पेट्रोल-डीजल की कीमतें?

हर साल 1.3 करोड़ टन खाद्य तेलों का आयात करता है इंडिया

अंतरराष्ट्रीय बाजार में उच्च दरों के कारण पिछले एक साल से खाद्य तेल की कीमतें बहुत ऊंचे स्तर पर बनी हुई हैं. घरेलू मांग को पूरा करने के लिए भारत सालाना लगभग 1.3 करोड़ टन खाद्य तेलों का आयात करता है. खाद्य तेलों के लिए देश की आयात पर निर्भरता 60 प्रतिशत की है.

पीटीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार 14 अक्टूबर, 2021 तक दिल्ली-एनसीआर में मदर डेयरी के कुल 1800 कंज्यूमर टच पॉइंट्स थे. कंपनी की योजना के मुताबिक वित्त वर्ष 2022-23 तक इनकी संख्या बढ़ाकर 2500 करना है. मदर डेयरी की कोशिश है कि वे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक अपनी पहुंच बना सके.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page