Follow Us On Goggle News

Bank New Rules : कल से बदल जाएगा इस बैंक के लेनदेन का न‍ियम, 2 करोड़ों लोंगो पर पड़ेगा असर.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Positive Pay System : देश के अग्रणी सरकारी बैंक ‘बैंक ऑफ बड़ौदा’ में 1 अगस्‍त से पॉजिटिव पे स‍िस्‍टम लागू हो जाएगा. इस स‍िस्‍टम को लागू करने का मकसद बैंक ग्राहकों को क‍िसी भी प्रकार के चेक फ्रॉड से बचाना है.

Bank New Rules : अगर आपका बैंक अकाउंट बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank Of Baroda- BoB) में है तो यह खबर आपके काम की है. कल यानी 1 अगस्‍त से BoB चेक संबधी नियमों में बदलाव होने जा रहा है. दरअसल, यह सरकारी बैंक 1 अगस्‍त से ग्राहकों के ल‍िए चेक से भुगतान करने पर पॉजिटिव पे स‍िस्‍टम (Positive Pay System) लागू करने जा रहा है. इसके बाद पांच लाख रुाये से ज्‍यादा के चेक में अहम जानकारी को वेरिफाइड करने से पहले बैंक को इलेक्ट्रॉनिक रूप से पुष्टि करनी होगी.

डिजिटली कंफर्म करना होगा :

बैंक ऑफ बड़ौदा की तरफ से क‍िए गए ट्वीट में जानकारी दी गई क‍ि हम आपकी बैंकिंग सेफ्टी को लेकर प्रतिबद्ध हैं. पॉजिटिव पे सिस्टम (BOB Positive Pay System) से हम ग्राहकों को क‍िसी भी प्रकार के चेक फ्रॉड से सुरक्षित रखना चाहते हैं. 1 अगस्‍त से 5 लाख रुपये से अधिक के चेक के ल‍िए आपको डिजिटली कंफर्म करना होगा ताकि आपके साथ क‍िसी भी प्रकार की धोखाधड़ी न हो पाए.

यह भी पढ़ें :  Petrol - Diesel Price Today : पेट्रोल-डीजल की नई कीमतें जारी, यहां देखें आपके शहर में आज क्या हैं ईंधन के भाव.

चेक को वापस भी किया जा सकता है :

अब से बैंक ग्राहक को क‍िसी को भी चेक सौंपने से पहले उसकी ड‍िटेल देनी होगी, ताकि बैंक बिना किसी पुष्टिकरण कॉल के पांच लाख रुपये के चेक को भुगतान के लिए आगे बढ़ा सके. बैंक सर्कुलर के मुताब‍िक 5 लाख या इससे ज्‍यादा के चेक का कंफर्मेशन नहीं होने पर चेक को वापस किया जा सकता है.

क्या है पॉजिटिव पे सिस्टम?

पॉजिटिव पे सिस्टम के अंतर्गत न‍िर्धार‍ित रकम से ज्‍यादा वाले चेक की जानकारी बैंक को पहले से देनी होगी. बैंक चेक का पेमेंट करने से पहले चेक की ड‍िटेल के बारे में दी गई जानकारी को क्रॉस चेक करता है. आरबीआई के इस न‍ियम को लागू करने के पीछे का कारण चेक के गलत इस्तेमाल को रोकना है.

पॉजिटिव पे सिस्टम लागू होने के बाद चेक जारी करने वाले को SMS, इंटरनेट बैंकिंग, एटीएम या मोबाइल बैंकिंग के माध्‍यम से चेक की डेट, बेनेफिशियरी का नाम, अकाउंट नंबर, कुल अमाउंट, ट्रांजेक्शन कोड और चेक नंबर की जानकारी बैंक को देनी होगी. चेक का पेमेंट करने से पहले इन जानकारियों को बैंक क्रॉस-चेक करेगा. गड़बड़ी पाए जाने पर बैंक चेक को र‍िजेक्‍ट कर देगा.

यह भी पढ़ें :  PAN-Aadhaar Link : 31 मार्च को खत्म हो जाएगी डेडलाइन ! जल्दी कर लें पैन-आधार लिंक, ये रहा आसान प्रोसेस.

इन बैंकों में पहले से लागू है पॉज‍िट‍िव पे सिस्टम :

बैंक ऑफ बड़ौदा से पहले देश के कई बैंक पॉजिटिव पे सिस्टम को लागू कर चुके हैं. इनमें भारतीय स्टेट बैंक (SBI), आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank), पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank), एक्सिस बैंक (Axis Bank) और एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) शामिल है.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page