Follow Us On Goggle News

Bihar Weather Update: बिहार मौसम विभाग ने इन 9 जिलों के लिए जारी किया येलो अलर्ट, वज्रपात के साथ भारी बारिश की संभावना.

इस पोस्ट को शेयर करें :

मौसम विभाग ने बिहार के कई जिलो में तेज बारिश होने की संभावना जताई है. ऐसे में मौसम विज्ञान केन्द्र पटना ने पूर्वी चंपारण, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, वैशाली, गया, शेखपुरा, नालंदा, नवादा और पटना में बारिश के साथ वज्रपात का अलर्ट जारी किया है.

बिहार में मौसम (Bihar Weather) की गतिविधियों में बदलाव देखने को मिल रहा है. इसके प्रभाव से अगले 3 दिनों के भीतर बिहार के सभी जिलों में तेज बारिश (Heavy Rain) होने के आसार हैं. मौसम विभाग के मुताबिक, मौसम में बदलते प्रभाव के कारण अगले कुछ घंटों में प्रदेश भर में बारिश और वज्रपात के संभावना है. मौसम विभाग केंद्र पटना (Meteorological Department) ने आज बिहार के कई जिलों के लिए येलो अलर्ट (Yellow Alert) जारी किया है.

मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, राज्यभर में अगले 3 दिनों तक बारिश होती रहेगी. मॉनसून की ट्रफ रेखा समुद्र तल पर अब फिरोजपुर, संगरूर, दिल्ली, गया, मालदा और वहां से उत्तरी बांग्लादेश होते हुए त्रिपुरा से गुजरती है. 4 अगस्त को आंशिक रूप से बादल छाए रहने की संभावना है. एक या दो बार बारिश या गरज के साथ छींटे पड़ेंगे. 5 अगस्त को हल्की बारिश या बूंदाबांदी के साथ बादल छाए रहने की संभावना है. 6 अगस्त को बारिश के साथ मेध गर्जन की संभावना है.

यह भी पढ़ें :  Bihar Politics : बिहार BJP के नेताओं ने पेगासस मामले पर साधी चुप्पी, कहा- केंद्र के मसलों पर टिप्पणी करना सही नहीं.

 

मौसम विभाग ने बिहार के राजधानी पटना समेत पूर्वी चंपारण, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, वैशाली, गया, शेखपुरा, नालंदा और नवादा जिले के लिए येलो अलर्ट (Yellow Alert) जारी किया है. मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार, बिहार के सभी जिलों में आने वाले अगले 2 से 3 घंटों के दौरान हल्की से मध्यम मेघ गर्जन, वज्रपात के साथ बारिश होने की संभावना है. इन जिलों के कुछ भागों में करीब 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा चलने की संभावना व्यक्त की है.

बिगड़ते मौसम के खतरे को देखते हुए मौसम विभाग ने लोगों से सतर्क और सावधान रहने को कहा है. लोगों से अपील करते हुए कहा है कि अगर आप खुले में हैं तो जल्द पक्के मकान में शरण लें, साथ ही बारिश के दौरान पेड़ और बिजली के खंभे से दूर रहने को कहा है.

 

मौसम विज्ञान विभाग ग्रीन, रेड, ऑरेंज और येलो अलर्ट जारी करता है. ग्रीन अलर्ट में संदेश होता है कि कोई खतरा नहीं है. येलो अलर्ट आने वाले खतरे के प्रति सचेत करता है. येलो अलर्ट को मौसम विज्ञान विभाग जैसे-जैसे मौसम खराब होता है, ऑरेंज अलर्ट में परिवर्तित कर देता है. ऑरेंज अलर्ट में बारिश व आंधी की पूरी संभावनाएं होती हैं.

यह भी पढ़ें :  Video Viral: बिहार में तमंचे पर डिस्को, ‘दबंगई’ दिखाते हुए नर्तकी को पहनाया चश्मा फिर हाथ में दिया पिस्टल.

इस अलर्ट के बाद लोगों को सावधान होना चाहिए और इधर-उधर जाने पर सावधानी बरतनी चाहिए.रेड अलर्ट का मतलब है कि स्थिति अत्यंत खतरनाक है. मौसम विभाग के अनुसार ऐसे मौसम में इधर-उधर नहीं निकलना चाहिए. इस अलर्ट का अर्थ है, मौसम खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है. भारी बारिश होने की अधिक संभावना होती है.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page