Follow Us On Goggle News

75th Independence Day : पटना में सीएम नीतीश कुमार ने फहराया तिरंगा, कहा- आज का दिन हमारे लिए गर्व की बात.

इस पोस्ट को शेयर करें :

नीतीश कुमार ने कहा कि अब बिहार में एक्टिव मामले 250 हैं. 3 करोड़ के करीब टीकाकरण हो चुका है. अगले 6 महीने में 6 करोड़ लोगों का टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है.

बिहार की राजधानी पटना के गांधी मैदान में 75वें स्वतंत्रता दिवस के मुख्‍य समारोह का आयोजन किया गया. स्वतंत्रता दिवस को लेकर हर बार की तरह इस बार भी गांधी मैदान को सजाकर तैयार कर दिया गया था. यहां पहुंचने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तय कार्यक्रम के अनुसार रविवार को 9 बजे तिरंगा फहराया. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस मौके पर सबसे पहले लोगों को बधाई दी और कहा कि यह हमारे लिए गर्व की बात है. आज के दिन हम स्वतंत्रता सेनानियों को नमन करते हैं.

नीतीश कुमार ने कहा कि ध्वजारोहण के बाद कुछ बातों की चर्चा करनी होती है. पिछले साल से हम कोरोना से प्रभावित हैं. दूसरी लहर में काफी कुछ सुविधा हुई है. शनिवार की शाम जो रिपोर्ट आई उसके अनुसार तीन करोड़ 94 लाख से अधिक जांच की जा चुकी है. अब बिहार में एक्टिव मामले 250 हैं. टीकाकरण का काम 3 करोड़ के करीब तक हो चुका है. अगले 6 महीने में 6 करोड़ लोगों का टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है. कहा कि कोरोना से जिनकी मृत्यु होती है उनके परिवार को आपदा प्रबंधन विभाग की तरफ से चार लाख रुपये दिए जाते हैं. अब तीसरी लहर का खतरा है, उसके लिए हर तरह से इंतजाम किए जा रहे हैं.

यह भी पढ़ें :  Bihar Crime : बिहर में बेकाबू अपराध ! 'जंगलराज' को छोड़िए सीएम साहेब, इन आंकड़ों को देख लीजिए.

75th Independence Day-2

 

‘राज्य के खजाने पर आपदा पीड़ितों का पहला अधिकार’ : सीएम नीतीश ने कहा कि इस बार वर्षा भी काफी अधिक हुई है. पहले उत्तर बिहार और अब दक्षिण बिहार. आज गंगा में बाढ़ की स्थिति है जिसको देखते हुए हमने तैयारी की है. पशुओं के लिए भी चारा की व्यवस्था की गई है. बाढ़ से फसल को क्षति होती है. बिहार में 34 लाख आबादी अबतक प्रभावित है. राज्य के खजाने पर आपदा पीड़ितों का पहला अधिकार है.

‘पहले राजधानी पटना को भी नहीं मिलती थी बिजली’ : नीतीश ने कहा, “क्राइम, कम्यूनलिज्म और करप्शन के प्रति हमारी जीरो टॉलरेंस है. बिजली की जो स्थिति में बदलाव हुआ है. पहले की क्या स्थिति थी और अब क्या है, राजधानी में भी लोगों को बिजली नहीं मिलती थी. पहले 700 मेगावाट की व्यवस्था थी और अब 6,600 से ज्यादा हो गया है.” इस दौरान नीतीश कुमार ने शाही लीची और जरदालू आम की चर्चा करते हुए कहा कि आज हम इसे देश और विदेश तक भेज रहे हैं.

यह भी पढ़ें :  Bihar Crime : सीतामढ़ी में अधेड़ की पीट-पीटकर कर हत्या, आक्रोशित ग्रामीणों ने किया सड़क जाम और नारेबाजी.

‘बाकी लोग प्रचार करते हैं, हम काम में लगे करते हैं’ : मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि बिहार में एथेनॉल के लिए 30 हजार करोड़ के निवेश का प्रस्ताव आया है. अनुसूचित जाति, जनजाति, अति पिछड़े, अल्पसंख्यक समुदाय के लिए हम काम करते रहे हैं. मदरसा के शिक्षकों को क्या मिलता था और अब वही पैसे दे रहे हैं जो अन्य शिक्षकों को मिल रहा है. कहा कि बाकी लोग प्रचार करते हैं और हम काम में लगे करते हैं.

 

स्वतंत्रता दिवस को लेकर सड़कों पर सुरक्षा के इंतजाम : बता दें कि स्वतंत्रता दिवस को लेकर सुरक्षा के मद्देनजर राजधानी पटना में कई दिनों से वाहन चेकिंग अभियान भी चलाया जा रहा था. गांधी मैदान में आज ध्वजारोहण को लेकर राजभवन, हाईकोर्ट, सचिवालय, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट सहित सरकारी भवनों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. वहीं मुख्यमंत्री के आने वाले रास्ते में भी सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. कई सड़क मार्ग को बांस-बल्ले से बंद किया गया है. शनिवार की शाम ही कारगिल शहीद स्मारक सहित अन्य जगहों पर महापुरुषों की प्रतिमा स्थल को लाइट आदि से सजा दिया गया था.

यह भी पढ़ें :  Bihar News : बिहार के स्कूलों में प्रिंसिपल की नियुक्ति को लेकर सीएम नीतीश का बड़ा ऐलान, शिक्षकों को करना हो ये काम.

हर साल की तरह इस साल भी निकाली गई झांकी : गांधी मैदान में राजकीय समारोह के मौके पर प्रदेश की प्रगति की झांकी निकाली गई. हर साल कई विभागों की ओर से झांकी निकालकर संदेश दिया जाता है. वहीं, क्विक रिस्पांस टीम और बम निरोधक दस्ते ने राजकीय समारोह से पहले शनिवार को पूरे समारोह स्थल की जांच की है. गांधी मैदान के बाहर और अंदर भारी संख्या में पुलिस बल को भी तैनात किया गया है.


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page