Follow Us On Goggle News

Blood Deal : सदर अस्पताल में खून का सौदा ! 10, 400 रुपए में 2 यूनिट ब्लड, खून के सौदागरों से बातचीत का ऑडियो हुआ वायरल.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Blood Deal in Samastipur  : समस्तीपुर सदर अस्पताल में जरूरतमंदों को खून उपलब्ध कराने के लिए ब्लड बैक बनाया गया है. लेकिन ब्लड बैक में दलालों की सक्रियता के चलते जंहा जरूरतमंद दलालो का शिकार हो रहे है, वही इस कुव्यवस्था के चलते खून का सौदा भी धड़ल्ले से हो रहा है. सदर अस्पताल के ब्लड बैंक में दलालों की सक्रियता आये दिन सामने आती रही है और वे अस्पताल पहुचने वाले मरीज तथा उनके परिजनों को अपने झांसे मे लेकर खून का कारोबार कर रहें है.

 

Blood Deal in Samastipur : रक्तदान महादान है और इस दान से किसी की जिंदगी को बचाया जा सकता है। लेकिन यही दान अब व्यापार बनता जा रहा है। खबर है कि समस्तीपुर सदर अस्पताल में खून के सौदागरों का एक रैकेट सक्रिय है, जो मरीजों से खून उपलब्ध कराने का सौदा करते हैं।

बता दें कि सदर अस्पताल में खून बिक्री का खेल लंबे अर्से से चला आ रहा है। इस खेल में अस्पताल के ही कर्मचारी शामिल हैं। जरूरतमंद को खून कराने के एवज में उनसे रुपयों की मांग की जाती है। इसमें पहले तो बिना डोनर के ही ब्लड यूनिट उपलब्ध कराने की कोशिश की जाती है, इसके बाद अगर ऐसा नहीं हो पाता है तब पेड डोनर की मदद से एक यूनिट ब्लड उपलब्ध करा दिया जाता है। इन सबके बीच अस्पताल में सक्रिय दलाल जरूरतमंद से पांच से सात हजार रुपए तक वसूल लेते हैं। शुक्रवार को खून के सौदागरों के इस खेल का खुलासा होने और सदर अस्पताल में ही तैनात एक महिला कर्मी सहित रेडक्रॉस के कर्मी और एक नर्सिंग होम संचालक से सौदेबाजी की बातचीत का ऑडियो वायरल होने के बाद अस्पताल प्रशासन में हड़कंप मचा है। हालांकि इस संबंध में अभी तक किसी भी तरह की जांच और कार्रवाई अस्पताल प्रशासन के द्वारा नहीं हुई है। 

यह भी पढ़ें :  Bihar MLC Election 2022 : राजद ने जारी की एमएलसी उम्मीदवारों की लिस्ट, देखें किस सीट पर कौन कैंडिडेट.

 

खून के सौदागरों से बातचीत का ऑडियो हुआ वायरल :

उल्लेखनीय है कि समस्तीपुर सदर अस्पताल में जरूरतमंदों को खून उपलब्ध कराने के लिए ब्लड बैक बनाया गया है। लेकिन ब्लड बैक में दलालों की सक्रियता के चलते जंहा जरूरतमंद दलालो का शिकार हो रहे है, वही इस कुव्यवस्था के चलते खून का सौदा भी धड़ल्ले से हो रहा है। सदर अस्पताल के ब्लड बैंक में दलालों की सक्रियता आये दिन सामने आती रही है और वे अस्पताल पहुचने वाले मरीज तथा उनके परिजनों को अपने झांसे मे लेकर खून का कारोबार कर रहें है। वहीं आज इस गोरखधंधे में लगे सदर अस्पताल और रेडक्रॉस के कर्मी और नर्सिंग होम के संचालक का खून के लिए सौदेबाजी की बातचीत का एक ऑडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है, जिससे खून के सौदागरों में हड़कंप मच गया है।

वायरल ऑडियो में एक दैनिक समाचार पत्र के रिपोर्टर ने मरीज का परिजन बनकर समस्तीपुर रेडक्रॉस के कर्मी से बातचीत की। बातचीत में कर्मी ने मरीज समझकर खून उपलब्ध कराने की बात कही। इसके बाद रिपोर्टर ने खून के सौदागर से बातचीत में पैसों का लेनदेन की बात की। आरोपी व्यक्ति ने पहले दो यूनिट ब्लड के 5 हजार मांगे। उसके बाद 4400 रुपए में दो यूनिट उपलब्ध कराने की बात कही। वहीं सदर अस्पताल में एक यूनिट ब्लड के लिए 5200 तो दो यूनिट ब्लड के लिए 10400 रुपए मांगे गए। वायरल ऑडियो में सदर अस्पताल की महिला कर्मी अपने फोन पे पर रुपए भेजने व 24 घंटे सेवा देने की बात करती है। खून के बदले खून देने की बात करने पर हर यूनिट ब्लड पर 1000 रुपए मांगा गया। इस पुरे प्रकरण में यह खुलासा हुआ कि शिविर लगाकर जिस ब्लड काे कलेक्ट कर सदर अस्पताल स्थित ब्लड बैंक या रेडक्राॅस साेसायटी में रखा जाता है, उस ब्लड काे वहीं के कर्मी मनमाने दाम पर चाेरी-छुपे बेचते हैं।

यह भी पढ़ें :  Raids in Jail : बिहार के राजधानी पटना के बेऊर सहित कई जेलों में एक साथ छापेमारी, कैदियों में मचा हड़कंप.

वहीं जब इस पुरे मामले पर सदर अस्पताल के सीएस संजय कुमार चौधरी से बात की गयी और ऑडियो सुनाया गया तो उन्होंने कहा – रक्त के सौदेबाजी का ऑडियो सुन कर अचंभित हूं, पूरे मामले की जांच कराई जाएगी। जांच के उपरांत दोषी पर कार्रवाई होगी।

 

जानिए ब्लड बैंकों से ब्लड देने का क्या है नियम :

अगर मरीज सदर अस्पताल में भर्ती है, तो उसे ब्लड की जरूरत पर ब्लड डोनेट नहीं करना होगा। उन्हें बिना डोनेट किए ही ब्लड मिलेगा। अगर मरीज निजी अस्पताल में है तो ब्लड के बदले उसे ब्लड डोनेट करना होगा। इसके साथ ही उन्हें ब्लड जांच आदि के लिए 500 रुपए जमा करना होगा, जिसकी रसीद दी जाती है।

 

वायरल ऑडियो में बातचीत के अंश : 

1. सदर अस्पताल की कर्मी से बातचीत :

रिपोर्टर: हैलो मेरा भाई डीएमसीएच में भर्ती है दो यूनिट ब्लड की जरूरत है.
महिला कर्मी : हो जाएगा दो यूनिट का ब्लड का 10,400 रुपए लगेगा, अभी पैसा जमा कर दीजिएगा तो ब्लड शाम छह बजे मिल जाएगा। मेरे पे फोन पर भेज दीजिए.
रिपोर्टर… ठीक है अपना नंबर दीजिए.
महिला कर्मी : ठीक है नंबर लिखिए.
रिपोर्टर : मुझे नंबर व्हाट्सएप किए ठीक है.
महिला कर्मी : हैलो मैसेज मिला.
रिपोर्टर : हां मिल गया। मैडम आपका क्या नाम है.
महिला कर्मी : पे फोन पर नाम की क्या जरूरत, वैसे रंजू सिन्हा नाम है.
रिपोर्टर : ठीक है पैसा भेजते हैं.
कुछ देर बाद रिपोर्टर : मैडम एक यूनिट ब्लड की व्यवस्था हो गई। बस आप एक यूनिट दिला दीजिए महिला कर्मी : ठीक है 5200 रुपए जमा कीजिए.
रिपोर्टर : एक डोनर लाते हैं। एक यूनिट दिला दीजिए महिला कर्मी :ठीक है एक हजार रुपए लगेगा.

यह भी पढ़ें :  Bihar News : SSP मानवजीत सिंह ढिल्लो ने पटना के 173 दारोगा और इंस्पेक्टरों का किया तबादला.

 

पूरी ऑडियो की जांच कराई जाएगी। अगर इस मामले में अस्पताल व ब्लड बैंक के कर्मी की आवाज मैच हुई तो उस पर कार्रवाई होगी। किसी को छोड़ा नहीं जाएगा -डॉ गिरीश कुमार, ब्लड बैंक प्रभारी सह सदर अस्पताल उपाधीक्षक.

2.रेडक्राॅस के कर्मी से बातचीत :

रिपोर्टर : मेरा भाई दो यूनिट ब्लड के लिए आपके पास गया है.
कर्मी : ठीक है दिलवा देंगे, एक यूनिट के लिए बिना डोनेट किए 7000 लगेगा.
रिपोर्टर : अगर डोनेट करा देते हैं तो.
कर्मी : अभी डोनेट कराएंगे तो कल सुबह में अथवा रात के 12 बजे के बाद अगले दिन ब्लड दे पाएंगे.

 

मीडिया से ही जानकारी मिल रही है। ऑडियो सुनने के बाद ही कुछ कह सकता हूं। वैसे अगर गड़बड़ी हुई है तो जांच होगी -केशव प्रसाद, सचिव, रेडक्राॅस सोसाइटी.

3. नर्सिंग होम संचालक से बातचीत :

रिपोर्टर : मेरा भाई डीएमसीएच में भर्ती है दो यूनिट ब्लड चाहिए।
संचालक : ठीक है हो जाएगा। एक यूनिट का 10 हजार रुपए लगेगा।
रिपोर्टर: इसके लिए कहां आना होगा
संचालक: रोसड़ा आना होगा, वैसे समस्तीपुर में ही उपलब्ध करा देंगे।
रिपोर्टर : ठीक है, अपने आदमी को रुपए के साथ भेजते हैं।

 


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page