Follow Us On Goggle News

Old Pension Scheme: बिहार में लागू होगी पुरानी पेंशन योजना! सरकारी कर्मियों के लिए खुशखबरी.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Old Pension Scheme: बिहार में सत्ता परिवर्तन के बाद न केवल युवाओं के लिए खुशखबरी आ रही है वरन सरकार के वर्तमान कर्मियों के लिए भी अच्छी खबर है। राज्य सरकार इनके लिए पुरानी पेंशन योजना लागू करने को लेकर गंभीर है। ये बातें सूबे के शिक्षामंत्री प्रो. चंद्रशेखर ने झंझारपुर में प्रेस वार्ता के दौरान कहीं। उन्होंने विस्तार से अपनी सरकार की लोककल्याण कारी योजनाओं की जानकारी दी। नियोजित शिक्षकों के समान काम-समान वेतन वाली मांग का भी उन्होंने समर्थन किया। Old Pension Scheme

युवाओं के लिए रोजगार की व्यवस्था : Old Pension Scheme

शिक्षा मंत्री ने कहा कि मात्र शिक्षा ही लोगों के सर्वांगीण विकास का एक मात्र माध्यम है। बिहार में शिक्षा संस्कार में सुधार हेतु विभाग के तंत्र को सक्रिय किया जा रहा है। उन्होंने शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारियों, कुलपतियों, व्याख्याता, शिक्षकों और अभिभावकों से अपील की कि वे शिक्षा में रुचि दिखाएं। अभिभावकों अपने बच्चों को विद्यालय जरूर भेजें। उन्होंने कहा कि सरकार 10 लाख युवाओं को नौकरी देने की अपनी बात पर प्रतिबद्ध है। इस दिशा में रोडमैप तैयार किए जा रहे हैं। Old Pension Scheme

यह भी पढ़ें :  Bihar Job Announcement: बिहार में ग्रामीण कार्य विभाग में 10 हजार पदों पर बहाली.

समान काम के बदले समान वेतन : Old Pension Scheme

युवाओं के साथ ही साथ वर्तमान कर्मचारियों के हित की बात भी उन्होंने कही। बाेले, समान काम के बदले समान वेतनमान की भी चिंता सरकार कर रही है। इसी तरह से उन्होंने पुरानी पेंशन योजना की भी वकालत की। इससे जुड़े विभिन्न पहलुओं पर विचार किए जाने की बात दोहराई। मंत्री ने कहा कि वित्त रहित शिक्षा नीति ठीक नहीं है। सरकार सात वर्षों से नहीं मिलने वाली अनुदान की समीक्षा कर रही है। Old Pension Scheme

शिक्षा में और सुधार की जरूरत : Old Pension Scheme

झंझारपुर के आइबी में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने भाजपा और केंद्र सरकार की आलोचना की और जातिगत व्यवस्था पर कटाक्ष किया। उन्होंने माना कि सूबे में प्राथमिक से लेकर उच्च शिक्षा में सुधार की जरूरत है। इस दौरान राजद प्रखंड अध्यक्ष ललन यादव, अनिल मंडल, गुलाब कांत यादव, अंजार अहमद, अरुण कुमार भी मौजूद थे। शिक्षा मंत्री शुक्रवार की देर रात झंझारपुर पहुंचे थे। जहां शिक्षक अरुण कुमार के घर भोजन करने के बाद आइबी में ठहरे थे। शनिवार को प्रेसवार्ता के बाद वे मधेपुरा के लिए रवाना हो गए। Old Pension Scheme


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page