Follow Us On Goggle News

5G Spectrum के लिए शुरू हुई नीलामी ! साल के आखिर तक मिलने लगेगी सुविधा, 10 गुना बढ़ जाएगी इंटरनेट स्‍पीड.

इस पोस्ट को शेयर करें :

5G Spectrum Auction in India : देश में 5जी नेटवर्क की सुविधा का काउनडाउन शुरू हो चुका है. दूरसंचार विभाग की अगुवाई में देश की चार दिग्‍गज कंपनियां आज स्‍पेक्‍ट्रम की नीलामी में हिस्‍सा ले रही हैं. नीलामी पूरी होने के बाद अनुमान है कि अगले कुछ महीनों में देश में 5जी का नेटवर्क ग्राहकों को मिलने लगेगा. कुल स्‍पेक्‍ट्रम की नीलामी के जरिये सरकार को 4.3 लाख करोड़ रुपये जुटाने का अनुमान है.

5G Spectrum Auction : भारत ने आज से इंटरनेट की पांचवीं पीढ़ी की तरफ कदम बढ़ा दिया है. सरकार ने देश में 5जी नेटवर्क की सेवाएं शुरू करने के लिए आज मंगलवार को स्‍पेक्‍ट्रम की नीलामी शुरू की है. दूरसंचार विभाग (डॉट) की देखरेख में देश की दिग्‍गज दूरसंचार कंपनियां 5जी स्‍पेक्‍ट्रम के लिए बोली लगा रहीं हैं.यह प्रक्रिया शाम 6 बजे तक चलेगी. नीलामी में रिलायंस जियो, भारती एयरटेल, वोडाफोन आइडिया और नए खिलाड़ी अडानी डाटा नेटवर्क ने हिस्‍सा लिया है. सरकार ने 5जी नेटवर्क के लिए 72 हजार मेगाहर्ट्ज के एयरवेव्‍स की नीलामी शुरू की है. कुल स्‍पेक्‍ट्रम की नीलामी के जरिये सरकार को 4.3 लाख करोड़ रुपये जुटाने का अनुमान है. पहली नीलामी से सरकार को करीब 1 लाख करोड़ रुपये मिलने की उम्‍मीद है.

यह भी पढ़ें :  Agnipath Scheme: कई सरकारी स्कीम का लाभ उठाएंगे ‘अग्निवीर’, मुद्रा लोन लेकर शुरू कर पाएंगे अपना व्यापार

 

साल के आखिर तक मिलने लगेगी सुविधा :

नीलामी में शामिल भारती एयरटेल के मुख्‍य तकनीकी अधिकारी (CTO) रणदीप सेखों ने बताया कि आज स्‍पेक्‍ट्रम की नीलामी प्रक्रिया पूरी होने के बाद सबकुछ सही रहा तो साल 2022 के आखिर तक या 2023 की शुरुआत में 5जी सुविधा शुरू हो जाएगी. हमारी कोशिश है कि स्‍पेक्‍ट्रम मिलने के 2 से 4 महीने के भीतर 5जी सेवा ग्राहकों तक पहुंचा देंगे.

 

quotes 1200 × 450 px 3 5G Spectrum के लिए शुरू हुई नीलामी ! साल के आखिर तक मिलने लगेगी सुविधा, 10 गुना बढ़ जाएगी इंटरनेट स्‍पीड.

 

10 गुना बढ़ जाएगी इंटरनेट स्‍पीड :

दूरसंचार कंपनियां ग्राहकों तक 5जी नेटवर्क पहुंचाने के लिए मिड और हाई बैंड के स्‍पेक्‍ट्रम खरीद रही हैं. ये बैंड इंटरनेट स्‍पीड को 4जी की मौजूदा स्‍पीड के मुकाबले 10 गुना तक बढ़ाने की क्षमता रखते हैं. मिड रेंज वाले स्‍पेक्‍ट्रम 3.3-3.67 गीगाहर्ट्ज (Ghz) के होंगे, जबकि हाई बैंड में 26 गीगाहर्ट्ज के स्‍पेक्‍ट्रम शामिल हैं. कंपनियों को यह स्‍पेक्‍ट्रम 20 साल के लिए दिया जाएगा.

नीलामी में आमने-सामने हैं अंबानी-अडानी :

इस नीलामी में मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के साथ ही भारत व एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति गौतम अडानी (Gautam Adani) के भी उतर जाने से मामला दिलचस्प हो गया है. आज हो रही इस नीलामी में दोनों दिग्गज कारोबारियों के बीच आमने-सामने की टक्कर (Ambani Vs Adani) देखने को मिल सकती है.

यह भी पढ़ें :  Gold Price Today : लोहड़ी पर सोना खरीदारों के लिए खुशखबरी, आज इतने रुपये में अपने घर ले जाएं 10 ग्राम गोल्ड.

 

ambani adani 5G Spectrum के लिए शुरू हुई नीलामी ! साल के आखिर तक मिलने लगेगी सुविधा, 10 गुना बढ़ जाएगी इंटरनेट स्‍पीड.

 

अडानी ने नीलामी को बनाया दिलचस्प :

इस बार स्पेक्ट्रम की नीलामी की रेस अडानी डेटा नेटवर्क (Adani Data Netwrok) के शामिल हो जाने से ज्यादा दिलचस्प हो गई है. अडानी समेत कुल 4 कंपनियां स्पेक्ट्रम की नीलामी में शामिल होने जा रही हैं. इनमें देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी रिलायंस जियो (Relinace Jio) 55 से 60 हजार करोड़ रुपये की कीमत के स्पेक्ट्रम के लिए बोली लगा सकती है. वहीं भारती एयरटेल (Bharti Airtel) 45 से 50 हजार करोड़ रुपये के लिए और अडानी डेटा नेटवर्क 13 से 15 हजार करोड़ कीमत के स्पेक्ट्रम के लिए बोली लगा सकती है. इस रेस में चौथी कंपनी वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea) है. माना जा रहा है कि 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी में जियो, एयरटेल और अडानी ग्रुप (Adani Group) के बीच जोरदार मुकाबला हो सकता है.

टेलीकॉम सेक्टर में उतर सकते हैं अडानी :

भारत में 5G की इस बहुप्रतीक्षित नीलामी में हर किसी की निगाहें अडानी पर हैं. एनालिस्ट बोफा सिक्योरिटीज (BoFa Securities) के मुताबिक, इस नीलामी के साथ-साथ लंबी अवधि में टेलीकॉम सेक्टर में मुकाबला कड़ा होगा. ब्रोकरेज फर्म सीएलसी (CLC) का मानना है कि अडानी समूह के स्पेक्ट्रम की नीलामी में शामिल होने से स्पेक्ट्रम के मूल्य को लेकर अनिश्चितता पैदा हो सकती है. Goldman Sachs की राय है कि अगर अडानी समूह स्पेक्ट्रम खरीदने में सफल हुआ तो 5जी में मुकाबला बढ़ने के साथ ही अडानी ग्रुप के मोबाइल सेवा कारोबार में उतरने का रास्ता भी खुल जाएगा. फर्म का साफ कहना है कि आने वाले समय में अडानी समूह अगर टेलीकॉम सेक्टर में उतर जाए, तो इसमें हैरानी की कोई बात नहीं है.

यह भी पढ़ें :  5G Spectrum : मई में होगी 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी, 4G के मुकाबले 10 गुना तेजी से होगी डाउनलोडिंग.

किस कंपनी का शुरुआती निवेश ज्‍यादा : 

देश में 5जी नेटवर्क शुरू करने के लिए वैसे तो सभी कंपनियां होड़ में लगी हैं, लेकिन रिलायंस जियो ने इसके लिए सबसे ज्‍यादा रकम जमा कराई है. कंपनी ने नीलामी से पहले ही 14 हजार करोड़ रुपये डॉट के पास जमा करा दिए हैं. दूसरे नंबर पर भारती एयरटेल आती है, जिसने 5,500 करोड़ रुपये जमा कराए हैं. इसके बाद वोडा आइडिया ने 2,200 करोड़ और अडानी नेटवर्क ने 100 करोड़ रुपये जमा कराए हैं.

भारती एयरटेल के चेयरमैन सुनील मित्‍तल ने कहा, कंपनी 5जी नेटवर्क की सुविधा शुरू करने की पूरी तैयारी में है. इस ताकतवर नेटवर्क के जरिये देश की डिजिटल इकॉनमी को बढ़ाने में मदद मिलेगी.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page