Follow Us On Goggle News

Bihar News : नवादा में जानलेवा साबित हो रहा बुखार, एक ही परिवार के 5 लोगों की मौत से हड़कंप.

इस पोस्ट को शेयर करें :

नवादा में 15 दिनों के अंदर बुखार (Fever) और टाइफाइड (Typhoid) से एक ही परिवार के 5 सदस्यों की मौत हो गई. जिससे लोगों में दहशत का माहौल है. वहीं, जिले के बदलपुर गांव में 22 लोग डायरिया से पीड़ित हैं. गांव में डायरिया (Diarrhea) के प्रकोप से भी लोग डरे हुए हैं.

बिहार के नवादा (Nawada) में बुखार से एक ही परिवार के 5 सदस्यों की मौत हो गई. एक साथ इतनी मौत से लोग दहशत में हैं. इस बार बुखार (Fever) और टाइफाइड (Typhoid) से लोग मौत के मुंह में समा रहे हैं. बुधवार को 8 साल की बच्ची की इलाज के दौरान मौत हो गई. अब तक इस परिवार के कुल 5 लोगों की इसी रोग से अलग अलग दिन मौत हुई है. जिसमें 3 बच्चियां और 2 महिला शामिल है.

रामविलास मांझी की 3 बेटियां, पत्नी और भाभी की इस बुखार से मौत हो चुकी है. वहीं, बीमार होने के बाद इसी परिवार के कुछ सदस्य इलाज के बाद ठीक भी हुए हैं. जिसमें एक बच्ची निभा कुमारी को काफी गंभीर अवस्था में सदर अस्पताल लाया गया था, जहां डॉक्टरों के अथक प्रयास के बाद उसे बचा लिया गया था. जानलेवा बुखार और टाइफाइड से इस परिवार के अब तक कुल 5 सदस्य की मौत हो चुकी है.

यह भी पढ़ें :  LIVE VIDEO : राघोपुर अंचल कार्यालय में दो गुटों में जमकर चली कुर्सियां, ऑफिस छोड़कर भागे CO साहब.

एक के बाद एक हुई मौत के बाद जिला प्रशासन ने इस परिवार के सभी सदस्यों की कोरोना जांच भी कराई थी, जांच में सभी निगेटिव पाए गए थे. मेडिकल की एक टीम ने गांव में कैंप कर कुछ लोगों का इलाज भी किया था. मगर आज फिर 3 दिनों से भर्ती गुड़िया कुमारी की मौत हो गई. सदर अस्पताल के डॉक्टरों ने सभी प्रभावित का इलाज भी किया, लेकिन एक ही परिवार के 5 लोगों की मौत से सभी दहशत में हैं.

वहीं, जिले के नरहट थाना क्षेत्र के बदलपुर गांव में डायरिया (Diarrhea) के प्रकोप से लोग डरे हुए हैं. नरहट के बदलपुर गांव में महादलित टोले के 22 लोग डायरिया से पीड़ित हैं. जिसमें 20 बच्चे और दो पुरुष शामिल हैं. स्थिति बिगड़ने के बाद सभी को नवादा सदर अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है. वहीं, नरहट पीएचसी से एक मेडिकल टीम को प्रभावित गांव भेजा गया है, जहां मौके पर मेडिकल टीम पीड़ित लोगों का इलाज कर रही है.

यह भी पढ़ें :  Bihar Politics : पुराने रंग में लौट रहे हैं लालू, शरद यादव से मुलाकात, चिराग का किया समर्थन, नीतीश कुमार पर संभल कर बोले .

गांव में दो-तीन लोगों का इलाज जारी है. जबकि गंभीर रूप से पीड़ित लोगों को सदर अस्पताल भेज दिया गया है. दो दिन पहले ही गांव के एक बच्चे की डायरिया से मौत हुई थी. बच्चे के मौत के बाद से ही महादलित टोले में डायरिया का प्रकोप बढ़ा है. फिलहाल, सभी लोगों का नवादा सदर अस्पताल में इलाज जारी है और सभी खतरे से बाहर हैं.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page