Follow Us On Goggle News

Bihar Land Sale Rule: मठ-मंदिर की भूमि की खरीद-बिक्री पर रोक के लिए सरकार बनाने जा रही नया कानून.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Bihar Land Sale Rule: सरकार मठ-मंदिर की भूमि की खरीद-बिक्री पर रोक के लिए कानून बनाएगी। यह प्रक्रिया कई चरणों में पूरी होगी। पहले चरण में इस भूमि को लोक सूची में दर्ज किया जाएगा, ताकि कोई महंत या पुजारी अगर भूमि को बेचना भी चाहे तो उसकी रजिस्ट्री नहीं हो पाएगी। दूसरे चरण में पूरी भूमि को लोक भूमि घोषित करने की प्रक्रिया शुरू होगी। ऐसा होने पर मठों-मंदिरों की भूमि पर सार्वजनिक लाभ के उद्देश्य से निर्माण हो सकेगा। मंगलवार को यहां हुई एक सरकारी बैठक में यह निर्णय हुआ। बैठक का आयोजन धार्मिक न्यास बोर्ड की गतिविधियों के लिए एक पोर्टल बनाने पर विचार करने के लिए किया गया था। इसमें राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रामसूरत राय और विधि मंत्री प्रमोद कुमार के अलावा दोनों विभाग के शीर्ष अधिकारी शामिल हुए।

Bihar Land Sale Rule: राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री ने कहा कि मठ-मंदिर की भूमि को लोक सूची में शामिल करने के लिए सीओ (अंचलाधिकारी) की रिपोर्ट का सहारा लिया जाएगा। इस श्रेणी की भूमि की सूची सीओ तैयार कर रहे हैं। फिलहाल 29 हजार एकड़ से अधिक भूमि का पता चला है। उन्होंने कहा, पहले यह तय हो जाए कि मठ-मंदिर की भूमि को लोक भूमि घोषित करने का प्रस्ताव कैबिनेट में कौन विभाग भेजेगा। दोनों विभागों के सचिव आपस में विमर्श कर प्रस्ताव तैयार करें। फिर कोई एक विभाग इसे कैबिनेट में भेजे।

यह भी पढ़ें :  KBC Winner Sushil : फिर से चर्चा में हैं KBC में 5 करोड़ रुपए जीतने वाले बिहार के सुशील कुमार, जानिए क्या है वजह

आम लोग भी विरोध करें: Bihar Land Sale Rule

रामसूरत राय ने कहा कि फिलहाल इस भूमि को लोक सूची में शामिल किया जाना आवश्यक है, ताकि इसकी रजिस्ट्री न हो। इसके लिए निबंधन विभाग से संपर्क करना होगा। जिलाधिकारियों की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। उन्होंने कहा कि आम लोग भी मठ-मंदिर की भूमि की बिक्री का विरोध करें। सीओ के पास लिखित शिकायत करें। महंत-पुजारी या बिचौलिये के विरुद्ध आवाज उठाएं। मंत्री ने कहा कि धर्म के नाम पर हमारे पूर्वजों ने मठ-मंदिर को भूमि दान में दी थी। समाज का काम इसकी सुरक्षा करना भी है।

सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद पहल: Bihar Land Sale Rule

मालूम हो कि सर्वोच्च न्यायालय के एक आदेश में साफ कहा गया है कि मठ-मंदिर की भूमि का स्वामित्व इष्टदेव के नाम से होगा। उसी आदेश के संदर्भ में राज्य सरकार मठ-मंदिर की भूमि का पता लगा रही है। पोर्टल पर उसका ब्योरा दर्ज करने जा रही है।

यह भी पढ़ें :  Bihar STET Exam Update: बिहार में रद्द नहीं होगी एसटीईटी परीक्षा, शिक्षा मंत्री कका बड़ा ऐलान.

 

समय-सीमा एक माह बढ़ी: Bihar Land Sale Rule

विधि मंत्री प्रमोद कुमार ने कहा कि पोर्टल पर मठ-मंदिर की भूमि का ब्योरा अपलोड करने का समय एक माह बढ़ा दिया गया है। सीओ को कहा गया है कि सप्ताह में दो दिन क्षेत्र का भ्रमण कर मठ-मंदिर की जांच करें। कोई समस्या हो तो उसका निबटारा करें। उन्होंने बताया कि सरकार मठ-मंदिर की भूमि का आडिट भी कराएगी।


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page