Follow Us On Goggle News

Air India के पायलटों के लिए खुशखबरी, रिटायरमेंट के बाद 5 साल और काम करने का मिलेगा सुनहरा मौका

इस पोस्ट को शेयर करें :

Air India: टाटा ग्रुप की एयरलाइंस एयर इंडिया ने रिटायरमेंट के बाद पायलटों को 5 साल के नौकरी पर रखने की पेशकश की है. इसके लिए तीन साल पहले तक रिटायर हुए पायलटों को इसके लिए सहमति पत्र भेजा गया है.

 

Air India: टाटा ग्रुप के स्वामित्व वाली एअर इंडिया (Air India) ने पायलटों की रिटायरमेंट के बाद उन्हें फिर से 5 साल के लिए काम पर रखने की पेशकश की है. एयरलाइन ने परिचालन में स्थिरता लाने के इरादे से यह पहल की है. आंतरिक स्तर पर जारी ई-मेल से यह जानकारी मिली. यह कदम ऐसे समय उठाया गया है कि जब कंपनी 300 विमानों के अधिग्रहण को लेकर बातचीत कर रही है. Air India इन पायलटों को कमांडर के रूप में फिर से नियुक्त करने पर विचार कर रही है. कंपनी ने चालक दल के सदस्यों सहित अपने कर्मचारियों के लिए एक स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना भी शुरू की है और साथ ही साथ ही नए युवाओं की भर्ती भी कर रही है.

यह भी पढ़ें :  5G Network : 5G सिग्नल से ठप हो सकते हैं विमान के इंजन, Air India समेत कई एयरलाइन्स कंपनियों ने अमेरिका जाने वाली फ्लाइट्स की रद्द.

 

Air India के उप-महाप्रबंधक (कार्मिक) विकास गुप्ता ने एक इंटरनल मेल में कहा, हमें यह सूचित करते हुए खुशी हो रही है कि एअर इंडिया में कमांडर के रूप में 5 साल की अवधि के लिए या 65 वर्ष की आयु प्राप्त करने तक, जो भी पहले हो, रिटायरमेंट के बाद आपको अनुबंध पर भर्ती करने के बारे में विचार किया जा रहा है.

मेल के अनुसार, इच्छुक पायलटों को 23 जून तक लिखित सहमति के साथ अपना विवरण प्रस्तुत करने के लिए कहा गया है. इस संबंध में एअर इंडिया के प्रवक्ता को भेजे गए सवाल का कोई जवाब नहीं मिला.

एअर इंडिया ने पेश किया VRS स्कीम

अधिकारी ने कहा कि तीन साल पहले रिटायर हुए पायलटों को पत्र भेज दिया गया है. एयरलाइन ने केबिन क्रू सहित अपने कर्मचारियों के लिए एक वॉलेंट्री रिटायरमेंट स्कीम शुरू की है और साथ ही साथ नई भर्ती भी कर रही है.

यह भी पढ़ें :  देश का पहला किसान क्रेडिट कार्ड जो लोन के पैसे पर देता है ब्याज, खाते में जमा रकम पर भी होती है कमाई | SBI Kisan credit card

किसी एयरलाइन के लिए पायलट सबसे महंगे एसेट होते हैं. केबिन क्रू और एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियरों जैसे अन्य रोल्स की तुलना में इन्हें सबसे अधिक भुगतान किया जाता है. इसके अलावा, डोमेस्टिक एविएशन इंडस्ट्री में पर्याप्त रूप से प्रशिक्षित पायलटों की कमी हमेशा से एक मुद्दा रहा है.

Air India में पायलटों के लिए रिटायरमेंट की उम्र एयरलाइन के अन्य सभी कर्मचारियों की तरह 58 वर्ष है. महामारी से पहले, एअर इंडिया अपने रिटायर्ड पायलटों को अनुबंध पर फिर से काम पर रखा था, लेकिन मार्च 2020 के अंत के बाद इसे बंद कर दिया गया था. महामारी के प्रभाव को आंशिक रूप से ऑफसेट करने के लिए ऐसे पायलटों के अनुबंध भी समाप्त कर दिए गए थे.हालांकि, अन्य प्राइवेट एयरलाइनों के पायलट 65 वर्ष की उम्र तक उड़ान भरते हैं.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page