Follow Us On Goggle News

Char Dham Yatra: चारधाम यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं को मिलेगा 1 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा कवर, जानिए पूरी डिटेल

इस पोस्ट को शेयर करें :

Char Dham की यात्रा पर जाने वाले उन श्रद्धालुओं को एक लाख रुपये का बीमा कवर मिलेगा, जो केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री परिसर में किसी हादसे का शिकार होते हैं.

Char Dham Yatra: चार धाम (Char Dham) की यात्रा पर जाने वाले उन श्रद्धालुओं को एक लाख रुपये का बीमा कवर मिलेगा, जो केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री परिसर में किसी हादसे का शिकार होते हैं. केदारनाथ-बद्रीनाथ मंदिर समिति के मीडिया प्रभारी हरीश गौड़ ने बताया कि श्रद्धालुओं को बीमा कवर (Accident Insurance Cover) मानव उत्थान सेवा समिति की ओर से यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (United India Insurance Company Limited) मुहैया कराएगी. उन्होंने बताया कि मानव उत्थान सेवा समिति के संस्थापक उत्तराखंड के पयर्टन एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज हैं.

 

हंसजी महाराज और राजराजेश्वरी देवी की पुण्य स्मृति में दिया जाएगा दुर्घटना बीमा

चारधाम की यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं के लिए 1 लाख रुपये के दुर्घटना बीमा की पुष्टि करते हुए सतपाल महाराज ने कहा कि चारधाम यात्रा के दौरान दुर्घटना का शिकार होने वाले लोगों को बीमा कवर उनके पिता हंसजी महाराज और मां राजराजेश्वरी देवी की पुण्य स्मृति में प्रदान किया जाएगा. केदारनाथ-बद्रीनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने इस पहल के लिए सतपाल महाराज और मानव उत्थान सेवा समिति के प्रति आभार व्यक्त किया.

यह भी पढ़ें :  Bihar Ration Card Online Apply: नये राशन कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन शुरू.

3 मई से लेकर अब तक 110 से ज्यादा श्रद्धालुओं की हो चुकी है मृत्यु

गौरतलब है कि तीन मई से शुरू हुई चारधाम यात्रा के दौरान अलग-अलग वजहों से अब तक 110 से ज्यादा श्रद्धालुओं की मौत हो चुकी है. उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग के डायरेक्टर जनरल शैलजा भट्ट के मुताबिक चार धाम यात्रा के दौरान जिन वजहों से श्रद्धालुओं की मौत हुई है, उनमें ‘हार्ट अटैक’ प्रमुख वजह है. चारधाम यात्रा से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने के लिए 169 और डॉक्टरों की तैनाती की गई है.

3 मई को खुले थे गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट

गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट 3 मई को खोले गए थे, जबकि केदारनाथ धाम को 6 मई से आम श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए खोला गया था. इसके अलावा बद्रीनाथ धाम के कपाट 8 मई को खोल दिए गए थे. आपको जानकर हैरानी होगी कि इस साल 10 लाख से भी ज्यादा श्रद्धालुओं ने चार धाम की यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है, जो एक नया रिकॉर्ड है. बद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक रविवार, 12 जून को 19 लाख से भी ज्यादा भक्तों ने चार धाम यात्रा की. जिसमें से कुल 19,04,253 तीर्थयात्री उत्तराखंड चारधाम पहुंचे थे.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page