Follow Us On Goggle News

Bihar Excise Police Exposed : उत्पाद विभाग के ऑफिस में ही चल रही शराब पार्टी का वीडियो हुआ वायरल.

इस पोस्ट को शेयर करें :

जहानाबाद (Jehanabad) में उत्पाद विभाग के ऑफिस में ही शराब पार्टी हो रही थी. घटना का वीडियो वायरल होने के बाद हड़कंप मच गया है. आरोपी विभाग में ड्राइवर के पद पर कार्यरत है.

बिहार में अप्रैल 2016 से पूर्ण शराबबंदी (Liquor Ban) है. शराबबंदी कानून का सख्ती से पालन हो और बिहार में शराब के अवैध धंधे पर रोक लगे इसकी जिम्मेदारी उत्पाद विभाग पर है. उत्पाद विभाग के कुछ लोग अपनी जिम्मेदारी किस तरह निभा रहे हैं यह जहानाबाद (Jehanabad) में वायरल हुए एक वीडियो में देखा जा सकता है.

तस्करों और धंधेबाजों के पास से जब्त किए गए शराब का इस्तेमाल यहां के कर्मचारी शराब पार्टी करने में कर रहे थे. वे लोग खुद तो शराब पी ही रहे थे साथ ही अपने परिचितों को बांट भी रहे थे. वीडियो में देखा जा सकता है कि किस तरह लोग बीयर के केन लेकर खुलेआम निकल रहे हैं. ऑफिस के गार्ड रूम में शराब पार्टी की गई थी. यहां ग्लास और अन्य बर्तन में शराब भरा हुआ था.

यह भी पढ़ें :  Bihar News : भोजपुर में मिट्टी की दीवार गिरने से चार बच्चे दबे, एक की मौत, तीन घायल.

शराब पार्टी का वीडियो सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है. आरोपी फरार हो गए हैं. वीडियो में दिख रहा एक शख्स ड्राइवर है. वह वीडियो वायरल होने के बाद फरार हो गया है. इस संबंध में जानकारी मिली कि उत्पाद विभाग के गार्ड रूम में ड्राइवर अपने कुछ साथियों के साथ बैठकर शराब पी रहा था. इतना ही नहीं इलाके के कुछ लोगों को भी शराब बांट रहा था. पूरी घटना को एक शख्स ने अपने मोबाइल में कैद कर लिया और विभाग के अधिकारियों को इसकी सूचना दे दी.

 

( वीडियो साभार : etvbharat.com )

“ऑफिस में शराब पार्टी की सूचना मिली है. मामले की जांच की जा रही है. दोषी पर कार्रवाई की जाएगी. वह फरार हो गया है. छापेमारी के दौरान जब्त शराब को ऑफिस में रखा गया था. उसी में से शराब लेकर ड्राइवर पी रहा था.” – कृष्णमुरारी, उत्पाद अधीक्षक, जहानाबाद.

 

बता दें कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी कानून लागू किया जा सके इसके लिए राज्य सरकार ने कई कड़े कानून बनाए हैं. पिछले 5 साल में ढाई से तीन लाख लोग शराबबंदी कानून के तहत जेल जा चुके हैं. शराबबंदी लागू हो सके इसको लेकर पुलिस शराब पीने वाले लोगों की गिरफ्तारियां भी कर रही है. इसके साथ-साथ राज्य के अंदर और अन्य राज्यों के बड़े शराब माफियाओं की भी गिरफ्तारियां की गई है. इसके बाद भी बिहार में शराब के अवैध कारोबार पर लगाम नहीं लग पा रहा है.


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page