Follow Us On Goggle News

Russia Ukraine War : सीएम नितीश की अपील – यूक्रेन में रह रहे प्रदेश वासियों को लाने का प्रयास जारी, छात्र और अभिभावक ना हों परेशान.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Russia Ukraine War : यूक्रेन में मेडिकल और इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे पटना, पूर्णिया, दरभंगा, छपरा, आरा, बक्सर समेत कई जिलों के छात्र संकट में हैं. ये छात्र वतन वापसी करना चाह रहे हैं, लेकिन इनके सामने परेशानी ये है कि यूक्रेन में अब विमानों को रद्द कर दिया गया है. इसलिए अब ये गुहार लगा रहे हैं कि उनकी जान की रक्षा एयरलिफ्ट कराकर करें.

 

Russia Ukraine War : : बिहार सूचना एवं जनसंपर्क विभाग (Information and Public Relations Department Bihar) ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि यूक्रेन (Ukraine) में रह रहे बिहार वासियों को स्वदेश लाने के लिए बिहार सरकार प्रयासरत है और बिहार की स्थानिक आयुक्त विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के निरंतर सम्पर्क में है.

 

सरकार ने जानकारी दी है कि यूक्रेन में जारी वर्तमान संकट के मद्देनजर बिहार सरकार वहां रह रहे अपने सभी निवासियों को वापस लाने के लिए सभी प्रयास कर रही है. बिहार की स्थानिक आयुक्त श्रीमती पलका साहनी विदेश मंत्रालय के अधिकारियों से निरंतर सम्पर्क में हैं और सभी आवश्यक प्रबंध किये जा रहे हैं.

यह भी पढ़ें :  Aadhaar Card Update : आधारकार्ड से जुड़े नियम में बड़ा बदलाव, UIDAI ने आधार को डाउनलोड करने का प्रोसेस किया बहुत आसान.

स्थानिक आयुक्त श्रीमती पलका साहनी ने कहा कि रूस द्वारा यूक्रेन पर विशेष सैन्य अभियानों को देखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर वहां रह रहे बिहार वासियों को स्वदेश लाने के लिए हर तरह के प्रयास किये जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि वे विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के साथ लगातार सम्पर्क में हैं और आज भी उनसे संपर्क किया गया है. बिहार के स्थानिक आयुक्त ने छात्रों और उनके अभिभावकों सहित सभी बिहार वासियों को आश्वस्त किया है कि यूक्रेन में रह रहे बिहार वासियों की सुरक्षा के प्रति बिहार सरकार पूरी तरह प्रतिबद्ध है.

 

विभिन्न जिलों के छात्र फंसे: 

गौरतलब है कि यूक्रेन में मेडिकल और इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे पटना, पूर्णिया, दरभंगा, छपरा, आरा, बक्सर समेत कई जिलों के छात्र संकट में हैं. इसमें से कई छात्र यूक्रेन के ओडेसा नेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटी में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे हैं. ये छात्र वतन वापसी करना चाह रहे हैं, लेकिन इनके सामने परेशानी ये है कि यूक्रेन में अब विमानों को रद्द कर दिया गया है. इसलिए अब ये गुहार लगा रहे हैं कि उनकी जान की रक्षा एयरलिफ्ट कराकर करें.

यह भी पढ़ें :  Digital Bhikhari : मिलिए बिहार के इस डिजिटल 'भिखारी' से ! PM मोदी और लालू का है जबरा फैन, UPI से लेता है भिक्षा.

बता दें कि बिहार के सैकड़ों छात्र यूक्रेन में पढ़ाई के लिए रहते हैं. वहीं नौकरी और व्यवसाय करने वालों की संख्या भी काफी है. रूस के साथ शुरू हुई जंग के बाद यूक्रेन में आपातकाल घोषित हो चुका है. रूस की तरफ से लगातार कई इलाकों में गोले दागे जा रहे हैं. छात्रों ने भी केंद्र और राज्य सरकार से सकुशल वापसी की गुहार लगाई है.

 

यूक्रेन में माहौल बिगड़ने के बाद वहां रह रहे बिहार सहित पूरे देश के लोग घबरा गए हैं. दूसरी ओर रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध शुरू होने के बाद बाहरी उड़ानों पर भी यूक्रेन ने रोक लगा दी है. जिसके कारण एयर इंडिया का फ्लाइट बीच रास्ते से लौट चुकी है.

इधर यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने भी गुरुवार को भारतीय नागरिकों से कहा है कि वे व्याकुल न हों और आप जहां भी हैं, सुरक्षित रहें. दूतावास ने कहा कि यूक्रेन वायु क्षेत्र के नागरिक विमानों के लिये बंद किये जाने के मद्देनजर भारतीय नागरिकों को निकालने के लिये वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है. उसने यह भी कहा कि ऐसी व्यवस्था को अंतिम रूप देते ही दूतावास इसके बारे में जानकारी देगा. यूक्रेन में करीब 20 हजार भारतीयों से फंसे होने की खबरें हैं. रूसी हमले के बाद यूक्रेन से विमान सेवाएं बंद कर दी गई हैं.


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page