Follow Us On Goggle News

Agnipath Scheme: कई सरकारी स्कीम का लाभ उठाएंगे ‘अग्निवीर’, मुद्रा लोन लेकर शुरू कर पाएंगे अपना व्यापार

इस पोस्ट को शेयर करें :

Agnipath Scheme: वित्त मंत्रालय जिस मुद्रा योजना का जिक्र कर रहा है उसमें लोगों को अपना बिजनेस शुरू करने के लिए 10 लाख रुपये का लोन दिया जाता है. अग्निवीर बाद में चाहें तो इस लोन योजना का लाभ उठा सकते हैं. यही फायदा स्टैंडअप इंडिया स्कीम में भी मिलेगा.

 

Agnipath Scheme: सरकार ने गुरुवार को एक बड़ी घोषणा की. वित्त मंत्रालय ने कहा कि देश के ‘अग्निवीरों‘ (Agniveer) को मौजूदा सरकारी स्कीम का भरपूर लाभ दिया जाएगा. वित्त मंत्रालय के मुताबिक, मुद्रा लोन स्कीम और स्टैंड अप इंडिया जैसी योजनाएं अग्निवीरों की मदद करेंगी. दरअसल, सरकार ने दो दिन पहले अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) की शुरुआत की है जिसमें देश के युवाओं में सशस्त्र सेनाओं में भर्ती का मौका दिया जाएगा. इस योजना से जुड़ने वाले युवाओं को अग्निवीर का नाम दिया जाएगा. सरकार के मुताबिक, अग्निपथ योजना के तहत पूरे देश में युवाओं की सैन्य भर्ती होगी और उनका कार्यकाल 4 साल का होगा. अग्निवीरों को आकर्ष सेवा निधि पैकेज देने का भी ऐलान किया गया है. सरकार के अलग-अलग मंत्रालय इसके समर्थन में उतर रहे हैं जिनमें गृह के साथ रक्षा और वित्त मंत्रालय प्रमुख हैं.

यह भी पढ़ें :  GST Annual Return Filing Deadline : सरकार ने GST सालाना रिटर्न फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ाई,अब हैं ये आखरी तारीख.

 

समाचार एजेंसी ANI ने वित्त मंत्रालय के हवाले से लिखा है, सेवा की अवधि खत्म होने के बाद अग्निवीरों की मदद बैंक और वित्तीय संस्थान कैसे कर सकते हैं, इस पर विचार किया जा रहा है. इसके लिए सरकार ने सरकारी और प्राइवेट बैंकों, वित्तीय संस्थानों के मुख्य पदाधिकारियों के साथ लगातार मीटिंग की है. मीटिंग में इस बात पर फोकस किया गया कि अग्निवीर जब अपनी सेवा समाप्त करें तो उन्हें किन विभागों में सेवा का मौका दिया जा सकता है. मीटिंग में इस बात पर भी विचार किया गया कि अग्निवीरों को बाद में सरकारी बैंक, प्राइवेट बैंक या वित्तीय संस्थानों में सेवा का अवसर दिया जा सकता है. अग्निवीरों की शैक्षणिक क्षमता और कुललता के आधार पर अलग-अलग नौकरियों में ऑफर दिया जाएगा.

 

अग्निवीरों को मिलेंगे कई सुविधाएं

वित्त मंत्रालय जिस मुद्रा योजना का जिक्र कर रहा है उसमें लोगों को अपना बिजनेस शुरू करने के लिए 10 लाख रुपये का लोन दिया जाता है. अग्निवीर बाद में चाहें तो इस लोन योजना का लाभ उठा सकते हैं. इसी तरह सरकार स्टैंडअप इंडिया स्कीम का फायदा भी अग्निवीरों को देगी. स्टैंड-अप इंडिया स्कीम में बैंक की हर ब्रांच से कम से कम एक अनुसूचित जाती या अनुसूचित जनजाति और एक महिला उद्यमी द्वारा ग्रीनफील्ड प्रोजेक्ट लगाने के लिए 10 लाख से 1 करोड़ रु तक के लोन की सुविधा दी जाती है. अब इसका विशेष लाभ अग्निवीर भी उठा सकेंगे.

यह भी पढ़ें :  Gold Price Today : सोने के दाम में आयी तेजी, जानिए बिहार में आज क्या है रेट.

कुछ ऐसा ही प्रस्ताव गृह विभाग ने भी रखा है. गृह मंत्रालय ने कहा है कि वह अग्निवीरों को गृह मंत्रालय में बड़ा मौका देगा. 4 साल पूरा करने वाले अग्निवीरों को सीएपीएफ और असम रायफल्स भर्ती में प्राथमिकता दी जाएगी. अग्निपथ योजना से ट्रेनिंग ले चुके युवा आगे भी देश की सेवा और सुरक्षा में अपना योगदान दे पाएंगे. इस योजना पर गृह मंत्रालय ने विस्तृत योजना बनाने का काम शुरू कर दिया है.

क्या-क्या होंगे अग्निपथ योजना में

सरकार का तर्क है कि फौज के लिए शुरू की गई अग्निपथ योजना से समाज से आसानी से युवा जुड़ सकेंगे. उन्हें आकर्षक वित्तीय पैकेज मिलेगा, सर्टिफिकेट और डिप्लोम देकर उन्हें उच्च शिक्षा का क्रेडिट दिया जाएगा. इस योजना में अनुशासन, स्किल और फिटनेस पर खास फोकस किया जाएगा. इस भर्ती का मापदंड कुछ ऐसा रखा गया है कि साढ़े 17 साल से 21 साल के युवा को नौकरी दी जाएगी. सेवा की अवधि जिसमें ट्रेनिंग भी शामिल है, 4 साल की होगी. संबंधित सेवा अधिनियम और विनियम के तहत अग्निवीरों का चयन किया जाएगा. चयन की प्रक्रिया पूरे देश में होगी और इसमें सभी वर्ग के युवा नामांकन कर सकेंगे. सरकार के पास सभी अग्निवीरों का सेंट्रलाइज्ड डेटा और रिकॉर्ड होगा.

यह भी पढ़ें :  Free Business Ideas: केवल 15 हजार रुपये में स्टार्ट करें ये बिजनेस, 3 महीने में होंगे 3 लाख के मालिक.

अग्निपथ योजना के अनुसार, प्रत्येक अग्निवीर को अपने मासिक पैकेज के 30 परसेंट का योगदान अपने व्यक्तिगत अग्निवीर समूह फंड के लिए करना होगा. सेवा की अवधि पूरी होने के बाद 11.71 लाख रुपये का एकमुश्त सेवा निधि पैकेज का भुगतान किया जाएगा. सेवा निधि पैकेज में अग्निवीरों का योगदान, उस पर ब्याज और सरकार की तरफ से उपयुक्त योगदान शामिल है. अग्निवीरों के लिए बैंक लोन का भी विकल्प रहेगा.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page