Follow Us On Goggle News

Bihar Property Survey: बिहार के शहरों की होगी प्रोपर्टी सर्वे, बढ़ सकते हैं जमीन के दाम.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Bihar Property Survey: देश के कई राज्यों में नगर निकायों की जीआईएस मैपिंग है. लेकिन, अब बिहार में भी इसकी शुरुआत होने जा रही है. बिहार के शहरों समेत नगर निकायों की जीआईएस मैपिंग होगी. इससे वहां की सारी जमीनों की पूरी जानकारी आसानी से मिल पाएगी. नगर विकास और आवास विभाग की तरफ से बिहार के 99 नगर निकायों की मैपिंग की जाएगी, जिसकी तैयारी भी अब शुरू होने वाली है. 14 सितंबर को एजेंसी चुना जाएगा, जिसके बाद इस काम की ओर बढ़ा जाएगा. मैपिंग के लिए 6 महीने का वक्त निर्धारित किया गया है. Bihar Property Survey

इच्छुक एजेंसियों से 18 सितंबर तक मांगा गया प्रस्ताव : Bihar Property Survey

इसके लिए इच्छुक एजेंसियों से 18 सितंबर तक प्रस्ताव मांगा गया है. डोर-टू -डोर होने वाले सर्वे के आधार पर सभी जगहों की जीआइएस मैपिंग की जायेगी. इसके आधार पर तय होगा कि कौन सी प्रॉपर्टी असल में कितने साइज की है? काम पूरा होने पर हर निकाय का अपना अलग इ-रजिस्टर होगा, जिससे आसानी से टैक्स की स्थिति देखी जा सकेगी. Bihar Property Survey

यह भी पढ़ें :  छठ के बाद अब मिथिलांचल के प्रसिद्ध लोक पर्व सामा - चकेवा की तैयारी शुरू, जानिए क्यों खेलते हैं सामा-चकेवा और क्या है इसकी कथा | Sama Chakeva festival

तीन चरणों में पूरा होगा काम : Bihar Property Survey

जीआइएस मैपिंग और प्रापर्टी सर्वे का यह काम तीन चरणों में पूरा किया जायेगा. पहले चरण में शहरी निकाय का विस्तृत जीआइएस आधारित नक्शा तैयार होगा. फिर दूसरे चरण में प्रोपर्टी सर्वे का काम होगा. इसके बाद तीसरे चरण में जीआइएस एप्लीकेशन विकसित कर नक्शेसे प्रॉपर्टी डाटा को अटैच कर दिया जायेगा. Bihar Property Survey

यह होगा लाभ : Bihar Property Survey

जीआइएस मैपिंग से शहर के सभी प्लाट और मकानों की वास्तविक स्थिति और उस पर लगाने वाले कर की जानकारी हो सकेगी. कोई भी व्यक्ति अपनी संपत्ति को लेकर टैक्स देने में फर्जीवाड़ा नहीं कर सकेगा. इससे निकायों की आमदनी बढ़ेगी और लोग सही कर राजस्व का भुगतान कर सकेंगे. Bihar Property Survey

20 ग्रुप में बटेंगे शहर : Bihar Property Survey

मैपिंग के लिए पटना, समस्तीपुर, भागलपुर, बिहारशरीफ सहित 99 नगर निकायों को दो हिस्से और 20 ग्रुप में बांटे जाएंगे. एक हिस्से में 8 और दूसरे हिस्से में 12 ग्रुप रहेंगे. पटना को छोड़ कर सभी ग्रुप में क्षेत्रफल के अनुसार तीन से नौ निकायों को रखा गया है. बिहार की बात करें तो यहां 259 निकाय हैं. ऐसे में सभी निकायों में मैपिंग के लिए तीन चरणों में काम होना है. 108 वर्ग किमी पटना नगर निगम का क्षेत्रफल होने के कारण इसे पहले ग्रुप में रखा गया है. जबकि, सीवान नगर निगम का क्षेत्रफल लगभग 20 वर्ग किलोमीटर, हाजीपुर 17 वर्ग किलोमीटर है. ऐसे में इन निकायों के साथ ही तीन से चार टाउन एरिया को रखा गया है. Bihar Property Survey


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page