Follow Us On Goggle News

Prepaid Smart Meter: स्मार्ट प्रीपेड मीटर को लेकर बिजली विभाग का नया नियम, मैसेज के जरिए अब मिलेगी पूरी जानकारी.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Prepaid Smart Meter: बिजली कंपनी अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक (सीएमडी) संजीव हंस ने शुक्रवार को स्मार्ट प्रीपेड लगाने वाली कंपनियों के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने कंपनियों के अधिकारियों को यह निर्देश दिया कि 30 सितंबर तक स्मार्ट प्री पेड से जुड़ी समस्याओं का निदान करें। यह तय हुआ कि स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाने वाली एजेंसी अब बिजली कंपनी द्वारा दी गयी सूची के आधार पर मीटर लगाएगी। हर पंद्रह दिनों के अंदर इसकी समीक्षा की जाएगी। Prepaid Smart Meter

बिजली कंपनी के सीएमडी ने यह निर्देश दिया कि उपभोक्ताओं की समस्याओं का तुरंत निदान किया जाए। सीएमडी ने उपभोक्ताओं की समस्याओं के बारे में ईईएसएल तथा ईडीएफ को पत्र लिखा था। दोनों कंपनियों के पास स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाए जाने का जिम्मा है। इसके बाद ऊर्जा मंत्रालय ने एक सितंबर को बैठक बुलाई थी। ऊर्जा मंत्रालय के संयुक्त सचिव विशाल कपूर ने बिजली कंपनी के प्रबंध निदेशकों के साथ वर्चुअल बैठक कर अविलंब समाधान निकालने की बात कही थी। इस दौरान बिजली कंपनी के सीएमडी ने कहा कि स्मार्ट प्रीपेड मीटर के उपभोक्ताओं की समस्याओं का निदान ससमय किया जाए। उपभोक्ताओं को तीन दिन के अंदर वेलकम मैसेज मिले, इसे सुनिश्चत किया जाए। Prepaid Smart Meter

यह भी पढ़ें :  Smart Meters for Electricity : स्मार्ट मीटर लगाने से मना करने वाले ग्राहकों की कटेगी बिजली, विद्युत मंत्रालय ने जारी किया आदेश.

बिजली कंपनी के सीएमडी ने कहा कि स्मार्ट प्रीपेड मीटर के संचालन और रख रखाव के काम में कर्मचारियों की कमी नहीं होनी चाहिए। सुविधा ऐप में उपभोक्ताओं द्वारा स्मार्ट प्रीपेड मीटर के बिल मद में जमा की गई राशि दिखनी चाहिए। कंपनी द्वारा जो राशि काटी गई है, उसका विवरण भी दिखे। स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाने वाली कंपनियों द्वारा मोडम की अग्रिम व्यवस्था रखी जाए। सर्वर को दुरुस्त करने के काम को प्राथमिकता दी जाए। बैठक में एनबीपीडीसीएल के एमडी प्रभाकर एवं एसबीपीडीसीएल के एमडी महेंद्र कुमार भी उपस्थित थे। Prepaid Smart Meter


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page