Follow Us On Goggle News

Cryptocurrency Prices : बिटकॉइन की कीमतों में गिरावट, Dogecoin में आई तेजी.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Cryptocurrency Prices : बिटकॉइन करीब 0.4 फीसदी की गिरावट के साथ 47,071 डॉलर पर ट्रेड कर रहा है. दुनिया की सबसे बड़ी और लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी में साल 2022 में आज की तारीख तक करीब 2 फीसदी की बढ़ोतरी देखी गई है.

 

Cryptocurrency Prices : क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) में गुरुवार को मिली-जुला ट्रेंड देखने को मिला है. बिटकॉइन (Bitcoin) करीब 0.4 फीसदी की गिरावट के साथ 47,071 डॉलर पर ट्रेड कर रहा है. दुनिया की सबसे बड़ी और लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी में साल 2022 में आज की तारीख तक करीब 2 फीसदी की बढ़ोतरी देखी गई है. यह पिछले साल नवंबर में हुई करीब 69,000 डॉलर की रिकॉर्ड ऊंचाई से करीब 30 फीसदी दूर है. दूसरी तरफ, ethereum ब्लॉकचैन से जुड़ा कॉइन और मार्केट कैपिटलाइजेशन के हिसाब से दूसरी सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी Ether थोड़ी तेजी के साथ 3,391 डॉलर पर पहुंच गई है.

 

इस बीच dogecoin की कीमत 2 फीसदी से ज्यादा की तेजी के साथ 0.14 डॉलर पर पहुंच गई है. जबकि, Shiba Inu दो फीसदी से ज्यादा की बढ़ोतरी के साथ 0.000027 डॉलर पर ट्रेड कर रहा है.

यह भी पढ़ें :  Attention ! देश में तेजी से बढ़ रहा ऑनलाइन फ्रॉड, सिर्फ एक राज्य में हुई 51.33 करोड़ की धोखाधड़ी.

 

Solana में बड़ी तेजी :

दूसरे डिजिटल टोकन्स के प्रदर्शन में भी सुधार आया है. Solana में 11 फीसदी से ज्यादा की तेजी देखी गई है. जबकि, Polygon, Litecoin, Stellar, Cardano, Uniswap में भी पिछले 24 घंटों के दौरान बढ़ोतरी देखी गई है. इस बीच ग्लोबल क्रिप्टोकरेंसी मार्केट कैपिटलाइजेशन दो ट्रिलियन डॉलर के आंकड़े से ज्यादा पर बनी हुई है. यह 2.25 ट्रिलियन डॉलर पर मौजूद है. इसमें पिछले 24 घंटों के दौरान 2 फीसदी से ज्यादा का बदलाव आया है.

इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने क्रिप्टोकरेंसी के इस्तेमाल को इजाजत देने को लेकर बड़े वित्तीय जोखिमों पर चिंता जाहिर की है. वहीं, रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारत कई एजेंसियों और घरेलू संस्थानों से रेगुलेटरी फ्रेमवर्क के बारे में चर्चा कर रहा है.

सरकार लेकर आने वाले थी संसद में बिल :

आपको बता दें कि सरकार ने क्रिप्टोकरेंसी और रेगुलेशन ऑफ ऑफिशियल डिजिटल करेंसी बिल, 2021 संसद के शीतकालीन सत्र में पेश करने के लिए लिस्ट किया था. इसे पहले बजट सत्र के लिए भी लिस्ट किया गया था, लेकिन इसे पेश नहीं किया जा सका था, क्योंकि सरकार ने इस पर दोबारा काम करने का फैसला लिया था.

यह भी पढ़ें :  Big News : नितीश सरकार का बड़ा फैसला ! लाल ईंट पर प्रतिबंध को लेकर भट्टा मालिकों को दी बड़ी राहत.

क्रिप्टोकरेंसी पिछले कुछ समय में निवेश के तौर पर लोगों के बीच एक लोकप्रिय विकल्प बनकर सामने आया है. खास तौर पर, बड़ी संख्या में युवा इसमें पैसा लगा रहे हैं.

इसके अलावा नए वित्त वर्ष के पहले दिन यानी 1 अप्रैल से कई बदलाव देखने को मिलेंगे. एक बड़ा बदलाव क्रिप्टोकरेंसी पर लगने वाले टैक्स का है. हालिया बजट में वित्त मंत्री ने इसका ऐलान किया था. इसमें कहा गया कि सभी वर्चुअल डिजिटल एसेट या क्रिप्टो एसेट पर 30 परसेंट टैक्स लगेगा, अगर उसे बेचने पर फायदा होता है.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page