Follow Us On Goggle News

Bihar Politics : लालू यादव ने कहा- बिहार में तेजस्वी-चिराग का देखना चाहते हैं गठबंधन, वे अभी भी एलजेपी के नेता.

इस पोस्ट को शेयर करें :

 

Lalu Yadav on alliance: पेगागस के मुद्दे पर लालू यादव ने कहा- हां, इसकी जांच होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि जो भी इसमें संलिप्त हैं, उनके नामों का प्रकाशन किया जाना चाहिए.

 

राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) ने मंगलवार को कहा कि पिछले दिनों लोक जनशक्ति पार्टी (Lok Janshakti Party) में जो कुछ भी हुआ है उसके बावजूद वह चिराग पासवान (Chirag Paswan) को ही एलजेपी का नेता मानते हैं. इसके साथ ही, उन्होंने कहा कि बिहार में वह तेजस्वी और चिराग पासवान को एक साथ गठबंधन में देखना चाहते हैं.

आरजेडी सुप्रीमो ने कहा- मैं शरद पवार के स्वास्थ्य के बारे में जानने आया था, क्योंकि वह बीमार रहे हैं. संसद में उनकी गैर-मौजूदगी रही है. हम तीनों- मैं, शरद भाई और मुलायम सिंह कई मुद्दों को लेकर लड़ाईयां लड़ीं हैं. मुलायम सिंह यादव के साथ हमारी कल की बैठक एक शिष्टाचार भेंट थी.

यह भी पढ़ें :  10वीं पास बिहार-झारखंड के युवाओं के लिए सरकारी नौकरी करने का शानदार मौका! यहां निकली बंपर वैकेंसी | Indian Railway Recruitment 2021

पेगागस के मुद्दे पर लालू यादव ने कहा- हां, इसकी जांच होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि जो भी इसमें संलिप्त हैं, उनके नामों का प्रकाशन किया जाना चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि हम बिहार में सरकार बनाने के करीब थे. मैं जेल में था और मेरे बेटे तेजस्वी यादव ने अकेले (राज्य के सत्ताधारी गठबंधन से) मुकाबला किया. उन्हें फर्जीवाड़ा किया और हमें 10-15 वोटों के अंतर से हराया.

lalu yadav Exclusive : जातीय जनगणना से लेकर पेगासस मुद्दे तक हर सवाल का लालू यादव का बेबाक जवाब.

 

इससे पहले, आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने दिल्ली में समाजवादी पार्टी के सांसद मुलायम सिंह यादव से उनके आवास पर जाकर मुलाकात की. इस दौरान अखिलेश यादव भी मौजूद रहे. इस मुलाकात को लेकर उत्तर प्रदेश बीजेपी के नेताओं ने निशाना साधा है.

योगी सकार के मंत्री कह रहे हैं कि ये परिवार की पार्टी है और परिवार को कैसे बचाया जाए, पैसे को कैसे बचाय जाए इसको लेकर मुलाकात हुई है. वहीं कांग्रेस ने भी इस मुलाकात को लेकर समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव पर निशाना साधा है. जबकि समाजवादी पार्टी का कहना है कि 2022 के लिए अब अखिलेश यादव को सभी का आशीर्वाद मिल रहा है.

यह भी पढ़ें :  Corona Update : केरल से बिहार आने वाले यात्रियों की एयरपोर्ट और स्टेशन पर होगी कोरोना जांच, विशेष जांच दल की होगी तैनाती.

दिल्ली में मुलायम सिंह यादव लालू यादव के मुलाकात पर यूपी कैबिनेट मंत्री जय प्रताप सिंह ने निशाना साधा है. उनका कहा है कि, “इस तरह की जो पारिवारिक पार्टी है वह आपस में मिलकर परिवार की भूमिका को यथावत रखने के लिए हमेशा प्रयासरत रहती है. यह राष्ट्रीय पार्टी तो है नहीं, ये परिवार की पार्टी बनाते हैं. जाति और धर्म के आधार पर इसके कोई मायने नहीं है. परिवार को सुरक्षित रखना है, परिवार को बढ़ाना है, पैसे को सुरक्षित रखना है, इनकी कोई विचारधारा नहीं है.”


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page