Follow Us On Goggle News

Bihar News : लोगों ने नेताजी को बनाया बंधक, घरों में नाले का गंदा पानी घुसने पर वार्ड पार्षद को बिजली के खंभे से बाँधा.

इस पोस्ट को शेयर करें :

वार्ड पार्षद इम्तियाज अंसारी ने कहा कि उन्हें लोगों ने सुबह फोन कर बुलाया. आने पर औरतों और बच्चों ने मिलकर बिजली के खंभे से बांध दिया. घंटों समझाने के बाद छोड़ा गया.

 

बिहार के कैमूर जिले के मोहनिया नगर पंचायत के वार्ड-15 के वार्ड पार्षद इम्तियाज अंसारी को वार्ड वासियों द्वारा बंधक बनाए जाने का एक वीडियो वायरल हुआ। जो इस समय चर्चा का विषय बना हुआ है। वायरल वीडियो में वार्ड पार्षद प्रतिनिधि इम्तियाज अंसारी को खंभे में रस्सी से बांधा गया है. लोगों का आरोप है कि कई सालों से वार्ड पार्षद ने इस वार्ड के लिए कुछ भी नहीं किया. जिससे नाराज लोंगो ने सोमवार की सुबह इसी वार्ड के लोगों ने बुलाकर बंधक बना लिया.

वीडियो में देखा जा सकता है कि लोगों ने वार्ड पार्षद को बिजली के खंभे में रस्सी से बांध रखा है। वहां मौजूद कुछ लोग मोबाइल फोन से बंधक बनाए गए शख्स की तस्वीरें उतार रहे थे. मामला क्या है, ये जानने के लिए जब भीड़ में मौजूद लोगों से पूछा गया तो एक शख्स नेबताया कि – “वार्ड-15 के कई घरों में नाले का पानी घुस चुका है. पांच फुट तक नाले का गंदा पानी बह रहा है. लोग उसी पानी में रहने को मजबूर हैं. लगातार दबाव और शिकायत के बाद भी जिला प्रशासन और नगर पंचायत में उनकी आवाज को सुनने वाला कोई नहीं है. इसी से नाराज होकर लोगों ने अपनी समस्या का समाधान करने के उद्देश्य से वार्ड पार्षद को बंधक बनाकर रखा था.”

यह भी पढ़ें :  Big Rail News : बिहार में बाढ़ से रेलवे सेवा ठप, यूपी - दिल्ली समेत इन रूटों की कई ट्रेनें हुई रद्द- कई के रुट बदले.

‘जिस घर में मरीज उन्हें दवा तक नसीब नहीं’ : नगर पंचायत वार्ड पार्षद इम्तियाज अंसारी ने कहा कि उन्हें लोगों ने सुबह फोन कर बुलाया. आने पर औरतों और बच्चों ने मिलकर बिजली के खंभे से बांध दिया. घंटों समझाने के बाद छोड़ा गया. पार्षद ने भी माना कि वार्ड-15 की 80 फीसद जनता पानी में डूबी है. ट्यूब के सहारे लोग अपने घर से इधर-उधर जा रहे हैं. जिस घर में मरीज है उनको दवा तक नसीब नहीं हो रही है.

काउंसलर ने कराई मसला हल करने का आश्वासन दिया : लोगों का कहना है कि अब उनके सब्र का बांध टूट चुका है, इसलिए वो सिर्फ आश्वासन से नहीं मानने वाले हैं. अब उन्हें जमीनी काम चाहिए, बदलाव चाहिए. हालांकि इतना सब करने के बावजूद उनके हाथ आश्वासन ही आई. काउंसलर को बंदी बनाए जाने की बात सुन कर जब मीडिया के लोग वहां पहुंचे.

मीडिया से बात करते वार्ड पार्षद ने कहा कि उन्होंने लगातार जिला प्रशासन से लेकर नगर पंचायत तक यह बात पहुंचाई है, लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है. हालांकि वार्ड पार्षद ने स्थानीय लोगों को नगर पंचायत की मदद से इसका मसला हल कराने का एक बार फिर भरोसा दिया है, लेकिन ये आश्वासन कब हकीकत में बदलेगी इसकी कोई तय तारीख नहीं बताई गयी है.

यह भी पढ़ें :  Bihar Crime : बिहार में बेखौफ बदमाशों का तांडव, दुकान से घर लौट रहे सीमेंट व्यवसायी को गोलियों से भूना.

वहीं नगर पंचायत मोहनिया के प्रभारी कार्यपालक पदाधिकारी सह बीडीओ मनोज कुमार ने बताया कि वार्ड पार्षद प्रतिनिधि के बंधक बनाए जाने की उन्हें कोई जानकारी नहीं है। लोगों ने वायरल वीडियो के बारे में उन्हें बताया है। अगर वार्ड संख्या -15 में कोई समस्या है, तो पार्षद या उनके प्रतिनिधि को बताना चाहिए, समस्या का निदान निकाला जाएगा। इधर मोहनिया थाने के इंस्पेक्टर लल्लन यादव ने घटनास्थल पर पहुंचकर इस मामले की जांच की. नगर पार्षद के आवेदन पर अज्ञात लोगों पर प्राथमिकी दर्ज करने की बात कही है.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page