NVS Admission 2023 : जवाहर नवोदय विद्यालय में अपने बच्चे का कराएं एडमिशन, ऐसे करें आवेदन.

NVS Admission 2023 : नवोदय विद्यालय समिति (NVS) ने एनवीएस कक्षा 6 एडमिशन के लिए रजिस्‍ट्रेशन का प्रोसेस शुरू कर दिया है. जो छात्र जवाहर नवोदय विद्यालय में कक्षा 6 में प्रवेश लेना चाहते हैं, वे आधिकारिक वेबसाइट navodaya.gov.in पर विजिट कर आवेदन पत्र भर सकते हैं. एडमिशन के लिए आवेदन करने की लास्‍ट डेट 31 जनवरी, 2023 है. आवेदन 31 जनवरी 2023 तक निः शुल्क ऑनलाइन नवोदय विद्यालय समिति प्रवेश परीक्षा पोर्टल लिंक और समिति की वेबसाइट पर जाकर कर सकते हैं.

अगर आप अपने बच्चे का एडमिशन नवोदय विद्यालय में करना चाहते हैं तो जल्दी कीजिए. कक्षा 6 में एडमिशन के लिए आवेदन करने की आखिरी तारीख 31 जनवरी है. दौसा जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय खेडली में सत्र 2023 के लिए कक्षा 6 में एडमिशन के लिए 29 अप्रैल 2023 को होने वाली प्रवेश परीक्षा हेतु ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये जा रहे हैं.

NVS में ही एडमिशन क्यों?

-क्योंकि यह एक ऐसा सरकारी स्कूल है जो पूरी तरह आवासीय है.

-इसका शैक्षिक और अन्य गतिविधियों का बहुत रिकॉर्ड अच्छा है.

-वर्ष 2022 में यहां से पढ़े 4296 स्टूडेंट्स JEE Mains में सेलेक्ट हुए.

 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए 

यहाँ क्लिक करें.

-वर्ष 2022 में यहां से पढ़े 1010 स्टूडेंट्स ने JEE Advanced क्वालीफाई किया.

-NEET में पिछले वर्ष 19352 स्टूडेंट्स का सेलेक्शन हुआ.

-10th का रिजल्ट 99.71 तथा 12th का रिजल्ट 98.93 फीसद रहा.

किसे मिलेगा एडमिशन?

स्टूडेंट्स जिस जवाहर नवोदय विद्यालय में एडमिशन चाहते हैं, वहां के निवासी हों और वहीँ के स्कूल में चालू सत्र में 5वीं में पढ़ाई कर रहे हों.
स्टूडेंट्स का जन्म एक मई 2011 से 30 अप्रैल 2013 के बीच होना चाहिए.
स्टूडेंट्स के लिए जरुरी है कि वे तीसरी एवं चौथी क्लास रेग्युलर किसी सरकारी या मान्यता प्राप्त स्कूल से पास हों.
75 % सीटें ग्रामीण इलाके के स्टूडेंट्स के लिए आरक्षित हैं.
एक तिहाई सीटें लड़कियों के लिए आरक्षित हैं.
सरकारी नियमों के मुताबिक जरुरतमंदों को आरक्षण दिया जाएगा.

यह भी पढ़े :  Hero Motocorp की 200cc की नई बाइक दमदार इंजन और शानदार परफॉर्मेंस के साथ हुई लॉन्च, जानिए क्या है कीमत.

NVS Exam Tips: कैसे करें और कराएं तैयारी?

मेन्टल एबिलिटी/ मैथ्स/ लैंग्वेज- इन्हीं तीनों पर केन्द्रित एग्जाम होगा. इस टेस्ट के लिए बाजार में अनेक बेहतरीन पुस्तकें उपलब्ध हैं, जिनमें रेखा चित्रों के माध्यम से चीजों को समझना आसान होता है.
इसी बुक से बच्चों को प्रैक्टिस कराना फायदे का सौदा होगा. वे आसानी से समझ भी सकेंगे.
खेल-खेल में गणित की प्रैक्टिस करवाने का सुझाव है.
पैरेंट्स आज से अगर एक घंटे का भी समय रोज तय कर दें तो आपके बच्चे का सेलेक्शन तय है. बस नियमित पढ़ाते रहें और प्रैक्टिस करवाते रहें.
रट्टा मारना उचित नहीं है. बच्चा जितना समझ लेगा, उतना लाभ होगा.

पैरेंट्स इन बातों का ध्यान रखें

आपको करना यह है कि बच्चे को प्यार से जैसे आप अब तक पढ़ाते आए हैं, वैसे ही घेर कर बैठाएं. ठंड ज्यादा है रजाई / कम्बल में बैठाकर उसे कोर्स के साथ ही Navodaya Vidyalaya Entrance Exam के बारे में भी बताएं और उसी हिसाब से तैयारी कराएं. यह एक ऐसा एग्जाम है जिसे बोझ नहीं मानना है. तनिक सूझ-बूझ से एग्जाम निकाला जा सकता है.

महत्वपूर्ण लिंक