Follow Us On Goggle News

Motor Vehicle Act: अक्टूबर, 2022 से पहले खरीदे गए टायर के साथ नहीं चला पाएंगे गाड़ी, नियम में होने वाला है बदलाव.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Motor Vehicle Act: टायर की वजह से होने वाले सड़क हादसों को रोकने के लिए सरकार मोटर व्हीकल एक्स में कुछ जरूरी बदलाव करने जा रही है. नए नियमों के तहत आपकी गाड़ियों में इस्तेमाल होने वाले टायर भी बदल जाएंगे.

 

Motor Vehicle Act: शनिवार को गुजरात के डांग जिले (Dang District, Gujarat) में 50 लोगों को ले जा रही एक बस बेकाबू होकर खाई में गिर गई. हादसे के बाद आनन-फानन में घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया. इस दर्दनाक हादसे (Road Accident) में दो महिलाओं ने दम तोड़ दिया. बताया जा रहा है कि बस का टायर फटने की वजह से वह बेकाबू हो गई थी, जिसके बाद वह खाई में जाकर गिर गई. टायर की वजह से होने वाले सड़क हादसों को रोकने के लिए सरकार मोटर व्हीकल एक्स में कुछ जरूरी बदलाव करने जा रही है. नए नियमों के तहत आपकी गाड़ियों में इस्तेमाल होने वाले टायर भी बदल जाएंगे.

यह भी पढ़ें :  Traffic Alert : हेलमेट पहनने के बाद भी कट सकता है 2000 रुपये का चालान, आप न करें ये गलती.

 

टायरों में खराबी की वजह से होते हैं कई हादसे

दुनियाभर में होने वाले सड़क हादसों की कई वजहें होती हैं. इन्हीं वजहों में गाड़ी में इस्तेमाल होने वाले खराब टायर भी शामिल हैं. घटिया क्वालिटी के टायर, पुराने घिसे हुए टायर और डैमेज टायर के साथ चलने वाली गाड़ियां आए दिन हादसे का शिकार होती हैं. लेकिन सरकार अब ऐसे हादसों को रोकने के लिए कुछ जरूरी और बड़े कदम उठाने जा रही है. मोटर व्हीकल एक्ट में होने वाले संशोधन में टायरों को भी शामिल किया गया है. इसके तहत टायरों के डिजाइन को और ज्यादा प्रभावशाली बनाया जाएगा, ताकि सड़क हादसों पर काबू पाया जा सके.

1 अक्टूबर, 2022 से मिलने लगेंगे नए डिजाइन के टायर

नए नियम लागू होने के बाद आपको 1 अक्टूबर, 2022 से नए डिजाइन के टायर मिलने शुरू हो जाएंगे. इतना ही नहीं, 1 अप्रैल 2023 से आपको अपनी गाड़ियों में नए डिजाइन के टायर लगाना जरूरी हो जाएगा. हालांकि, इस बात को लेकर अभी तक कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिल पाई है कि पुराने टायर के साथ गाड़ी चलाने को लेकर क्या नियम होंगे. इसके साथ ही उन लोगों का क्या होगा, जिन लोगों ने अभी हाल-फिलहाल में ही अपनी गाड़ी के टायर बदलवाए हैं. ये कुछ ऐसे सवाल हैं, जिनके जवाब फिलहाल नहीं हैं लेकिन जल्द ही मिल जाएंगे.

यह भी पढ़ें :  Hero Electric Scooter: अगले महीने आयेगी Hero का पहला इलेक्ट्रिक स्कूटर, आ रही है कम दाम में धांसू रेंज.

नए टायरों को रेटिंग दी जाएगी, जिससे ग्राहकों को टायर खरीदते समय काफी मदद मिलेगी और वे बेहतर क्वालिटी के टायर खरीद पाएंगे. हालांकि, टायरों की रेटिंग कैसे तय की जाएगी, इसके बारे में भी अभी कोई जानकारी नहीं मिल पाई है.

AIS के 3 मानकों पर आधारित होगा टायर का डिजाइन

भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार टायरों को लेकर नए नियम लागू होने के बाद दूसरे देशों से घटिया क्वालिटी के टायर नहीं आ पाएंगे. नए टायर, पुराने टायर के मुकाबले मजबूत होंगे, जिनकी क्वालिटी शानदार होगी. इसके अलावा, ये पुराने टायरों के मुकाबले सड़क पर बेहतर पकड़ यानी ग्रिप बना सकेंगे. नए टायर, AIS यानी ऑटोमोटिव इंडियन स्टैंडर्ड के मानकों- रोलिंग रेजिस्टेंस, वेट ग्रिप और रोलिंग साउंड एमिशंस पर आधारित होंगे. यानी नए टायर वाली गाड़ियां सड़कों पर चलते समय ज्यादा शोर-शराबा भी नहीं मचाएंगी.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page