Follow Us On Goggle News

शर्मनाक : 5 साल के मासूम की निर्मम हत्या, लड्डू खिलाकर किया अगवा, पेट में सुई घोंपी, गला दबाकर मुंह में डाल दी मिट्टी.

इस पोस्ट को शेयर करें :

 

हत्यारों ने पहले तो आशुतोष के पेट में कई जगहों पर सुई घोंपी और फिर उसके बाद मासूम बच्चे का गला दबा दिया तथा मुंह में मिट्टी डालकर मार डाला। मासूम की निर्मम हत्या की खबर से पूरे गांव में गम और गुस्से का माहौल है.

 

बिहार के जमुई में चंद्रदीप थाना क्षेत्र के मानपुर गांव में प्रियांशू शर्मा के पांच साल के बेटे आशुतोष कुमार उर्फ लख्खा सिंह की बेरहमी से हत्या कर दी। हत्यारों ने पहले तो आशुतोष के पेट में कई जगहों पर सुई घोंपी और फिर उसके बाद मासूम बच्चे का गला दबा दिया तथा मुंह में मिट्टी डालकर मार डाला। मासूम की निर्मम हत्या की खबर से पूरे गांव में गम और गुस्से का माहौल है। आक्रोशित लोगों ने इस वारदात में शामिल सभी आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग की है।

यह भी पढ़ें :  Bihar News : 'CM या PM के पास जाओ काम नहीं करूंगा', RJD ने पूछा- सीएम नीतीश बताएं उस अफसर पर क्या कार्रवाई हुई?

घटना के संबंध में मृतक के चाचा दिनेश कुमार ने बताया कि सोमवार दोपहर लगभग 12 बजे आशुतोष को सत्यनारायण शर्मा के बेटे सुमन्त कुमार ने नन्दू साव के दुकान से लड्डू खरीद कर दिया और अपने साथ घुमाने ले गया।

5-year-old-innocent-child-murdered-in-jamui

जब बच्चा दो बजे तक वापस नहीं आया तो परिजनों द्वारा खोजबीन की जाने लगी। अगल-बगल के गांव में बच्चे को ढूंढा गया लेकिन आशुतोष का कहीं पता नहीं चला। परिजनों ने जब छोटू से पूछा तो उसने बच्चे को घर पहुंचा देने की बात कही। शक होने पर लोगों ने उसके घर की तलाशी ली तो छोटू के दूसरे घर में बने मिट्टी के छत पर आशुतोष की लाश मिली।

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। मृत बच्चे के पिता ने थाने में लिखित आवेदन दिया है, जिसमें लिखा गया है कि बच्चे को मिठाई देकर घुमाने के बहाने बुलाकर सत्यनारायण ठाकुर के पुत्र सुमन्त कुमार उर्फ छोटू, नन्द लाल साव और उसके पुत्र संदीप कुमार ने अगवा कर लिया और फिर बच्चे की हत्या कर दी।

यह भी पढ़ें :  Bihar Crime : घर से 10 कदम दूरी पर ही बदमाशों ने चाकू मारकर लूटा, मौत के बाद शव रखकर सड़क पर प्रदर्शन.

परिजनों का आरोप है कि पूछताछ के दौरान सुमन्त ने बताया कि दो लाख रुपये की सुपारी देकर आशुतोष की हत्या करवाई गई है। बच्चे की हत्या के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। आशुतोष इकलौता बेटा था। उसकी हत्या हो जाने से घर का चिराग ही बुझ गया। मृतक की मां आरती देवी अभी तक अस्पताल में बेहोश पड़ी है। इस घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने दोनों के घर पर पथराव भी किया।


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page