Follow Us On Goggle News

Old Mobile ReSale: कीपैड वाला पुराना मोबाइल 10 हजार रुपए में बिकता है पटना में, स्‍मार्टफोन की कीमत छुड़ा देगी पसीना.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Old Mobile ReSale: पुराने जमाने का कीपैड वाला मामूली सेकेंड हैंड मोबाइल भी पटना की इस बदनाम मंडी में 10 हजार रुपए का बिक जाता है। स्‍मार्टफोन के लिए लेने वाले 50 हजार रुपए भी देने में नहीं हिचकते हैं। यह सब कुछ कोई और नहीं, बल्‍क‍ि खुद बेचने वाला ही बता रहा है।

बता यह भी रहा है कि वह जहां ये मोबाइल बेेेेचता है, वहां मोबाइल इस्‍तेमाल करने की इजाजत ही नहीं। बावजूद धड़ल्‍ले से वहां मोबाइल बिकता है, इस्‍तेमाल होता है। इसका इस्‍तेमाल अपराध में होता है। रंगदारी मांगने और हत्‍या की सुपारी देने में। मामला बिहार की सबसे वीआइपी और सुरक्ष‍ित मानी जाने वाली बेउर जेल का है।

पेशी के बाद लौट रहे कैदी के पास मिले छह मोबाइल: Old Mobile ReSale

पटना सिविल कोर्ट में शुक्रवार को पेशी के बाद बेउर जेल लौट रहे कैदी के पास से छह नए मोबाइल बरामद होने के बाद सुरक्षाकर्मियों में हड़कंप मच गया। कैदी अनिल सिंह को जब्त मोबाइल के साथ पीरबहोर थाने लेकर जाया गया। कोर्ट हाजत प्रभारी राजेंद्र सिंह की लिखित शिकायत पर उसके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई है।

यह भी पढ़ें :  Government Scrap Center: सरकारी स्क्रैप सेंटर खोलकर करें लाखों की कमाई, यहाँ करना होगा आवेदन.

उसे वापस बेउर जेल भेज दिया गया है। बड़ी बात है कि अनिल ये मोबाइल सेट बेउर जेल में कैदियों को बेचने वाला था। सभी की-पैड वाले पुराने माडल के मोबाइल हैं। उसने कबूल किया कि बेउर जेल में सैकड़ों कैदी इसका इस्तेमाल करते हैं। एक मोबाइल सिम के साथ 10 हजार रुपये में बिकता है।

 

बुनिया में छिपाया था मोबाइल: Old Mobile ReSale

अनिल को इसी साल फरवरी में फर्जी कोरोना रिपोर्ट मुहैया कराने के मामले में गिरफ्तार किया गया था। वह शुक्रवार को पेशी के लिए कोर्ट आया था, जहां उससे कई लोगों ने मुलाकात की। इस दौरान उसे दो किलोग्राम बुनिया पैकेट में डालकर दिया गया। बुनिया की पैकेट लेकर उसे सुरक्षाकर्मी कोर्ट हाजत में लेकर गए और वहां तलाशी ली तो उसके अंदर छह मोबाइल सेट मिले। इसके बाद सुरक्षाकर्मियों ने उससे मिलने आए लोगों की खोज की, मगर कोई नहीं मिला।

 

50 हजार रुपये तक में एंड्रायड सेट: Old Mobile ReSale

अनिल ने पुलिस को बताया कि की-पैड मोबाइल बेउर जेल के अंदर पांच-छह हजार रुपये में बिकता है। वहीं, एंड्रायड सेट की 25 से 50 हजार रुपये तक बिक्री होती है। हालांकि, इस तरह के सेलफोन रखने वाले कैदियों की संख्या कम है। इसके साथ वो कैदी की-पैड मोबाइल भी रखते हैं, क्योंकि छिपाना आसान होता है। सिम कार्ड की व्यवस्था करने वाले कुछ कैदियों के बारे में उसने जानकारी भी दी है।

यह भी पढ़ें :  Amazing : जब जान पर बन आई तो 4 साल के प्रिंस ने 4 फीट के कोबरा को पीट-पीटकर मार डाला.

 

हाल में जेल से मांगी गई थी रंगदारी: Old Mobile ReSale

अभी कई वारदातों में बेउर जेल में बंद कैदियों की संलिप्तता सामने आई है। देवघर कोर्ट में कुख्यात अमित ङ्क्षसह की हत्या में भी माणिक सिंह की भूमिका उजागर हुई। वह गुर्गों से लगातार संपर्क में रहता था।


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page