Follow Us On Goggle News

Bihar Property Registry: अब नये तरीके से होगी जमीन-फ्लैट की रजिस्ट्री, दलालों से मिलेगा छुटकारा.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Bihar Property Registry: बिहार में जमीन,फ्लैट खरीदने वालों के लिए अच्छी खबर है. अगर आप भी जमीन,फ्लैट आदि की खरीदारी करने जा रहें है तो यह खबर आपके लिए बेहद काम की है. बिहार सरकार ने डीड को मॉडल बना दिया है. अब रजिस्ट्री कार्यालय में सीधा जाए, दलालों के फेर में पड़ने की कोई जरुरत नहीं है. आपको यहां पर मॉडल डीड की जानकारी देने वाले मिल जायेंगे.

बिहार के निबंधन कार्यालयों में बिना कातिबों के सहयोग से दस्तावेजों के रजिस्ट्री की कल्पना नहीं की जाती है. उनके सहयोग से रजिस्ट्री कराने पर ग्राहकों को रजिस्ट्री व स्टांप शुल्क के अतिरिक्त राशि का भुगतान करना पड़ता है. लेकिन अब, निबंधन विभाग ने मॉडल डीड के माध्यम से रजिस्ट्री की सुविधा उपलब्ध कराने से दलालों से छुटकारा मिल जाएगा.

 

Bihar Property Registry: राजधानी समेत राज्य के चार बड़े शहरों में सितंबर महीने से जमीन-फ्लैट समेत सभी दस्तावेजों का निबंधन माडल डीड के माध्यम से ही होगा। पटना के साथ मुजफ्फरपुर, भागलपुर और गया में सितंबर से 100 प्रतिशत निबंधन माडल डीड से कराने का लक्ष्य रखकर तैयारी शुरू कर दी गई है। मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन विभाग के आयुक्त बी कार्तिकेय धनजी ने सोमवार को बताया कि इसके लिए चारों जिलों के अवर निबंधकों को आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें :  Bomb Blast : भागलपुर के बाद गोपालगंज में बड़ा धमाका, एक की मौत, कई घायल.

 

माडल डीड की व्यवस्था में आवेदकों को दस्तावेज तैयार करने से लेकर निबंधन कराने तक कातिबों की मदद लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आवेदक खुद आनलाइन माडल डीड के सहारे आवेदन कर सकेंगे। इसके अलावा कार्यालयों में बने मे आई हेल्प यू काउंटर पर बैठे कर्मियों की सहायता से दस्तावेज तैयार करा कर निबंधन कराया जा सकेगा। इससे पैसे और समय दोनों की बचत होगी। उत्पाद आयुक्त के अनुसार, आम लोगों की सुविधा के लिए निबंधन विभाग की वेबसाइट पर हिंदी व अंग्रेजी में 31-31 और उर्दू में 29 प्रकार के माडल डीड प्रदर्शित हैं। इनकी सहायता से लोग खुद दस्तावेज तैयार कर सकते हैं। आनलाइन भुगतान को प्रोत्साहित करने के लिए स्टाम्प ड्यूटी की राशि में एक प्रतिशत या अधिकतम दो हजार रुपये की छूट भी दी जा रही है।

 
तीन गुना तक बढ़ेगी काउंटरों की संख्या: Bihar Property Registry

माडल डीड से निबंधन की व्यवस्था शुरू करने से पहले संबंधित निबंधन कार्यालयों में काउंटरों की संख्या तीन गुना तक बढ़ाई जाएगी। मे आई हेल्प यू काउंटर और कंप्यूटर सिस्टम बढ़ाने के साथ आवश्यक कर्मियों की भी प्रतिनियुक्ति की जाएगी।

यह भी पढ़ें :  Five Dangerous NHs Of Bihar : बिहार के ये पांच NH हैं सबसे खतरनाक! जानिये किन-किन जिलों से गुजरती है ये सड़कें ?

20 प्रतिशत तक माडल डीड से निबंधन: Bihar Property Registry

निबंधन आयुक्त ने बताया कि पिछले दो माह से राज्य के सभी 125 निबंधन कार्यालयों को माडल डीड से निबंधन बढ़ाने का टास्क दिया गया था। वर्तमान में करीब 20 प्रतिशत निबंधन माडल डीड के सहारे हो रहे हैं। अन्य जिलों में इसे धीरे-धीरे और बढ़ाने का लक्ष्य भी रखा गया है।


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page