Follow Us On Goggle News

Bihar Panchayat Election: नामांकन के वक्त इन कागजात को साथ रखें उम्मीदवार, नहीं तो रद्द हो जाएगा नॉमिनेशन.

इस पोस्ट को शेयर करें :

बिहार पंचायत चुनाव में नामांकन पत्र दाखिल करने के समय उम्मीदवार को कई आवश्यक कागजात भी प्रस्तुत करने होंगे। राज्य निर्वाचन आयोग ने नामांकन पत्र के साथ ही कई जरूरी कागजात जमा करने का निर्देश दिया है.

 

बिहार पंचायत चुनाव में नामांकन पत्र दाखिल करने के समय उम्मीदवार को कई आवश्यक कागजात भी प्रस्तुत करने होंगे। राज्य निर्वाचन आयोग ने नामांकन पत्र के साथ ही कई जरूरी कागजात जमा करने का निर्देश दिया है। जिसमें नाम निर्देशन पत्र प्रपत्र -6, शपथ पत्र, अनुसूची- 1 (बिहार पंचायत राज अधिनियम 2006 की धारा 136 के संबंध में), अनुसूची -2 (मतदाता सूची में अभ्यर्थी व प्रस्ताव के नाम दर्ज होने से संबंधित घोषणा ), अनुसूची -3 (शपथ पत्र व एनेक्सन में दी जानेवाली सूचनाओं का प्रपत्र), अनुसूची-3 क (अपराध, संपत्ति व शैक्षणिक योग्यता के संबंध में), अनुसूची-3 ख (अभ्यर्थी का बायोडाट ) देना है।

साथ ही नाम निर्देशन शुल्क चालान या नाजिर रसीद की मूल कॉपी व आरक्षित पद का दावा करने संबंधी जाति प्रमाणपत्र की मूल कॉपी भी नामांकन पत्र के साथ संलग्न करना है। यहां बता दें कि जिले के 14 प्रखंडों में कुल 7017 पदों पर ही पंचायत चुनाव होंगे। जिसमें मुखिया व सरपंच के 230-230, जिला परिषद सदस्य के 32, बीडीसी के 313 और वार्ड सदस्य व पंच के 3106-3106 पद शामिल हैं।

यह भी पढ़ें :  Raksha Bandhan 2021: बिहार में परिवहन विभाग ने दीदियों को दी 'राखी गिफ्ट, रक्षाबंधन पर सिटी सर्विस की बसों में मुफ्त यात्रा कर सकेंगी महिलाएं.

नामांकन पत्र की जांच करेंगे निर्वाची पदाधिकारी : आयोग ने निर्देश दिया है कि उम्मीदवारों द्वारा नामांकन पत्र दाखिल करने के समय संबंधित निर्वाची पदाधिकारी नामांकन पत्र की जांच भी करेंगे। जिसमें देखेंगे कि नाम निर्देशन पत्र निर्धारित प्रपत्र 6 में ही हो। सभी संलग्नक कागजात नामांकन पत्र के साथ संलग्न हों।

अभ्यर्थी व प्रस्तावक के मतदाता क्रमांक में विसंगति हो तो उसे ठीक करा लिया जाए। नाम निर्देश पत्र व संलग्नक के सभी कॉलम भरें हों। अभ्यर्थी व प्रस्तावक के नाम , क्रमांक संबंधित लिपिकीय या टंकण त्रुटि को नजरअंदाज किया जाए। इसके अलावा आयोग ने निर्देश दिया है कि निर्वाची पदाधिकारी पूर्णतया संतुष्ठ हो लेंगे कि उनके क्षेत्राधिकार के तहत कौन-कौन निर्वाचन क्षेत्र किसी श्रेणी के लिए आरक्षित हैं। अत: आरक्षण स्थिति के अनुरूप ही उस कोटि के अभ्यर्थी से नामांकन पत्र प्राप्त किए जाएंगे।

आरओ के लिए निर्देश :

● प्राप्त नाम निर्देशन पत्र पर आरओ या एआरओ क्रमांक, तिथि, समय अंकित करेंगे
● अभ्यर्थी को नाम निर्देशन पत्र की प्राप्ति रसीद व संवीक्षा की सूचना देंगे
● प्रत्येक दिन नाम निर्देशन दाखिल करने संबंधित सूचना को सूचनापट्ट पर प्रकाशित करेंगे
● नामांकन की अंतिम तिथि को पदवार अभ्यर्थियों की सूची जिला निर्वाचन पदाधिकारी(पंचायत) को भेजेंगे
● सूचनापट्ट पर प्रकाशित करते हुए आयोग को भेजेंगे
● नाम निर्देशन की चेकलिस्ट पर आरओ-एआरओ और अभ्यर्थी का हस्ताक्षर होगा
● चेकलिस्ट की मूल प्रति अभ्यर्थी को दी जाएगी व चेकलिस्ट दो प्रति में तैयार होगी

यह भी पढ़ें :  Bihar Panchayat Chunav 2021 : बिहार पंचायत चुनाव की अधिसूचना जारी, जानिए वोटिंग का पूरा डिटेल.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page