Follow Us On Goggle News

Sale of E-Stamp: बैंक में शुरू हुई ई-स्टांप की बिक्री, वेंडरों के भरोसे बैठने की जरुरत नहीं.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Sale of E-Stamp: अब निबंधन कराने आने वाले लोगों को ई-स्टांप के लिए वेंडरों के भरोसे नहीं बैठना होगा। निबंधन विभाग ने ई-स्टांप की सुलभता के लिए को-आपरेटिव बैंक के माध्यम से बिक्री का फैसला लिया है। निबंधन आयुक्त बी कार्तिकेय धनजी ने बताया कि विभाग के द्वारा ई-स्टांप Sale of E-Stamp की बिक्री के लिए को-आपरेटिव बैंक को प्राधिकृत संग्रह केंद्र यानी एसीसी नामित किया गया है। वर्तमान में को-आपरेटिव बैंकों के द्वारा 59 निबंधन कार्यालयों में ई-स्टांप की बिक्री Sale of E-Stamp की जा रही है। विभाग का प्रयास है कि शेष 67 निबंधन कार्यालयों में भी ई-स्टांप की बिक्री Sale of E-Stamp के लिए कांउटर स्थापित किए जाए।

 

राज्य सहकारिता बैंक के पूर्व प्रबंध निदेशक रहे और वर्तमान में मद्य निषेध उत्पाद विभाग एवं निबंधन विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने शनिवार को बिहार राज सहकारिता बैंक के द्वारा निबंधन विभाग के ई-स्टांपिंग की प्रगति की समीक्षा के लिए बैंक के मुख्यालय पहुंचे। समीक्षा के क्रम में पाया गया कि पिछले एक सप्ताह के अंदर राज्य के जिला सहकारिता बैंकों द्वारा राज्य में लगभग 50 करोड़ के स्टाम्प की बिक्री की गई है। यह सहकारिता बैंक की बड़ी उपलब्धि है। इससे सहकारी बैंकों को अच्छी आमदनी के साथ ई-स्टांपिंग के कार्यों में पारदर्शिता आएगी।

यह भी पढ़ें :  Lalu Family Controversy : तेज प्रताप की पीठ क्यों सहला रहे सुशील मोदी? कभी मिट्टी घोटाले में घसीटा था.

 

सहकारी बैंकों द्वारा किए जा रहे उत्साह जनक कार्य को देखते हुए अपर मुख्य सचिव ने कहा कि निबंधन कार्यालय द्वारा अपनी जमा राशि भी सहकारिता बैंकों में रखने का आदेश दिया गया है। प्रथम चरण में सहकारी बैंकों में ई-स्टांपिंग की 125 शाखाएं 5 मई 2022 तक चालू करने का लक्ष्य है। इस योजना से लोगों को ई-स्टांपिंग खरीदने में बिचौलियों से मुक्ति मिलेगी और सहकारी बैंकों की साख बढ़ेगी।

 

महानिरीक्षक निबंधन, कार्तिकेय धनजी ने बैंक के कर्मचारी और पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि बैंकों को आमलोगों से जोड़ने की जरूरत है और उनका विश्वास भी जीतना जरूरी है। लंबे समय बाद अपने पुराने कार्यालय आने पर के के पाठक को बैंक द्वारा सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता बैंक के चेयरमैन रमेश चंद्र चौबे, स्वागत पूर्व अध्यक्ष सत्येंद्र नारायण सिंह और संचालन निदेशक शैलेंद्र कुमार ने किया। कार्यक्रम में बैंक के एमडी अखिलेश कुमार निदेशक अमरनाथ पांडे , विष्णुन देव राय, महेश राय समेत सभी जिलों के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें :  Bihar News : नवादा में जानलेवा साबित हो रहा बुखार, एक ही परिवार के 5 लोगों की मौत से हड़कंप.

 

 

 

इनपुट: livehindustan.com


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page